जमशेदपुर : पंडित नोखे मिश्र स्मृति समारोह का हुआ आयोजन - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 27 जनवरी 2020

जमशेदपुर : पंडित नोखे मिश्र स्मृति समारोह का हुआ आयोजन

pandit-nokhe-mishra-seminar-jamshedpur
जमशेदपुर (प्रमोद कुमार झा) पंडित नोखे मिश्र मेमोरियल ट्रस्ट के द्वारा  अमल संघ सिदगोड़ा मे  109 वाँ जन्म दिन पर 23 फरवरी को पंडित नोखे मिश्र स्मृति समारोह मनाया गया । इस समारोह के मुख्य अतिथि जमशेदपुर पूर्वी विधायक सरयू राय ने अपने संबोधन में कहा कि बिहार और समाज के निर्माण में पंडित नोखे मिश्र के योगदान को कभी भी नहीं भुलाया जा सकता है। उनके कामों को हम जैसे लोगों को सीखने की आवश्यकता है । जमशेदपुर में क ई शैक्षणिक संस्थान और गैरसरकारी संस्थाओं की स्थापना मे उनका काफी सराहनीय योगदान रहा है । समारोह के विशिष्ट अतिथि कोल्हान विशवविद्यालय के कुलानुशासक डाक्टर अशोक कुमार झा ने कहा कि पंडित नोखे मिश्र का बिहार के निर्माण में अद्भुत योगदान है  । उन्होंने कहा कि बिहार से अलग हो रहे सरायकेला ,खरसँवा ,जमशेदपुर , दलमा ,पटमदा आदि क्षेत्र कुछ भाग उडीसा और कुछ भाग बंगाल मे जा रहा था । उस विषम परिस्थिति निपटने के लिए बिहार क्रांति मोर्चा का गठन कर आंदोलन की शुरुआत की और बिहार से बंगाल और उडीसा प्रदेश मे जाने से रोकने में सफलता पायी । वैसे पुरोधा को बिहार की सरकार न झारखण्ड की सरकार ने सम्मानित करने का काम नहीं किया । जबकि झारखंड सरकार को झारखण्ड रत्न से और बिहार सरकार को बिहार रत्न से सम्मानित किया जाना चाहिए । झारखंड के भौगोलिक निर्माण में जो योगदान रहा है वैसे लौहपुरुष को सरकार ने याद न कर भुलाने का काम किया है ।वैसे व्यक्ति और कृत्व पर समाज को काम करना चाहिए जिससे उनकी यादें बनी रहे ।उनके कार्यों को समाज के स्तर पर करते रहना चाहिए । पं नोखे मिश्र  समाज और बिहारियों के अगुआई थे । बिहारियों के आत्म सम्मान के लिए कुछ भी करने पर उतारू हो जाते थे । इस समारोह में चन्द्र नारायण मिश्र ,एम सी मधुकर ,मनीष कुमार मिश्र आदि वक्तताओं ने भी अपने विचार रखे । इस समारोह में मंच संचालन विवेकानंद झा स्वागतभाषण रवीन्द्र मिश्र और धन्यवाद ज्ञापन गंगेश झा ने किया । संस्था के अध्यक्ष संजय मिश्र और महासचिव रवीन्द्र मिश्र ने संयुक्त रूप से मुख्य अतिथि के समक्ष मांग स्वरूप संस्था को भुमि उपलब्ध कराने की मांग रखी । इस समारोह में मैथिली समाज के साथ साथ दुसरे बिहारी समाज के लोग भी शामिल हुए ।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...