पोपुलर मिशन साधना रिट्रीट का संचालन विन्सेंटियन पुरोहितों के द्वारा किया गया - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 25 जनवरी 2020

पोपुलर मिशन साधना रिट्रीट का संचालन विन्सेंटियन पुरोहितों के द्वारा किया गया

popular-mission-sadhna-retreat
चेलीडंगाल, 25 जनवरी. आसनसोल धर्मप्रांत में है संत जोन्स चर्च,चेलीडंगाल.आसनसोल धर्मप्रांत के बिशप सिप्रीयन मोनिस हैं संरक्षक.बिशप सिप्रीयन मोनिस ने संत जोन्स चर्च,चेलीडंगाल के भक्तों को शानदार अवसर दिया है.उन्होंने विन्सेंटियन पुरोहितों के द्वारा संचालित पोपुलर मिशन साधना रिट्रीट के संचालनों को कॉल किया.विन्सेंटियन पुरोहितों ने भक्तों का नवीनीकरण करके नयी जिंदगी जीने का मौका दिया.

19 जनवरी को शुरू हुआ
संत जोन चर्च ,चेलीडंगाल,आसनसोल में पांच दिवसीय पोपुलर मिशन साधना रिट्रीट 19 जनवरी को शुरू हुआ.इसका संचालन विन्सेंटियन पुरोहितों के द्वारा किया गया.प्रथम दिन रविवार 19 जनवरी को सुबह 8:00 बजे से पवित्र मिस्सा बलिदान किया गया.पोपुलर मिशन साधना रिट्रीट का उद्धाटन दीप जलाकर किया गया. इसके बाद विन्सेंटियन पुरोहितों ने परिवारों में जाकर भ्रमण किया. सोमवार 20 जनवरी को सुबह 6:30 से 7:30 बजे तक पवित्र यूख्रिस्तीय आराधना एवं माला विनती की गयी.सुबह 9:00 बजे तक परिवारों का भ्रमण,शाम 5:00 बजे से 9:00 तक साधना,पवित्र मिस्सा बलिदान,पवित्र क्रूस के आर्शीवाद और परिवार के लिए संपूर्ण छुटकारा एवं संरक्षण की प्रार्थना की गयी.मंगलवार 21 जनवरी को सुबह 6:30 से 7:30 बजे तक पवित्र यूख्रिस्तीय आराधना एवं माला विनती, शाम 5:00 बजे से 9:00 बजे तक साधना, पवित्र मिस्सा बलिदान,मृत्यु की अनुभूति दिलाने वाली प्रार्थना की गयी.बुधवार 22 जनवरी को सुबह 6:00 से 11:00 बजे तक पवित्र यूख्रिस्तीय आराधना एवं पाप स्वीकार,शाम 5:00 बजे से 9:00 बजे तक साधना, पवित्र मिस्सा बलिदान, उपवास का दिन,आंतरिक चंगाई प्रार्थना,बप्तिस्मा,व्रत नवीनीकरण एवं मेल --मिलाप की प्रार्थना की गयी. गुरूवार 23 जनवरी को  सुबह 6:30 से 7:30 बजे तक पवित्र यूख्रिस्तीय आराधना एवं माला विनती, बाइबिल का प्रतिष्ठान,(पढ़ने के लिए स्त्रोत ग्रंथ अध्याय 127),शाम 5:00 बजे से 9:00 बजे तक साधना,पवित्र मिस्सा बलिदान,आध्यात्मिक सलाह, शादी की प्रतिष्ठानओं का नवीनीकरण किया गया.

24 जनवरी को हुआ समापन
शुक्रवार 24 जनवरी को सुबह 6:30 से 7:30 बजे तक पवित्र यूख्रिस्तीय आराधना एवं माला विनती की गयी.शाम 5:00 बजे से 9:00 बजे तक साधना,पवित्र मिस्सा बलिदान और पवित्र क्रूस का जुलूस निकाला गया. पवित्र क्रूस का जुलूस संतोष मैदान से शुरू होकर संत जोन्स चर्च के परिसर में अंत हुआ. पल्ली पुरोहित  फादर डोल्फी के नेतृत्व में जुलूस निकला.इस जुलूस की खाशियत रही कि संत जोन्स  पैरिश के भक्तों ने हाथों में पवित्र क्रूस और झंडा थाम रखे थे. भक्तगण सलीब को घरों से लाए थे.इसके बाद चर्च में पवित्र प्रसाद की आराधना  की गयी. चंगाई प्रार्थना की गयी.प्रभु येसु की आराधना के बाद पवित्र मिस्सा हुआ.आसनसोल धर्मप्रांत के विकर जेनरल फादर सार्थो के नेतृव में पवित्र किया गया.इनके साथ पोपुलर मिशन साधना रिट्रीट का संचालक विन्सेंटियन पुरोहित फादर पौलुस,फादर ऋजु थोमस,फादर जोबी,फादर डोल्फी और फादर माइकल थे.पोपुलर मिशन साधना रिट्रीट के निदेशक फादर जोबी ने तहे दिल से धार्मिक साधना में भाग लेने के लिए धन्यवाद दिए.पैरिश कोर्डिनेशन टीम के प्रमुख फादर डोल्फी ने सभी प्रिस्ट को प्यार से भरपूर फूल को देकर सम्मानित किया.इस आयोजन में पल्लीवासियों को भाग लेने के लिए धन्यवाद दिए.अंत में पुरोहितों ने समापन आर्शीवाद दिए.

सह्दय से सभी का स्वागत साधना में  व सभी को धन्यवाद साधना में आने के लिए:टीम
पैरिश कोर्डिनेशन टीम मेम्बर एडवर्ड एक्का,रेजीना सोलोमन,थोमस पीटर और दौरोथी शेख ने कहा है कि छलकपट,झूठ निंदा और शत्रुता को करते हुए खुले ह्दय से नैतिक बोध के साथ ख्रीस्तीय प्रेम की एकता में बंध जाए.एक-दूसरे को क्षमा करें,एक-दूसरे को सहन करें,मदद करें. ईश्वर ,मनुष्य और अपने आप से मेल मिलाप करें.उसकी स्तुति के पोपुलर मिशन साधना रिट्रीट में सह्दय से स्वागत किया और धन्यवाद दिया.

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...