शिवराज ने शराब के मामले में फिर घेरा कमलनाथ सरकार को - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 11 जनवरी 2020

शिवराज ने शराब के मामले में फिर घेरा कमलनाथ सरकार को

shivraj-attack-kamalnath
भोपाल, 11 जनवरी, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) उपाध्यक्ष एवं मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आज लगातार दूसरे दिन शराब के मामले में राज्य की कांग्रेस सरकार पर हमलावर नजर आए। श्री चौहान ने ट्वीट के माध्यम से कहा 'वो गांव गांव अब जाएंगे, शराब उपदुकान खुलवाएंगे। वो हर शहर के गली मोहल्ले जाएंगे, शराब उपदुकान बनवाएंगे। पीने का पानी पहुंचे न पहुंचे घरों में, वो हर घर बोतल जरुर पहुंचाएंगे। मध्यप्रदेश हमारा स्वर्णिम बने न बने, वो उसे मदिराप्रदेश बनाएंगे। इसके पहले राज्य सरकार की ओर से शराब उपदुकानें खोलने के निर्णय पर श्री चौहान ने कल मुख्यमंत्री कमलनाथ को पत्र लिखकर इस निर्णय को वापस लेने की मांग की थी। इसके बाद शाम को मुख्यमंत्री ने पूर्व मुख्यमंत्री को पत्र के जरिए ही जवाब दिया और कहा कि जब राज्य में पंद्रह वर्षों तक भाजपा की सरकार थी, उस समय शराब दुकानों की संख्या बढ़ने के बारे में आम लोगों को नहीं बताया गया। श्री कमलनाथ ने तथ्यों के जरिए बताया कि पंद्रह वर्षों के दौरान राज्य में शराब दुकानों की संख्या बढ़ी। जबकि मौजूदा सरकार शराब दुकानों की संख्या नहीं बढ़ा रही है। सरकार का दावा है कि नयी नीति से आबकारी संबंधी अपराधों पर नकेल भी लगेगी। श्री कमलनाथ ने उत्तरप्रदेश का हवाला देते हुए पत्र में कहा कि वहां भी शराब की दुकानों की संख्या बढ़ी है, तो क्या महिलाओं की सुरक्षा दाव पर लगी है। राज्य की शराब संबंधी नयी नीति को लेकर पक्ष और विपक्ष के नेताओं में आरोप प्रत्यारोपों का दौर जारी है।  

कोई टिप्पणी नहीं: