विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 16 जनवरी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 16 जनवरी 2020

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 16 जनवरी

ज्योतिरादित्य सिंधिया कल विदिशा दौरे पर

vidisha news
विदिशा:- पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं अ.भा.कांग्रेस कमेटी के महासचिव श्रीमंत महाराज ज्योतिरादित्य सिंधिया जी आज (17 जनवरी को) विदिशा दौरे पर रहेंगे। उनके कार्यालय से जारी कार्यक्रम के अनुसार सिंधिया जी दोपहर 1 बजे विदिशा पहुंचकर एस.ए.टी.आई. काॅलेज की बोर्ड बैठक में शामिल होंगे। दोपहर 2रू30 बजे स्व. माधवराव सिंधिया शासकीय जिला चिकित्सालय विदिशा का निरीक्षण कर दोपहर 3 बजे रविंद्र नाथ टैगोर भवन में जिला कांग्रेस कमेटी के कार्यकर्ता सम्मेलन में शामिल होंगे। शाम 4 बजे विधायक शशांक भार्गव के निवास पर कार्यकर्ताओं से सौजन्य भेंट करेंगे। इसके उपरांत कांग्रेस नेताओं के निवास पर भी ज्योतिरादित्य सिंधिया पहुंचेंगे। जिला कांग्रेस अध्यक्ष शैलेन्द्र रघुवंशी एवं ब्लाॅक कांग्रेस कमेटी विदिशा शहर के अध्यक्ष वीरेंद्र पीतलिया ने समस्त कांग्रेस पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं से कार्यक्रम में शामिल होने की अपील की है।

सुविधाओं की पूर्ति उपरांत ही अधिग्रहण की कार्यवाही करें-चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ साधौ 
चिकित्सा महाविद्यालय की सामान्य परिषद की बैठक सम्पन्न
vidisha news
चिकित्सा शिक्षा, आयुष एवं संस्कृति मंत्री डॉ विजय लक्ष्मी साधौ ने गुरूवार को विदिशा में अटल बिहारी वाजपेयी शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय की सामान्य परिषद की बैठक में महाविद्यालय के डीन को निर्देश दिए कि चिकित्सीय शत प्रतिशत सुविधाओं की पूर्ति उपरांत ही भवन अधिग्रहण करने की कार्यवाही की जाए। उन्होंने मेडीकल कॉलेज के भवन कार्यो के रिवाईज स्टीमेंट में लागत 90 करोड़ बढ़ाई गई है किन्तु डीपीआर में पूर्व में अंकित भवनों को विलोपित किया गया है जैसे आडिटोरियम हॉल इत्यादि। चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ साधौ ने मेडीकल कॉलेज में वाहन पार्किंग के प्रबंध सुनिश्चित नही किए जाने पर असंतोष जाहिर करते हुए पार्किंग की तमाम सुविधाएं आवश्यकता के अनुरूप क्रियान्वित करने के निर्देश दिए है।  मंत्री डॉ साधौ ने कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह को निर्देश दिए कि मेडीकल कॉलेज के लिए तैयार की गई सबसे पहली डीपीआर और उसके बाद रिवाईज हेतु तैयार की गई डीपीआरो का मिलान कर किन-किन भवनों के निर्माण कार्यो को शनैःशनैः पृथक किया गया है कि रिपोर्ट शीघ्र प्रस्तुत करें। उन्होंने निर्माण ऐजेन्सी मध्यप्रदेश रोड डव्लपमेंट कार्पोरेशन के मुख्य अभियंता को सख्त निर्देश दिए है कि डीपीआर की उपलब्धताएं दो दिवस के भीतर पूरी की जाए। इस कार्य में किसी के भी द्वारा लापरवाही बरती जाए तो संज्ञान में लाने के भी निर्देश उन्होंने दिए है। मेडीकल कॉलेज के सभाकक्ष में हुई उक्त बैठक में विधायक श्री शशांक भार्गव ने मेडीकल कॉलेज के पीछे की ओर से बनने वाली सड़क के निर्माण कार्य पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि सड़क निर्माण के लिए पूर्व में ही प्रबंध सुनिश्चित किए गए थे किन्तु अब तक कार्य की शुरूआत नही की गई है ततसंबंध में निर्माण कार्यो की तमाम अवरोधों को कलेक्टर के संज्ञान में लाते हुए निराकरण करने पर जोर दिया गया है। इस वर्ष की प्रथम सामान्य सभा की बैठक में मंत्री डॉ साधौ ने मेडीकल कॉलेज की रूपरेखा एवं निर्माण कार्यो के संबंध में विस्तारपूर्वक जानकारी प्राप्त की वही पूर्व की कार्यकारिणी समिति बैठक में लिए गए निर्णयों का अवलोकन उपरांत समिति के समक्ष अनुमोदनार्थ हेतु प्रस्तुत किया गया। ततसंबंध में मापदण्डो के अनुरूप कार्यवाही करने पर सहमति व्यक्त की गई। प्रतिनियुक्ति पर टेक्नीशियन का कार्यकाल बढ़ाए जाने पर आरक्षण रोस्टर का पालन कर प्रतिनियुक्ति संबंधी कार्य करने पर बल दिया गया है। इसी प्रकार मेडीकल कॉलेज में स्वीकृत पदों के विरूद्व अति आवश्यक स्टॉप की नियमानुसार आउटसोर्सेज ऐजेन्सी के माध्यम से सेवाएं लिए जाने पर सहमति व्यक्त की गई है। बैठक में चिकित्सा महाविद्यालय में निर्मित लेक्टर हाल के लिए स्मार्ट क्लास का निर्माण किए जाने पर सहमति व्यक्त की गई है इसी प्रकार माइक्रोबायोलॉजी एवं पैथालॉजी विभाग में संवेदनशील उपकरणों के परिचालन हेतु एसी की स्थापना करने पर भी सहमति व्यक्त की गई है। चिकित्सा महाविद्यालय की उक्त बैठक में महाविद्यालय परिषद में मल्टीलेवल पार्किंग, ऑडिटोरियम का निर्माण, संस्था में कार्यरत महिला चिकित्सकों को प्रदेश में प्रचलित नियमानुसार चाइल्ड केयर लीव प्रदान करने के अलावा अन्य ऐजेन्डा बिन्दुओें पर चर्चा की गई है।  भोपाल संभागायुक्त श्रीमती कल्पना श्रीवास्तव ने चिकित्सा शिक्षा मंत्री को आश्वस्त कराते हुए कहा कि बैठक में आपके द्वारा दिए गए निर्देशो का पालन निर्माण ऐजेन्सी के साथ-साथ मेडीकल कॉलेज की कमेटी सुनिश्चित करेंगी। मेडीकल कॉलेज में अध्ययनरत विद्यार्थियों को एम्स की तर्ज पर सुविधाएं मुहैया कराई जाएगी। उन्होंने आवश्यक उपकरणों को क्रियाशील करने पर बल दिया है। उक्त बैठक में कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह, पुलिस अधीक्षक श्री विनायक वर्मा भी मौजूद थे। बैठक की शुरूआत में मेडीकल कॉलेज के डीन श्री सुनील नंदेश्वर के द्वारा पूर्व बैठकों में लिए गए निर्णयों से अवगत कराया। वही मेडीकल कॉलेज के विभिन्न विभागों के एचओडी द्वारा विभागो की कार्यप्रणाली के अनुरूप व्यवस्थाएं सुनिश्चित कराए जाने का आग्रह किया। ततसंबंध में लिखित जानकारियों से पत्राचार कर कार्यो को पूर्ण कराने पर बल दिया गया है।

जायजा
चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ विजयलक्ष्मी साधौ ने मेडीकल कॉलेज में निर्माणाधीन चिकित्सा वार्डो का मौके पर भ्रमण कर जायजा लिया। इससे पहले मेडीकल कॉलेज में छात्रों के अध्ययन हेतु बनाए गए लेक्चर हॉल में पहुंचकर दूर से बोर्ड पर लिखे अक्षर विद्यार्थियों को दिखे के पुख्ता प्रबंध सुनिश्चित करने के निर्देश दिए है। उन्होंने कहा कि मेडीकल की पढ़ाई ड्राइंग पर आधारित है अतः दूरदराज बैठने वाले विद्यार्थियों के लिए सुगमता से दृष्टिगत हो ताकि आसानी से उन्हें समझ में आ सकें और प्रोफेसर की नजर सभी विद्यार्थियों पर रह सकें। मेडीकल कॉलेज की अस्पताल में ओपीडी तृतीय तल पर बनाए जाने पर आपत्ति दर्ज कराते हुए मंत्री डॉ साधौ ने कहा कि ओपीडी की सुविधाएं मरीजो को भूतल पर ही प्राप्त हो के पुख्ता प्रबंध सुनिश्चित किए जाएं।

गर्ल्स हॉस्टल में संवाद
चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ साधौ ने मेडीकल कॉलेज की गर्ल्स हॉस्टल में अचानक पहुंचकर छात्रावास में रह रही विद्यार्थियों से संवाद कर दी जा रही सुविधाओं का जायजा लिया। उन्होंने छात्राओं के लिए तैयार किए जा रहे भोजन का रसोई कक्ष में पहुंचकर अवलोकन किया और स्वच्छता पर विशेष ध्यान देने के निर्देश दिए है। उन्होंने छात्राओं से कहा कि वे खुलकर अपनी हर समस्याएं से अवगत कराएं चाहे वह मेडीकल कॉलेज से संबंधित हो अथवा व्यक्तिगत। मंत्री डॉ साधौ ने छात्राओं का हौंसला अफजाई करते हुए कहा कि डाक्टरों का मुख्य ध्येय दूसरों की सेवा करना है। यह मंत्र अपने जीवन में उतारें। मेडीकल कॉलेज में आवश्यकता के अनुरूप तमाम प्रबंध सुनिश्चित कराए जाने पर उन्होंने सहमति व्यक्त की।

छात्रावासों में एक भी सीट खाली ना रहें-संभागायुक्त श्रीमती श्रीवास्तव

vidisha news
भोपाल संभागायुक्त श्रीमती कल्पना श्रीवास्तव ने आज गुरूवार को विदिशा में अनुसूचित जाति सीनियर कन्या छात्रावास में संभाग स्तरीय समीक्षा बैठक में अनुसूचित जाति विकास विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि छात्रावासों में एक भी सीट खाली ना रहें। उन्होंने इस कार्य में लापरवाही बिल्कुल नही बरतने के सख्त निर्देश देते हुए छात्राओं के साथ काउंसलिंग कर उन्हें छात्रावासों में दी जा रही सुविधाओं से अवगत करायें।  संभागायुक्त श्रीमती कल्पना श्रीवास्तव ने अनुसूचित जाति एवं जनजाति वर्ग के उत्थान हेतु आदिम जाति कल्याण विभाग के माध्यम से क्रियान्वित योजनाओं की समीक्षा के दौरान विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए कि वन अधिकार अधिनियम के तहत पात्र एक भी हितग्राही अपात्र ना हो का पूरा ध्यान रखा जाए। उन्होंने एमपी वन मित्र पोर्टल में जिलों द्वारा पंचायत सचिव की अपडेट की जा रही प्रोफाईल के आधार पर दर्ज ग्राम वन अधिकार समिति की प्रगति के कार्यो का भी जायजा लिया। उक्त प्रकरणों में वन विभाग की पृथक से बैठक आहूत करने के निर्देश उन्होंने दिए है। कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने गूगल मेप पर 75 साल पहले की इमेज के आधार पर  वन अधिकार दावों के संबंध में की गई कार्यवाही से अवगत कराया। उन्होंने बताया कि जिले में निरस्त दावों की पुनः समीक्षा ग्राम पंचायत स्तर तक की गई है। 26 जनवरी को आयोजित विशेष ग्राम सभा में दावों के निराकरण से भी अवगत कराया जाएगा।  संभागायुक्त ने छात्रवृत्ति के वितरण कार्य को पूर्ण गंभीरता से लेने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए है। उन्होंने कहा कि समय पर छात्रवृत्ति का वितरण कराया जाना सुनिश्चित हो। छात्रों के बैंक एकाउंट में किसी भी प्रकार की त्रुटि है तो सम्पर्क कर सुधार कार्य किया जाए। उन्होंने कहा कि मासिक प्रतिवेदन मेंं यदि किसी जिले में छात्रवृत्ति वितरण कार्य लंबित पाया गया तो उस जिले के जिला संयोजक को निलंबित करने की कार्यवाही की जाएगी। इसी प्रकार उन्होंने अनुसूचित जाति एवं जनजाति वर्ग के छात्रों को मिलने वाली आवासीय सुविधा योजना का लाभ समय पर मिले, सभी छात्रावासों में रिक्त भूमि पर अधिक से अधिक पौधरोपण कार्य करने जिसमें किचिन गार्डन की तर्ज पर सब्जियों का उत्पादन लेने के निर्देश उन्होंने दिए है।  संभागायुक्त द्वारा अनुसूचित जाति, जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम के अंतर्गत राहत प्रकरणों के निराकरण की भी समीक्षा की गई। राजगढ़ जिले में प्रकरण लंबित होने पर असंतोष जाहिर करते हुए कार्यवाही करने के निर्देश दिए है। उन्होंने कहा कि ऐसा सिस्टम डेव्लप किया जाए कि जिससे जाति प्रमाण पत्र के कारण प्रकरण लंबित ना रहें। बैठक में सीएम हेल्पलाइन में लंबित प्रकरणों के निराकरण हेतु किए गए कार्यो की भी समीक्षा की गई वही बस्ती विकास योजना में विदिशा एवं रायसेन जिले में स्वीकृत कार्यो का प्रभारी मंत्री से शीघ्र अनुमोदन कराकर पूर्ण कराए जाने के निर्देश दिए गए है।  बैठक में पुलिस अधीक्षक श्री विनायक वर्मा, संयुक्त उपायुक्त श्री अनिल द्विवेदी, आदिम जाति कल्याण विभाग की संभागीय उपायुक्त श्रीमती सीमा सोनी के अलावा, संभाग के सभी जिला संयोजक, एसडीएम श्री प्रवीण प्रजापति एवं आदिम जाति कल्याण विभाग के अधिकारी, कर्मचारी तथा छात्राएं मौजूद थी।

संवाद सह भोज
संभाग आयुक्त श्रीमती कल्पना श्रीवास्तव ने अनुसूचित जाति सीनियर कन्या छात्रावास में रह रही छात्राओं से संवाद स्थापित कर उन्हें वस्त्र प्रदाय के उपरांत संभागायुक्त, कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक सहित अन्य अधिकारियों ने छात्रावासी विद्यार्थियें के साथ बैठकर भोजन किया।

बीएलओ से संवाद
संभागायुक्त श्रीमती कल्पना श्रीवास्तव, विदिशा जिला मुख्यालय पर संचालित अनुसूचित जाति सीनियर कन्या छात्रावास में ही बूथ लेबल आफीसरों (बीएलओ) से मतदाता सूची के कार्यो के संबंध में चर्चा की। ततसंबंध में कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने अवगत कराया कि शिक्षकों को बीएलओ के कार्यो से मुक्त किया गया है। इसके पश्चात् बीएलओ का दायित्व अन्य अधिकारियों कर्मचारियों को सौंपा गया है। 

श्रम मंत्री आज विदिशा आएंगे

श्रम मंत्री श्री महेन्द्र सिंह सिसौदिया शुक्रवार 17 जनवरी को विदिशा आएंगे। श्रम मंत्री का प्राप्त दौरा कार्यक्रम अनुसार शुक्रवार की दोपहर 12 बजे भोपाल से प्रस्थान कर दोपहर 1.30 बजे विदिशा आगमन इसके पश्चात् जिला अस्पताल वे एसएटीआई एवं अन्य कार्यक्रमों में सम्मिलित होंगे। श्रम मंत्री श्री सिसौदिया सायं 5.50 बजे विदिशा से बीलाढाना के लिए रवाना होंगे।

समग्र आईडी से अपनी पात्रता जान सकते है उपभोक्ता राशन की दुकान की ली जा सकती है जानकारी

शासन द्वारा एनएफएसए लाभार्थी सशक्तिकरण और सत्यापन अभियान चलाया जा रहा है, जिसके तहत सत्यापन दल घर घर जाकर एनआईसी द्वारा बनाए गए एम-राशन मित्र‘की मदद से सत्यापन का कार्य कर रहें है। इस दिशा में उपभोक्ता सम्रग आईडी से अपनी पात्रता एवं राशन की दुकान की समस्त जानकारी प्राप्त कर सकते है। डीआईओ ने बताया कि एम-राशन मित्र को प्लेस्टोर से इनस्टॉल किया जा सकता है। इनस्टॉल करने के पश्चात परिवार की समग्र आईडी से लॉगिन करके राशन की पात्रता, पात्रता पर्ची के अनुसार परिवार सदस्यों की जानकारी, समग्र परिवार प्रोफाइल बीपीएल कार्ड, नजदीकी राशन की दुकान और पीओएस मशीन की स्थिति, खाद्यान आवंटन पासबुक समेत अन्य जानकारी प्राप्त की जा सकती है। इसी प्रकार अपनी राशन की दुकान के सम्बन्ध में अगर किसी भी प्रकार की शिकायत भी यदि करना हो, तो उसके लिए भी एप्लीकेशन में विकल्प दिया गया है। जिसकी मॉनिटरिंग वरिष्ठ अधिकारी कर सकेंगे। शासन द्वारा खाद्यान सम्बंधित अन्य सूचना और सुविधाओं की जानकारी के लिए भी एम-राशन मित्र‘अत्यंत उपयोगी है।

पाचवीं व आठवीं की वार्षिक परीक्षा बोर्ड पैटर्न पर आयोजित होंगी

शिक्षा के प्रति गंभीरता बढ़ाए जाने के उद्देश्य से प्राथमिक (कक्षा 5वीं) व पूर्ण माध्यमिक (कक्षा 8वीं) की वार्षिक परीक्षा बोर्ड पैटर्न में आयोजित की जाएगी। परीक्षा के प्रश्नपत्र राज्य स्तर से निर्मित कर जिलों को प्रदाय किए जाएगें। परीक्षा हेतु परीक्षा केन्द्र निर्धारण व परीक्षा केन्द्राध्यक्ष (शाला प्रधानाध्यापक को छोड़कर) की नियुक्ति व्यवस्था लागू की जाएगी। परीक्षा की उत्तरपुस्तिकाओं के मूल्यांकन हेतु मूल्यांकन केन्द्र निर्धारण व मूल्यांकन केन्द्राध्यक्ष की नियुक्ति की व्यवस्था लागू की जाएगी।  जिला शिक्षा अधिकारी ने बताया कि प्राथमिक (कक्षा 5वीं) व पूर्ण माध्यमिक (कक्षा 8वीं) वार्षिक परीक्षा आयोजन संबंधी निर्देशिका वर्ष 2019-20 निःशुल्क और अनिवार्य बाल शिक्षा का अधिकार अधिनियम 2009 में भारत सरकार द्वारा किए गए संशोधन एवं मध्यप्रदेश शासन द्वारा जारी नोटिफिकेशन के अनुक्रम में जारी किए गए है।

अशासकीय व अनुदान प्राप्त विद्यालयों में परीक्षाओं का आयोजन
निर्धारित पाठयक्रम के अनुसार प्रश्नपत्र शाला स्तर पर निर्मित करवाकर अपने स्तर पर परीक्षाओं का आयोजन करेगी। शासकीय शालाओं की भांति निर्धारित मापदण्ड अनुसार वार्षिक परीक्षाफल पत्रक के निर्धारित प्रारूप में परीक्षा परिणाम तैयार     करवायेगी। परीक्षा परिणाम की घोषणा संकुल प्राचार्य के अनुमोदन उपरांत किया  जाएगा। कक्षा 5 व 8वीं में अनुत्तीर्ण (प्रत्येक विषय में 33 प्रतिशत से कम अंक) होने वाले छात्रों के लिए विशेष कक्षाओं का आयोजन कर दो माह बाद पुनः परीक्षा का आयोजन करना होगा और इस परीक्षा में भी अनुत्तीर्ण होने पर उस छात्र-छात्रा को उसी कक्षा में रोकना होगा।

प्रथम परीक्षा में अनुपस्थित बच्चों को पुनः परीक्षा का अवसर
मुख्य परीक्षा में अनुपस्थित बच्चों को पुनः परीक्षा के दौरान सभी विषयों की परीक्षा में शामिल होने का एक अवसर प्रदान किया जाएगा। इस पुनः परीक्षा में सम्मिलित हुए बच्चे को इस परीक्षा में प्रत्येक विषय में उत्तीर्ण होना आवश्यक होगा। पुनः परीक्षा में सम्मिलित बच्चें सभी निर्धारित विषयों में उत्तीर्ण न हो पाने पर अध्यनरत कक्षा में ही पुनः अध्ययन किया जाएगा, परन्तु शाला से निष्कासित नहीं किया जाएगा।

प्रथम परीक्षा में अनुत्तीर्ण छात्रों को पुनः परीक्षा का अवसर दिया जाएगा
मुख्य परीक्षा में सम्मिलित ऐसे बच्चें जो निर्धारित सभी विषयों अथवा किसी भी विषय में मुख्य परीक्षा में अनुत्तीर्ण होते है, तो उन्हें अनुत्तीर्ण विषयों में अतिरिक्त शिक्षण प्रदान किया जाएगा। ऐसे अनुत्तीर्ण बच्चों को प्रथम परीक्षा परिणाम घोषित की तारीख से दो माह की कालावधि के भीतर उन्हें पुनः परीक्षा देने का अवसर प्रदान किया जाएगा।  पुनः परीक्षा में शामिल होने वाले परीक्षार्थियों से मुख्य परीक्षा की अंकसूची विद्यालय में जमा कराई जाकर पुनः परीक्षा उपरांत नवीन अंकसूची प्रदान की जाएगी। जिसमें परीक्षाफल में पुनः परीक्षा का उल्लेख किया जाएगा।

कृषक बन्धु चयन के लिए प्रक्रिया निर्धारित

‘‘आत्मा’’योजना  के अंतर्गत ‘‘कृषक बन्धु’’ चयन के लिए शासन स्तर से निर्देश प्राप्त हुए हैं । जिसके अन्तर्गत प्रगतिशील, अनुभवी एवं कृषि के लिए स्वप्रेरित एक कृषक के प्रस्ताव कृषक बंधु एवं ब्लॉक को आर्डिनेटर हेतु ग्राम पंचायत स्तर पर 26 जनवरी को आयोजित होने वाली ग्राम सभा से अनुमोदन उपरांत प्राप्त होंगे । प्रत्येक दो आबाद ग्राम पर एक कृषक बन्धू कार्य करेंगे, जिसमें 30 प्रतिशत महिला कृषकों के साथ ही वर्गवार एवं श्रेणीवार (अनुसूचित जातिध्अनुसूचित जनजाति) संख्या के अनुरूप समस्त वर्गो को यथा संभव प्राथमिकता दी जाएगी । उप संचालक सह परियोजना संचालक आत्मा द्वारा जानकारी दी गई है कि कृषक बन्धु हाईस्कूल पास हो । इस योग्यता के अनुरूप यदि कृषक उपलब्ध नही होने पर, आठवीं कक्षा उत्तीर्ण उन्नतशील कृषक का चयन किया जा सकता है, जिसकी मौखिक एवं लिखने की सम्प्रेषण क्षमता हो । इस संबंध में अधिक जानकारी के लिए संबंधित विकासखण्ड स्तर पर वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी एवं विकासखण्ड तकनीकी प्रबंधक आत्मा से सम्पर्क किया जा सकता है ।

रोजगार की जानकारी के लिए श्रवइे पद डच् पोर्टल

प्रदेश के युवाओं को एमएसएमई इकाईयों में रोजगार के अवसरों की जानकारी के लिये तथा vacancy होने पर आवेदन की सुविधा के लिये एमएसएमई (jobsinmp.mpmsme.gov.in) विभाग द्वारा पोर्टल तैयार किया गया है। इस पोर्टल का उद्देश्य रोजगार के इच्छुक युवाओं एवं रोजगार प्रदान करनें वाली औद्योगिक इकाईयों के मध्य संवाद स्थापित करना है, ताकि युवाओं को रोजगार के अधिक से अधिक अवसर प्राप्त हो सके। पोर्टल पर शिक्षित बेरोजगार युवा निर्धारित प्रपत्र अनुसार स्वंय का विवरण दर्ज करते हुए पंजीकरण कर सकते है, ताकि पोर्टल के माध्यम से उनके विवरण का अवलोकन जॉब प्रदाता औद्योगिक इकाईयॉ कर सकें। पोर्टल में एमएसएमई इकाईयॉ स्वंय को जॉब प्रदाता के रूप में पंजीकृत कर सकती है। जॉब प्रदाता औद्योगिक इकाईयों के लिये यह सुविधा होगी, कि वे अपनी आवश्यकता के अनुरूप रोजगार के इच्छुक युवाओं के बायोडाटा का अवलोकन कर, उन्हें अपनी प्रक्रिया अनुसार रोजगार के अवसर प्रदान कर सकते है। अतः ऐसे शिक्षित बेरोजगार युवा, जो रोजगार के इच्छुक है,वे इस पोर्टल पर स्वयं का विवरण दर्ज करते हुए पंजीकरण करावें। साथ ही औद्योगिक इकाईयों से भी यह अपेक्षा है, कि वे अपनी आवश्यकता के अनुरूप रोजगार प्रदान करने बाबत अपना पंजीयन करायें ताकि पोर्टल के माध्यम से शिक्षित बेरोजगारों को रोजगार प्राप्त हो सकें।

अनुसूचित जाति वर्ग के हितग्राहियों से मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजनांतर्गत आवेदन आमंत्रित

जिला संयोजक अन्त्यावसायी सहकारी विकास समिति द्वारा दी गई जानकारी अनुसार जिले में म.प्र. राज्य सहकारी अनुसूचित जाति वित्त एवं विकास निगम द्वारा संचालित मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना, मुख्यमंत्री कृषक उद्यमी योजना मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना एवं मुख्यमंत्री आर्थिक कल्याण योजनांतर्गत वित्तीय वर्ष 2019-20 का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजनांतर्गत 03, मुख्यमंत्री कृषक उद्यमी योजनांतर्गत 08, मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजनांतर्गत 60 तथा मुख्यमंत्री आर्थिक कल्याण योजनांतर्गत 50 हितग्राही लाभांवित करने हेतु अनुसूचित जाति वर्ग के हितग्राहियों से एम.पी.ऑनलाईन कियोस्क के माध्यम से ऑनलाईन (scwelfare.mponline.gov.in) आवेदन आमंत्रित किये गए हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: