जमशेदपुर : BDO ने पंचायत भ्रमण कर विकास योजनाओं की वस्तुस्थिति का लिया जायजा - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 13 फ़रवरी 2020

जमशेदपुर : BDO ने पंचायत भ्रमण कर विकास योजनाओं की वस्तुस्थिति का लिया जायजा

bdo-visit-and-inspact-scheems
जमशेदपुर (आर्यावर्त संवाददाता) प्रखण्ड विकास पदाधिकारी-सह-अंचलाधिकारी श्री अजय कुमार रजक द्वारा आज गोहला पंचायत क्षेत्र में संचालित मनरेगा, 14वें वित्त आयोग  की योजनाओं, स्वास्थ्य केन्द्र, आंगनबाडी केन्द्र, विद्यालय, जन प्रणाली दुकान एवं पंचायत भवन का निरीक्षण किया गया। प्रखंड विकास पदाधिकारी द्वारा 14वें वित्त आयोग के तहत स्वास्थ्य उपकेन्द्र एवं आंगनबाड़ी केन्द्र की मरम्मती करवाने का निदेश पंचायत सचिव को दिया गया एवं सहायिका को केन्द्र की सफाई कराने का निदेश दिया गया। आंगनबाड़ी केन्द्र में जेएसएलपीएस द्वारा जनवरी एवं फरवरी माह में पोषाहार उपलब्ध नहीं कराने पर स्पष्टीकरण करते हुए 24 घंटे के अन्दर पोषाहार उपलब्ध कराने का निदेश दिया गया।  स्वास्थ्य उपकेन्द्र में दवा का स्टॉक नहीं होने पर संबंधित पदाधिकारी को तत्काल दवा उपलब्ध कराने हेतु निदेशित किया गया।  गोहला पंचायत भवन के जांच के क्रम में पाया गया कि पंचायत भवन में साफ-सफाई का अभाव है जिसे तत्काल सफाई एवं पंचायत भवन में रंग-रोगन करने हेतु निदेशित किया गया। हाजिरी पंजी में कनीय अभियंता द्वारा जनवरी एवं फरवरी का अबतक का हाजरी नहीं बनाया गया है एव बीएफटी जोबा रानी द्वारा 11 फरवरी से हाजिरी नहीं बनाया गया जिसे उक्त अवधी के मानदेय के निकासी पर रोक लगाने का निदेश दिया गया। निरीक्षण के क्रम में मेधराई मार्डी, देना टुडू के मृत्यु प्रमाण पत्र 24 घंटे के अन्दर निर्गत करने का निदेश दिया गया। पंचायत भवन के निरीक्षण के बाद उत्क्रमित मध्य विद्यालय देवली की जांच की गई जिसमें मात्र एक शिक्षक श्री कानु राम हांसदा बच्चों का पढ़ा रहे थे जबकि उक्त विद्यालय में प्रखंड विकास पदाधिकारी  द्वारा एक और शिक्षक करण शेखर गिरी को नियुक्त किया गया था जो वर्तमान में नहीं आ रहे है। 24 घंटे के अन्दर विद्यालय में उपस्थित नहीं होने पर संबंधित शिक्षक पर विभागीय कार्रवाई करने का निदेश दिया गया। बच्चों को स्कूल-बैंग उपलब्ध करा दी गई है एवं ड्रेस हेतु जल्द से जल्द उपलब्ध कराने का निदेष दिया गया। उत्क्रमित मध्य विद्यालय का निरीक्षण किया गया। रसोई घर में मेनू के अनुसार बच्चों का मध्यान्न भोजन बनाया जा रहा था जिसे जांच की गई एवं तीन किस्म के दाल का प्रयोग करने का निदेश दिया गया।  गोहला पंचायत के निरीक्षण के बाद पंचायत के विभिन्न योजना के लिए जांच के क्रम में प्रधानमंत्री आवास योजना का निरीक्षण किया गया जिसमें सुराई हेम्ब्रम के आवास की जांच की गई एवं ग्राम रोजगार सेवक को मनरेगा के तहत जल्द से जल्द शौचालय पूर्ण कराने का निदेश दिया गया। छुटी धारा के आवास को 20 दिनों के अन्दर पूर्ण कराने का निदेष पंचायत सचिव को दिया गया, संतना धारा के आवास को पूर्ण करने एवं उनके पेंशन से संबंधित आवेदन प्रखण्ड में जमा करने का निदेश रोजगार सेवक को दिया गया। अखील धीवर को आवास नहीं बनाने पर एक सप्ताह के अन्दर पैसा वापस करने का निदेश दिया गया, वनमाली गिरी के मृत्यु होने पर उनके बेटे को आवास देने के लिए उनके अन्य भाईयों से लिखित रूप से आवेदन लेने का निदेश पंचायत सचिव को दिया गया। सबर बस्ती का निरीक्षण के क्रम में कोका सबर नेत्रहिन को पेंशन का आवदेन लेने के लिए रोजगार सेवक को निदेश दिया गया, मजूरी सबर, धीवर सबर आदि के आवास एवं शौचालय का निरीक्षण किया गया। पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के कनीय अभियंता को गोहला पंचायत के सुदूर क्षेत्र के सबरों एवं अन्य लोगों का शौचालय का जांच प्रतिवेदन 2 दिनों के अन्दर उपलब्ध कराने का निदेश दिया गया साथ वहां आईईसी एक्टिविटी के माध्यम से लोगो को शौचालय के उपयोग हेतु प्रोत्साहित करने का निदेश दिया गया। निर्माणाधीन जल मीनार की जांच की गई जहां प्रखंड विकास पदाधिकारी ने जल की गुणवक्ता के लिए पानी पीकर देखा तथा नल के पाईप को ठीक करने एवं सोख्ता गड्ढा में जाने वाले पाईप पर जाली लगाने का निदेश मुखिया को दिया। मनरेगा के तहत चल रहे योजना पूर्णचन्द्र पाल के जमीन पर मेड़बन्दी सह समतलीकरण एवं देवनाथ कैवर्त के जमीन पर मेड़बन्दी की जांच की गई जिसमें सुचना पट्ट नहीं लगाने पर प्रखण्ड कार्यक्रम पदाधिकारी, मुसाबनी मनरेगा एवं ग्राम रोजगार सेवक को फाईन किया गया। मनरेगा का काम अंसतोषजनक रहने पर बीपीओ, सहायक अभियंता, कनीय अभियंता एवं रोजगार सेवक से स्पष्टीकरण किया गया। मनरेगा में कुल 58 योजना में मात्र पांच योजना ही चलाया जा रहा है जिसे और योजना को चलाने का निदेश ग्राम रोजगार सेवक को दिया गया। गोहला पंचायत के जन वितरण प्रणाली के दुकान के जांच के क्रम में पाया गया कि संचालक कमलेष्वर मार्डी द्वारा लाभुको को रसीद नहीं दिया जा रहा है एवं स्टॉक पंजी अद्यतन नहीं किया गया है, तराजु का कांटा ठीक नहीं है। प्रखंड विकास पदाधिकारी द्वारा दुकानदार को लाभुकों को रसीद उपलब्ध कराने के साथ अनाज वितरण करने का निदेश दिया गया। जांच में पाया गया कि इस दुकान में कुल 322 लाभुक है जिसमें अत्योदय कार्ड में 60 एवं पीएस में 262 लाभुक है।

कोई टिप्पणी नहीं: