अच्छा इंसान बनना शिक्षा की कसौटी : कोविंद - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 29 फ़रवरी 2020

अच्छा इंसान बनना शिक्षा की कसौटी : कोविंद

education-needed-for-good-human-beeing-kovind
गुमला (झारखंड) 29 फरवरी, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने आज कहा कि शिक्षा का उद्देश्य केवल डिग्री प्राप्त करना नहीं बल्कि अच्छा इंसान बनना इसकी कसौटी है। श्री कोविंद ने यहां विकास भारती बिशुनपुर के सौजन्य से आयोजित स्वरोजगारी एवं स्वावलंबी कृषि ग्रामोद्योग एवं कौशल विकास योजना के कार्यक्रम में कहा, “शिक्षा ऐसा संसाधन है, जो हम अपने बच्चों के साथ-साथ लोगों को भी दे सकते हैं। आप अपने बच्चों को स्कूल अवश्य भेजें, साथ ही उन्हें अच्छा आचरण दें ताकि वे अच्छे एवं भले की पहचान कर सकें।” राष्ट्रपति ने कहा कि डिग्री प्राप्त कर लेने से ही पूर्णतया शिक्षित नहीं हो जाते बल्कि शिक्षित वह व्यक्ति है जो एक अच्छा इंसान है। उन्होंने कहा कि एक अच्छा इंसान बनना शिक्षा की कसौटी है। उन्होंने आदिवासी समुदाय के लोगों से मिलने की गहरी इच्छा जताई। श्री कोविंद ने कहा कि बिशुनपुर आना उनके लिए सौभाग्य की बात है। बिशुनपुर त्याग, बलिदान, संघर्ष एवं स्वाभिमान की धरती है। उन्होंने कहा कि देश बदल रहा है इसलिए सबको बदलने की जरूरत है। मनुष्य होकर यह प्रयास करना है कि हमारे आचरण में अंतर न हो। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...