जमशेदपुर : धालभूम क्लब, साक्ची में विधिक सेवा सशक्तिकरण शिविर का आयोजन - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 24 फ़रवरी 2020

जमशेदपुर : धालभूम क्लब, साक्ची में विधिक सेवा सशक्तिकरण शिविर का आयोजन

न्यायधीश, झारखंड उच्च न्यायालय मुख्य अतिथि के रूप में कार्यक्रम में हुए शामिल, प्रधान जिला एवं सत्र न्यायधीश, उपायुक्त, पुलिस अधीक्षक(नगर) तथा न्यायिक एवं प्रशासनिक सेवा के कई पदाधिकारी कार्यक्रम में हुए शामिल, लाभुकों के बीच परिसम्पतियों का किया गया वितरण, विभिन्न प्रशिक्षण केन्द्रों से प्रशिक्षण प्राप्त कर चुके युवक-युवतियों के बीच प्रशस्ति पत्र व प्रमाण पत्र का वितरण, सभी प्रखंडों में भी आयोजित किया गया विधिक सेवा सशक्तिकरण शिविर
jharkhand-chief-judge-visit-jamshedpur
जमशेदपुर (आर्यावर्त संवाददाता) जिला विधिक सेवा प्राधिकार एवं जिला प्रशासन के संयुक्त तत्वाधान में आज धालभूम क्लब में विधिक सेवा सशक्तिकरण शिविर का आयोजन किया गया। माननीय न्यायमूर्ति श्री अपरेश कुमार सिंह, न्यायधीश, झारखंड उच्च न्यायालय कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हुए। आज पूर्वी सिंहभूम जिले के सभी प्रखण्ड मुख्यालयों में भी विधिक सेवा सशक्तिकरण शिविर का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का उद्घाटन लाभुक महिलाओं द्वारा दीप प्रज्जवलित कर किया गया। न्यायमूर्ति श्री अपरेश कुमार सिंह ने कहा कि गर्व हो रहा है कि लगातार तीसरे वर्ष इस जगह पर यह कार्यक्रम हो रहा है। उन्होने कहा कि न्याय सिर्फ न्यायालय तक सीमित नहीं है। घर से शुरू करें तो घर के प्रत्येक सदस्य के प्रति एक कर्तव्य निहित है, अगर उसे पूरा करें तो आप घर में न्याय करते हैं। न्याय की भावना आपके अंदर होती है तो आप किसी का हक नहीं छिनते, सम्मान जरूर देते हैं। जो भी कार्य कर रहे हैं उसे निपुणता से करें- समाज और राष्ट्र सर्वोपरी होना चाहिए। माननीय न्यायमूर्ति ने कहा कि एक प्रांगण में सभी विभागों के स्टॉल लगाकर योजनाओं का लाभ योग्य लाभुकों तक पहुंचाने की ये काफी सार्थक पहल है। न्यायपालिका, विधायिका, कार्यपालिका सभी का कर्तव्य है कि आम जनमानस के जीवन में समृद्धि लाएं, लोगों को न्याय मिले, योजनाओं का लाभ मिले। उन्होने कहा कि सशक्तिकरण शिविर का फायदा यह है कि यहां मिशन मोड में काम होता है।  प्रधान जिला एवं सत्र न्यायधीश श्री मनोज प्रसाद ने कहा कि योग्य लाभुकों तक योजनाओं का लाभ पहुंचे इस उद्देश्य से शिविर का आयोजन किया गया है। हमारी कोशिश है कि आम जनता और न्यायपालिका के बीच दूरी कम हो। सरकार की कल्याणकारी योजनाओं का लाभ योग्य लाभुकों को ही मिले यह भी न्याय है। अधिकाधिक लोगों के हित के लिए एवं अधिकाधिक लोगों को खुशी देने के उद्देश्य से शिविर का आयोजन किया गया है।  उपायुक्त, पूर्वी सिंहभूम श्री रविशंकर शुक्ला ने कहा कि सशक्तिकरण शिविर का मुख्य उद्देश्य अनुसूचित जाति/जनजाति के लोगों, श्रमिकों, विधवाओं, महिलाओं, दिव्यांगजनों एवं समाज के अति पिछड़े वर्ग के लोगों को केंद्र एवं राज्य सरकार द्वारा संचालित विभिन्न लोक कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी देना तथा योजनाओं का लाभ दिलाना है। इस शिविर में विधिक सहायता सहित सरकार के कल्याणकारी योजनाओं के माध्यम से पीड़ित, प्रभावित एवं योग्य लाभुकों को योजनाओं का लाभ पहुँचाना है। उपायुक्त ने संक्षेप में विभिन्न विभागों द्वारा लगाए गए स्टॉल के बारे में बताया तथा उनके कार्यप्रणाली पर प्रकाश डाला।  कार्यक्रम स्थल में विभिन्न विभागों के द्वारा स्टॉल लगाए गए थे जिनमें मुख्य रूप से जिला मत्स्य कार्यालय, ग्रामीण विकास अभिकरण, श्रम नियोजन एवं प्रशिक्षण विभाग, कृषि पशुपालन एवं सहकारिता विभाग, बैंक, आपूर्ति विभाग, दीनदयाल उपाध्याय कौशल विकास केंद्र, स्वास्थ्य विभाग, भूमि   संरक्षण, आत्मा कार्यालय, जिला समाज कल्याण, सामाजिक सुरक्षा व अन्य  विभागों द्वारा स्टॉल लगाए गए थे। कार्यक्रम में उपस्थित मुख्य अतिथि एवं पदाधिकारियों द्वारा चयनित लाभुकों के बीच परिसम्पतियों का वितरण किया गया तथा स्टॉल का भी निरीक्षण किया गया। मुख्य अतिथि द्वारा बेहतर स्टॉल का चयन कर संबंधित को सम्मानित किया गया जिसमें प्रथम स्थान पर कौशल विकास, द्वितीय घाघीडीह जेल का स्टॉल एवं तृतीय स्थान पर कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय को चुना गया।  कार्यक्रम को एक्टिंग चेयरमैन, झारखंड राज्य बार काउंसिल श्री राजेश शुक्ल एवं जिला बार एसोसिएशन के अध्यक्ष श्री लाला अजीत कुमार अम्बष्ठ ने भी संबोधित किया। पुलिस अधीक्षक नगर श्री सुभाष चंद्र जाट द्वारा धन्यवाद ज्ञापन किया गया। इस अवसर पर जिला प्रशासन के वरीय पदाधिकारी, *न्यायपालिका के पदाधिकारी तथा अन्य उपस्थित रहे ।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...