कोविंद ने बाबा बैद्यनाथ धाम में की पूजा-अर्चना - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 29 फ़रवरी 2020

कोविंद ने बाबा बैद्यनाथ धाम में की पूजा-अर्चना

kovind-pray-baidyanath-dham-jharkhand
देवघर 29 फरवरी, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने आज झारखंड के दवेघर जिले के बाबा बैद्यनाथ धाम में भगवान शिव की षोड्शोपचार विधि से पूजा-अर्चना कर देश की सुख-समृद्धि की कामना की। श्री कोविंद ने देवघर में बाबा मंदिर पहुंचकर देश की सुख-समृद्धि की कामना बाबा बैद्यनाथ से की। इस अवसर पर राष्ट्रपति के साथ झारखंड की राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू उपस्थित थी। पुरोहितों ने राष्ट्रपति को षोड्शोपचार विधि से बाबा बैद्यनाथ की पूजा-अर्चना कराई। पूजा के बाद राष्ट्रपति को देवघर की उपायुक्त नैंसी सहाय ने मंदिर श्राईन बोर्ड की ओर से अंगवस्त्र एवं स्मृति चिन्ह समर्पित कर अभिनंदन किया। राष्ट्रपति के आगमन को लेकर पूरे शहर में चाक-चौबंद सुरक्षा-व्यवस्था की गयी थी। पुलिस अधीक्षक नरेन्द्र कुमार सिंह के नेतृत्व में सुरक्षा की सभी व्यवस्थाएं की गयी थी। यातायात को सुगम बनाने तथा सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए शहर में रूट डायवर्जन भी किये गए थे। कई स्थानों पर ड्रॉप गेट तथा बेरियर भी लगाया गया था। इसके साथ हीं पहुंच पथ पर स्लाइडिंग बैरियर भी लगाया गया था। हवाईअड्डे से परिसदन और मंदिर तक ऊंचे भवनों पर सुरक्षा बल के जवान तैनात किये गए थे ताकि असमाजिक तत्वों पर नजर रखी जा सके। जगह-जगह पर सुरक्षा बल के जवान तैनात किये गए थे। उल्लेखनीय है कि श्री कोविंद देवघर आने वाले तीसरे राष्ट्रपति हैं। इससे पहले देश के पहले राष्ट्रपति डॉ. राजेंद्र प्रसाद तथा दो बार बतौर राष्ट्रपति श्री प्रणव मुखर्जी बाबा बैद्यनाथ की पूजा-अर्चना कर चुके हैं। इस मौके पर झारखंड के कृषि मंत्री बादल पत्रलेख, संथाल परगना के आयुक्त अरविंद कुमार, संथाल परगना के पुलिस उप महानिरक्षक राजकुमार लकड़ा, उपायुक्त नैंसी सहाय, पुलिस अधीक्षक नरेन्द्र कुमार सिंह मौजूद थे। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...