जमशेदपुरः : प्रेमिका पर उसके प्रेमी ने किया वार, तीन दिन बाद युवती ने अस्पात में तोड दिया दम - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 22 फ़रवरी 2020

जमशेदपुरः : प्रेमिका पर उसके प्रेमी ने किया वार, तीन दिन बाद युवती ने अस्पात में तोड दिया दम

जमशेदपुर में 15 फरवरी को एक प्रेमी ने प्रेमिका पर जानलेवा हमला किया था. जिसके बाद वो बुरी तरह घायल हो गई थी. वहीं बुधवार को युवती ने दम तोड़ दिया. जबकि आरोपी को पहले ही गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है.
lover-attack-lover-girl-dead
जमशेदपुर (आर्यावर्त संवाददाता)  टाटा स्टील कंपनी परिसर के अंदर 15 फरवरी को एक प्रेमी ने अपनी प्रेमिका पर जानलेवा हमला किया था. जिसने बुधवार की शाम अस्पताल में दम तोड़ दिया. इस मामले में प्रेमी को पहले ही पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है. बुधवार को मृतक के परिजनों ने बिस्टुपुर थाना में हत्या के खिलाफ मुकदमा दायर किया है. 15 फरवरी को प्रेमी ने प्लांट के अंदर ही अपनी पर लोहे के रॉड से वार किया था. जिससे वह बुरी तरह घायल हो गयी थी. इसके बाद कंपनी प्रबंधन की ओर से महिला को आनन-फानन में टाटा मुख्य अस्पताल में भर्ती कराया गया था. जहां तीन दिनों के इलाज के बाद बुधवार को लक्ष्मी ने दम तोड़ दिया. लक्ष्मी सोरेन की मौत की खबर सुबह परिजनों को दि गई. इस मामले में प्रेमी को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चूका है. जानकार सूत्रों के अनुसार घायल लक्ष्मी का हाल जानने पिछले दिनों राज्य के परिवहन मंत्री चंपई सोरेन टाटा मुख्य अस्पताल पहुंचे थे और प्रशासन से आरोपी को गिरफ्तार करने को कहा. वहीं कंपनी प्रबंधन को संवेदक को ब्लैक लिस्ट करने का निर्देश दिया था. इस मामले में झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने पूर्वी सिंहभूम के उपायुक्त को जांच करने का आदेश दिया था. वहीं बुधवार को लक्ष्मी की मौत की सूचना मिलते ही झारखंड मुक्ति मोर्चा के नेता और कार्यकर्ता बिष्टुपुर थाना पहुंचे. जहां महिलाकर्मी के परिजनों की ओर से आरोपी बादल हांसदा के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई गई है. इधर झारखंड मुक्ति मोर्चा के नेताओं ने संवेदक यानि आदिवासी वेलफेयर सोसाइटी और उसके प्रोपराइटर भीम सेन मुंडा पर भी केस करने की भी मांग की है. जानकार सूत्रों के अनुसार भीम सेन मुंडा पूर्व मुख्यमंत्री और वर्तमान केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा के बड़े भाई हैं और आदिवासी वेलफेयर सोसायटी के प्रोपराइटर भी हैं. वहीं झामुमो कार्यकर्ताओं ने मृतिका के परिवार वालों को उचित मुआवजा और नौकरी की भी मांग की है. फिलहाल पुलिस एफआईआर दर्ज कर आगे की कार्रवाई में जुट गई है. 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...