पीएम मोदी ने दिव्यांगों को दी प्यार की झप्पी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 29 फ़रवरी 2020

पीएम मोदी ने दिव्यांगों को दी प्यार की झप्पी

modi-distributed-equipment-to-divyangs-and-elderly-people/
प्रयागराज,29 फरवरी, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने तीर्थराज प्रयाग में सामाजिक अधिकारिता शिविर में 300 दिव्यांग और बुजुर्गों से मुलाकात के दौरान उनकी हौसला आफजाई के साथ सिर पर हाथ फेर कर प्यार की झप्पी देते दिखे। श्री मोदी भारतीय वायु सेना के विशेष विमान से शनिवार को पूर्वाह्न 10.30 बजे बमरौली एयरपोर्ट पहुंचे। उसके बाद वह तीन हेलीकाप्टर के काफिले में परेड़ मैदान स्थित हेलीपेड पर 11 बजे उतरने के बाद सीधे दिव्यांगों और बुजुर्गों के लिए बनाए गये कैंप में करीब 18 मिनट तक बातचीत की। उन्होने वहां पहुंचकर उनसे हाथ मिलाया और उनकी हौसला आफजाई कर उनके पीठ थपथपाते और ‘प्यार की झप्पी‘ देते दिखे। श्री मोदी और दिव्यांगों एवं बुजुर्गों के बीच मुख्य मंच पर बना बड़ा स्क्रीन आम दर्शकों के मध्य सेतु का काम कर रहा था। अन्दर की सारी गतिविधियां बाहर बैठे दर्शक देख रहे थे। कैंप में प्रधानमंत्री और दिव्यांग एवं बुजुर्गों का मिलन उनके लिए अविष्मरणीय पल रहा। कुछ विकलांग जनों के उनसे मुलाकात के बाद आंखे नम हो गयी1 उन्होने प्यार से उनके सिर पर हाथ फेरा और पीठ थपथपाई। इस कैंप मेंं दो विकलांग बच्चे भी थे जिनके सिर पर प्यार से हाथ फेरकर उन्हें कभी निराश नहीं होने का मंत्र भी बताया। बुजुर्ग महिलाएं एवं दिव्यांग जब उनके पैर छूने अपने ह्वील चेयर से उतर रहे थे, तो प्रधानमंत्री उनके दोनो हाथों को अपने हथेली में पकड़ कर हाथ जोड़ लेते थे और उनका सहारा भी बनते दिखे। वह बहुत ही मार्मिक दृश्य था। इस बीच श्री मोदी ने एक बुजुर्ग की उलटी स्टिक को सीधी कर उसका कंधा थपथपाया। प्रधानमंत्री के हाथों का स्पर्श और उनको अपने बीच पाकर दिव्यांग और बुजुर्ग दोनो हो धन्य हो गये। उनके जीवन का यह अविष्मरणीय पल बना। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...