जमशेदपुर : पुलिस के काफिले पर थी नक्सली हमले की तैयारी, 4 केन बम बरामद, किए गए डिफ्यूज - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 8 फ़रवरी 2020

जमशेदपुर : पुलिस के काफिले पर थी नक्सली हमले की तैयारी, 4 केन बम बरामद, किए गए डिफ्यूज

सरायकेला पुलिस को दोहरी सफतला मिली. दरअसल, जिले के नक्सल प्रभावित क्षेत्र में पोस्ता के फसल को नष्ट करने पहुंची पुलिस ने 4 केन बरामद किए. जिसे मौक पर नष्ट कर दिया गया.
naxal-attack-planing
जमशेदपुर (आर्यावर्त संवाददाता) जिला पुलिस को आज एक विशेष अभियान के दौरान दोहरी सफलता हासिल हुई. जहां पुलिस ने एक-एक किलो के 4 केन बम बरामद कर उसे नष्ट किया, तो वहीं पुलिस ने घोर नक्सल प्रभावित क्षेत्र में तकरीबन 3 एकड़ भूमि पर पोस्ता की खेती को भी नष्ट कर दिया है. जिला पुलिस ने शनिवार को नक्सल विरोधी अभियान विशेष तौर पर चलाया, जहां पुलिस को दोहरी सफलता मिली. जिला पुलिस ने पहले चौका थाना अंतर्गत रेयरदा, चैतनपुर और ईचाडीह के आसपास एंटी नक्सल अभियान के दौरान करीब 3 एकड़ भूमि पर अवैध पोस्ता की खेती को बरामद किया. जिसके बाद जिला पुलिस के जवानों ने पूरी तरह खेत को नष्ट कर दिया. इसके साथ ही पुलिस ने एनडीपीएस एक्ट के तहत कार्रवाई की. इस सफलता के बाद जैसे ही एंटी नक्सल अभियान में शामिल पुलिस जवान आगे बढ़े तो उन्हें एक-एक किलो के चार केन बम मिले जिसे जिला पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए घोर जंगल में ही डिफ्यूज किया. दोहरी सफलता के संबंध में जानकारी देते हुए सरायकेला एसपी कार्तिक ने बताया कि लगातार नक्सल विरोधी अभियान को लेकर नक्सलियों में खौफ व्याप्त है. वहीं पुलिस को टारगेट करते हुए 4 बम रखे गए थे. जिसे पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए नष्ट कर दिया. आरक्षी अधीक्षक कार्तिक एस ने बताया कि नक्सलियों के मंसूबे पर जिला पुलिस हाल के दिनों में लगातार पानी फेर रही है और यह अभियान आगे भी जारी रहेगा. इस मौके पर नक्सल विरोधी अभियान में शामिल पुलिस पदाधिकारी समेत कोबरा बटालियन और सीआरपीएफ के भी अधिकारी मौजूद रहे.

कोई टिप्पणी नहीं: