पंजाबी लेखक जसवंत सिंह का 101 साल में निधन - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 2 फ़रवरी 2020

पंजाबी लेखक जसवंत सिंह का 101 साल में निधन

punjabi-litreture-jaswant-singh-passwes-away
चंडीगढ़, एक फरवरी, प्रख्यात पंजाबी लेखक, उपन्यासकार और साहित्य अकादेमी पुरस्कार विजेता जसवंत सिंह कंवल का शनिवार को मोगा जिला स्थित उनके गांव में संक्षिप्त बीमारी के बाद निधन हो गया। परिवार के सूत्रों ने बताया कि वह 101 वर्ष के थे। कंवल के प्रपौत्र सुमेल सिंह सिद्धू ने कहा कि मृतक का अंतिम संस्कार रविवार को डुढीके गांव में किया जाएगा। कंवल पंजाबी भाषा के मशहूर उपन्यासकार और लघु कहानी लेखक थे। डुढीके में जन्मे कंवल ने किशोरावस्था में ही स्कूल छोड़ दिया और मलाया चले गए जहां उनकी रूचि साहित्य में जगी। कुछ वर्षों बाद वह डुढीके लौटे ओर फिर वहीं रहने लगे। उन्हें 2007 में पंजाबी साहित्य शिरोमणि पुरस्कार से नवाजा गया। पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने कंवल के निधन पर दुख जताया है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...