मधुबनी : राम-जानकी भगवान का डोला परिक्रमा जयनगर से जनकपुर(नेपाल) को निकला। - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 25 फ़रवरी 2020

मधुबनी : राम-जानकी भगवान का डोला परिक्रमा जयनगर से जनकपुर(नेपाल) को निकला।

ram-janki-parikrama-starts
मधुबनी (आर्यावर्त संवाददाता) : हर साल कमला नदी में कल्पवास के पश्चात भगवान राम-जानकी जी का डोला कमला नदी के तट से उठकर पूरे गाजे-बाजे ओर हजारों लोगों के जुलूस के साथ होली से एक दिन पहले पड़ोसी देश नेपाल ई राजधानी जनकपुर के रामजानकी मंदिर जाने के लिए परिक्रमा मेला भ्रमण के नाम से शुरू हो गई है। ये परिक्रमा जयनगर के कमला नदी से जनकपुर तक जाएगी। इस दौरान हर उस जगह पर रुकते हुए जाएगी जिसका वर्णन रामायण जैसे ग्रंथों में उल्लेखित है। यह डोला परिक्रमा कलना, फुलहर जहाँ जनकनंदिनी सीता माँ खुद अपने सखी-सहेलियों के साथ फूल लेने आया करती थीं वह भी रुकेगी। जिसके बाद उसी के नजदीक एक जगह विशोल बजी रुकेगी जिसका जिक्र भगवान राम जी के बारात के दौरान बराती के यहाँ ठहरने से संबंधित है। इस पूरे परिक्रमा में हजारों भक्त एवं श्रद्धालुओं का हुजूम साथ चलते हुए नजर आए तथा हर जगह रुकने की समुचित व्यवस्था भी नजर आई। इस मौके पर जानकारी देते हुए महंथ सुनैना शरण जी महाराज ने बताया कि यह परिक्रमा 21दिनों तक चलता है और इसमे स्वतः हर साल हजारों भक्त सम्मलित होते हैं। उन्होंने बताया कि यह मेला पिछले कई सालों से आयोजित होता आ रहा है ।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...