चाईबासा में 'सरकार आपके द्वार कार्यक्रम' का आयोजन, कई लोगों को किया गया सम्मानित - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 8 फ़रवरी 2020

चाईबासा में 'सरकार आपके द्वार कार्यक्रम' का आयोजन, कई लोगों को किया गया सम्मानित

sarkar-aapke-dwar-jamshedpur
जमशेदपुर (आर्यावर्त संवाददाता) चाईबासा के झींकपानी प्रखंड के असुरा ग्राम स्थित उच्च विद्यालय के प्रांगण में स्थानीय विधायक दीपक बिरुवा और उप विकास आयुक्त आदित्य रंजन के उपस्थिति में 'सरकार आपके द्वार कार्यक्रम' का आयोजन किया गया. इस आयोजन में सरकार के कई विभागों ने स्टॉल लगाया. इस दौरान खिलाड़ी और प्रगतिशील किसानों को सम्मानित भी किया गया. पश्चिमी सिंहभूम जिला अंतर्गत झींकपानी प्रखंड के असुरा ग्राम स्थित उच्च विद्यालय के प्रांगण में स्थानीय विधायक दीपक बिरुवा और उप विकास आयुक्त आदित्य रंजन के उपस्थिति में "सरकार आपके द्वार कार्यक्रम" का आयोजन किया गया. कार्यक्रम की शुरुआत स्थानीय विधायक ने दीप प्रज्वलित कर किया. कार्यक्रम में कृषि क्षेत्र में किसानों के ज्ञानवर्द्धन के लिए विभिन्न प्रकार के कृषि विधियों और कीटनाशकों के प्रयोग से संबंधित पंपलेट का लोकार्पण स्थानीय विधायक और उपस्थित पदाधिकारियों ने किया. कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य सरकार और जनता के बीच आपसी समन्वय स्थापित करते हुए सरकार की संचालित जन कल्याणकारी योजनाओं का लाभ पहुंचाने और लंबित व्यक्तिगत पेंशन, वेतन आदि मामलों का निष्पादन करना है. सरकार आपके द्वार कार्यक्रम" के तहत कार्यक्रम में उपस्थित विभिन्न विभागों के पदाधिकारियों ने केंद्र और राज्य सरकार की संचालित विभिन्न योजनाओं की जानकारी उपस्थित जनसमूह को दी और योजनाओं का लाभ कैसे प्राप्त किया जाए इस संबंध की भी सूचना ग्रामीणों को उपलब्ध करवाई गई. आत्मा निदेशक ने उन्नत कृषि, सामाजिक सुरक्षा कोषांग के सहायक निदेशक ने विभिन्न प्रकार के पेंशन योजना, कृषि पदाधिकारी ने कृषि उपकरणों पर दी जाने वाली सब्सिडी, समाज कल्याण पदाधिकारी ने विभाग के माध्यम से संचालित योजनाओं की जानकारी दी. पंचायती राज पदाधिकारी ने पंचायतों के समग्र विकास से संबंधित योजनाओं आदि की जानकारी आम जनों को उपलब्ध करवाई गई. इसके साथ ही झींकपानी प्रखंड के प्रगतिशील किसान जवाहर हेंब्रम ने भी अपने अनुभवों को साझा किया गया. आम जनों को योजनाओं का लाभ लेने और जानकारी प्राप्त करने हेतु विभिन्न विभागों ने कार्यक्रम में स्टॉल लगाया था. कार्यक्रम में उप विकास आयुक्त ने राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित तीरंदाजी प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक विजेता मीली मच्छवाईन को शॉल ओढ़ाकर सम्मानित किया. इसके साथ ही प्रखंड अंतर्गत सब्जियों के उत्पादन में बेहतर प्रदर्शन करने वाले 14 प्रगतिशील किसानों को कृषि उपकरण भेंट कर सम्मानित किया गया. इस दौरान जिला अकास्मिक खाद्यान्न कोष के तहत 7 अनाथ बच्चों को 10 किलो अनाज और 10 वृद्ध महिला और पुरुष के बीच कंबल का वितरण किया गया. कार्यक्रम के दौरान इंदिरा गांधी राष्ट्रीय वृद्धावस्था पेंशन के तहत कुल 24 लोगों को पेंशन स्वीकृति पत्र, कार्यक्रम में आए एक दिव्यांग बुजुर्ग को ट्राई साइकिल और तीन लोगों को डॉक्टर भीमराव अंबेडकर आवास योजना के तहत आवास स्वीकृति पत्र का वितरण किया गया. समाज कल्याण विभाग ने गर्भवती महिलाओं और नवजात शिशुओं को दी जाने वाली पौष्टिक आहार के तहत 3 महिलाओं और 2 नवजात शिशुओं को पौष्टिक आहार उपलब्ध करवाया गया. आयोजित कार्यक्रम में विभिन्न विभाग जैसे श्रम नियोजन विभाग, विद्युत विभाग, बाल विकास परियोजना, स्वास्थ्य विभाग, सामाजिक सुरक्षा विभाग, कल्याण विभाग,आपूर्ति विभाग, प्रधानमंत्री आवास योजना, जिला विधिक सेवा प्राधिकार, शिक्षा विभाग, प्रधान मंत्री कौशल विकास, जेएसएलपीएस, पशुपालन विभाग, गव्य विभाग, मत्स्य विभाग, कृषि विभाग सहित बैंक ऑफ बड़ौदा ने स्टॉल की व्यवस्था कर रखी थी, जहां पर इच्छुक और योग्य लाभुकों ने विभिन्न प्रकार की योजनाओं का लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदन पत्र को प्राप्त किया उक्त कार्यक्रम में जिला भू अर्जन पदाधिकारी एजाज अनवर, जिला पंचायती राज पदाधिकारी विपिन कुमार सिंह, जिला कृषि पदाधिकारी राजेंद्र किशोर, प्रखंड विकास पदाधिकारी झींकपानी प्रभात रंजन चौधरी, आत्मा निदेशक पंकज सिंह, सामाजिक सुरक्षा कोषांग के सहायक निदेशक खुशेंद्र सोनकेशरी, क्षेत्रीय कर्मचारी सहित असुरा पंचायत के मुखिया सालुका सुंडी, चोया पंचायत की मुखिया तुलसी मुंदुईया और जोरापोखर पंचायत और केलेंडे पंचायत की मुखिया उपस्थित रही.

कोई टिप्पणी नहीं: