सुप्रीम कोर्ट का नोटिस से राज्य सरकार की अकर्मण्यता उजागर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 10 फ़रवरी 2020

सुप्रीम कोर्ट का नोटिस से राज्य सरकार की अकर्मण्यता उजागर

sc-notice-state-government-falure
जयपुर, 10 फरवरी, उच्चतम न्यायालय द्वारा राजस्थान में कोटा के जे.के. लोन अस्पताल में नवजात शिशुओं की मौत के मामले में भेजे गये नोटिस पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रदेशाध्यक्ष डाॅ. सतीश पूनियां ने कहा है कि इससे गहलोत सरकार की अकर्मण्यता उजागर हुई है। डा़ पूनिया ने आज विधानसभा के बाहर पत्रकारों से कहा कि इससे स्पष्ट है कि गहलोत सरकार की लापरवाही के चलते कोटा में इतने नवजात शिशुओं की मृत्यु हुई। उन्होंने कहा कि उच्चतम न्यायालय के नोटिस से यह पुख्ता होता है कि गहलोत सरकार की कथनी और करनी में अंतर है। तभी उच्चतम न्यायालय द्वारा कोटा में इतने बड़े पैमाने पर नवजात बच्चों की मौत होने पर संज्ञान लेते हुए राज्य सरकार से जवाब मांगा है।  

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...