नई शिक्षा नीति स्वच्छ भारत के सपने को पूरा करने वाली होगी : पोखरियाल - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 8 फ़रवरी 2020

नई शिक्षा नीति स्वच्छ भारत के सपने को पूरा करने वाली होगी : पोखरियाल


the-new-education-policy-will-fulfill-the-dream-of-clean-india-pokhriyal
जयपुर 08 फरवरी, केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री डा रमेश पोखरियाल ने कहा है कि केन्द्र सरकार द्वारा जारी की जाने वाली नई शिक्षा नीति प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छ भारत, स्वस्थ भारत और श्रेष्ठ भारत के सपने को पूरा करने वाली होगी। डा. पोखरियाल आज यहां नेशनल यूनिवर्सिटी के दसवें दीक्षांत समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि नई शिक्षा नीति देश की आधारशिला रखेगी। उन्होंने डिग्री पाने वाले छात्रों से चुनौतियों का सामना करके आगे बढ़ने और एक योद्धा की तरह विजन को मिशन में तब्दील करने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि भारत ने सदियों से हर क्षेत्र में नेतृत्व दिया है। तक्षशिला.नालंदा जैसे विश्वविद्यालय हमारी समृद्ध धरोहर हैं। उन्होंने कहा कि हमें पीछे छूट गई खाई को पाटने के लिए अपनी सृजनात्मकता को बढ़ाना होगा और भारत को पुनः विश्व के शीर्ष पर पहुंचाना होगा। इस अवसर पर डा.पोखरियाल ने मालवीय नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में लगभग 45 करोड़ के बजट से तैयार होने वाले 240 कमरों के बॉयज हॉस्टल की नींव भी रखी। समारोह में राजस्थान के उच्च शिक्षा मंत्री भंवर सिंह भाटी ने कहा कि राज्य सरकार ने राज्य के तहसील एवं उपखंड स्तर पर उच्च शिक्षा को बढ़ावा देने हेतु पिछले बजट में 50 नए महाविद्यालय खोले थे, जिससे दस हजार से ज्यादा ग्रामीण विद्यार्थियों को लाभ मिल रहा है। इसके अलावा राज्य सरकार ने पिछले दिनों दो नए विश्वविद्यालय भी खोले हैं। 

कोई टिप्पणी नहीं: