टोक्यो ओलंपिक पर कोई खतरा नहीं : आईओसी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 27 फ़रवरी 2020

टोक्यो ओलंपिक पर कोई खतरा नहीं : आईओसी

tokyo-olympic-out-of-danger
टोक्यो, 26 फरवरी, चीन में फैले खतरनाक कोरोना वायरस के कारण इस साल जुलाई के अंत में शुरु होने वाले टोक्यो ओलंपिक पर अभी से खतरे के बादल मंडराने लगे हैं लेकिन अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक संघ (आईओसी) के प्रवक्ता का कहना है कि इन खेलों के लिए तैयारियां योजना अनुसार चल रही हैं और बाकी सब कुछ सिर्फ अटकलें हैं। आईओसी के प्रवक्ता ने कहा,“टोक्यो ओलंपिक आयोजन समिति आईओसी और अन्य संबंधित संगठनों के साथ ओलंपिक के सफल आयोजन के लिए लगातार काम कर रही है। इस समय कोरोना वायरस को लेकर खेलों पर संकट के बारे में जो कुछ कहा जा रहा है वह सिर्फ अटकलें हैं।” टोक्यो ओलंपिक का आयोजन 24 जुलाई से नौ अगस्त तक होना है और पैरालंपिक का आयोजन 25 अगस्त से छह सितंबर तक होना है। उल्लेखनीय है कि आईओसी के उपाध्यक्ष डिक पाउंड ने एक साक्षात्कार में कहा था कि आयोजक ओलंपिक खेलों के भविष्य को लेकर परेशानी का सामना कर रहे हैं और उन्हें इन खेलों के आयोजन को लेकर तीन महीने के अंदर कोई फैसला करना है। ऐसी अटकलें चल रही हैं कि यदि कोरोना वायरस ज्यादा फैलता है तो टोक्यो ओलंपिक को रद्द भी किया जा सकता है। प्रवक्ता ने कहा,“डिक पाउंड ने यह साफ शब्दों में समझाया था कि आईओसी 2020 ओलंपिक खेलों के सफल आयोजन की दिशा में काम कर रही है। हम आईओसी की तरफ से इस बात को फिर दोहराते हैं कि टोक्यो ओलंपिक खेलों की तैयारियां योजना अनुसार चल रही हैं।” आईओसी प्रवक्ता ने साथ ही इस बात पर जोर दिया कि इस महामारी को रोकने की सख्त जरुरत है और उन्हें विश्वास है कि संबंधित अधिकारी इस दिशा में कामयाब होंगे। उन्होंने कहा,“इस महामारी को रोकने के लिए कदम टोक्यो ओलंपिक की तैयारियों का महत्वपूर्ण हिस्सा होंगे ताकि सुरक्षित खेलों का आयोजन किया जा सके। टोक्यो 2020 सभी संबंध संगठनों के साथ सहयोग जारी रखेगा और इस संक्रमित बीमारी पर नजदीकी निगरानी रखी जाएगी। हम साथ ही उन उपायों की भी समीक्षा करते रहेंगे जो सभी संबंधित संगठनों के साथ जरुरी होंगे।” प्रवक्ता ने कहा,“इसके अतिरिक्त आईओसी विश्व स्वास्थ्य संगठन और अपने चिकित्सा विशेषज्ञों के लगातार संपर्क में हैं। हमें पूरा विश्वास है कि जापान और चीन में संबंधित अधिकारी स्थिति का सामना करने और उस पर रोक लगाने के लिए जरुरी कदम उठाएंगे।” इससे पहले जापानी सरकार के प्रवक्ता योशिहिदे सुगा ने एक नियमित ब्रीफिंग में कहा कि पाउंड के शब्द आईओसी के आधिकारिक शब्द नहीं है और उन्होंने दोहराया कि आईओसी खेलों को निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार कराने की दिशा में तत्पर है। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...