आतंकवाद का एकजुट होकर मुकाबला करे अंतर्राष्ट्रीय समुदाय: रेड्डी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 13 फ़रवरी 2020

आतंकवाद का एकजुट होकर मुकाबला करे अंतर्राष्ट्रीय समुदाय: रेड्डी

unite-fight-against-torror-kishan-reddy
नयी दिल्ली, 12 फरवरी, केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी ने आतंकवाद को सबका दुश्मन करार देते हुए अंतर्राष्ट्रीय समुदाय से इसका एकजुट होकर मुकाबला करने का आह्वान किया है। श्री रेड्डी ने आज मानेसर में राष्ट्रीय सुरक्षा गारद (एनएसजी) द्वारा आतंकवाद के बदलते आयामों पर आयोजित 20 वें सेमीनार में कहा कि दुनिया भर के देशों को आतंकवाद के कारण आर्थिक और सामाजिक स्तर पर नुकसान उठाना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारत ने आतंकवाद को कतई बर्दाश्त नहीं करने की नीति अपनायी है और इसके परिणाम भी सामने आये हैं । वामपंथी उग्रवाद में कमी आयी है और देश भर में आतंकवाद के कई माड्यूल को ध्वस्त किया गया है। सुरक्षा बलों को नयी पीढी के युद्धों से निपटने के लिए अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी और हथियारों से लैस करने का सुझाव देते हुए उन्होंने कहा कि आतंकवादी माड्यूल नये नये तरीके अपना रहे हैं इसलिए यह जरूरी है। श्री रेड्डी ने अत्याधुनिक विस्फोटक उपकरणों आईईडी का पता लगाने के महत्व पर बल देते हुए कहा कि सुरक्षा बलों के लिए बचाव की प्रणालियों में पारंगत होना जरूरी है। उन्होंने जोर देकर कहा कि आतंकवाद से लड़ने के लिए द्विस्तरीय रणनीति अपनायी जानी चाहिए। आतंकवादी गतिविधियों से पहले ही उनका पता लगाकर कार्रवाई की जाये और दूसरा आतंकवादी संगठनों को अलग थलग करने के लिए वैश्विक स्तर पर समझौता किया जाना चाहिए और उनके संसाधनों पर कुठाराघात किया जाना चाहिए। गृह राज्य मंत्री ने एनएसजी की आईईडी उपकरण को निष्क्रिय करने वाले उपकरण बनाने के संबंध में स्टार्ट अप इंडिया भागीदारी की सराहना करते हुए कहा कि इसका उत्पादन शुरू होने से पूरे देश को फायदा होगा। इस मौके पर उन्होंने नवाचार पुरस्कार भी प्रदान किये। एनएसजी के महानिदेशक अनूप कुमार ने कहा कि भारत और दुनिया के अन्य हिस्सों में आतंकवादी गतिविधियों को उग्रवादी संगठनों के साथ साथ अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर सक्रिय संगठनों द्वारा भी समर्थन दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सेमीनार में अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के प्रतिनिधि आतंकवाद से निपटने के लिए अपने विचार और उसकी रूपरेखा रखेंगे जिससे इस दिशा में मदद मिलेगी।  

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...