विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 13 फ़रवरी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 13 फ़रवरी 2020

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 13 फ़रवरी

म.प्र. में कांग्रस सरकार के द्वारा जनकल्याणकारी कार्यों एवं योजनाओं का प्राथमिकता से शीघ्रता से पूर्ण किये जाने के लिये कार्य कर रही है- विधायक  

vidisha news
विदिशाः-  विदिशा विधायक शशांक भार्गव ने आज विधानसभा क्षेत्र के ग्राम मढ़ीपुर, दीघोरा, करैया आदि ग्रामों का दौरा किया एवं विभिन्न विकास कार्योंेे के भूमिपूजन एवं लोकार्पण कार्यक्रम में उपस्थित हुये। ग्राम मढीपुर में विधायक निधी से स्वीकृत सीमेन्ट कांक्रीट सडक निर्माण कार्य एवं ग्राम दीघोरा में नाली निर्माण कार्य का भूमिपूजन साथ ही ग्राम करैया में बाउण्ड्रीवाल निर्माण कार्य का उद्घाटन किया। इस अवसर पर ग्रामवासियों की विकास संबंधी समस्याओं को एवंज न समस्याओं और शिकायतों के निराकरण हेतु ग्रामवासियों से विस्तृत चर्चा कर समस्याओं के समाधान के लिये आश्वस्त किया। उन्होंने कहा कि म.प्र. में कांग्रेस की सरकार, समाज के हर वर्ग के उत्थान, ग्रामीण क्षेत्र के समग्र विकास के साथ ही विशेष्ज्ञ रूप् से किसानो के कल्याण हेतु हर संभव प्रयास कर बचन पत्र में दिये वादों को पूरा कर रही है, किसान, मजदूर एवं गरीबों के कल्याण हेतु जो कार्य पिछले 15 वर्षाें में नहीं हुये वो कार्य कांग्रेस सरकार ने एक वर्ष में किया है। गौवंश के संरक्षण हेतु गौशालाओ के निर्माण हेतु सामाजिक सुरक्षा पेंशन की राशि में वृद्धि, 100 रूपये में 100 यूनिट बिजली सहित अनेक कल्याणकारी योजनाओं के कार्य प्रारंभ किये है। इस अवसर पर वरिष्ठ कांग्रेस नेता प्रदेश महामंत्री राकेश कटारे जी, श्रीमति रिंकी रघुवंशी, प्रदेश महिला कांग्रेस सेवादल अध्यक्ष, सुरेन्द्र भदौरिया कांग्रेस सेवादल अध्यक्ष, दीवान किरार, अनुज लोधी, संतोष गुर्जर, सुदीप रघुवंशी, महेन्द्र रघुवंशी, सुरेन्द्र लोधी सेक्टर अध्यक्ष, जीवनलाल शर्मा, लीलाधर कुशवाह, राजेश जैन, अशोक राजपूत, नीलम रधुवंशी, विक्की रघुवंशी, कमलेश दांगी, महेन्द्र किरार आदि अनेक कांग्रेस के कार्यकर्ता एवं पदाधिकारी कार्यक्रम में उपस्थित रहे।

प्रेम, करूणा, दया, भाव से जीना सीखे इंसान तो यहीं स्वर्ग: पं. अंकितकृष्ण तेनगुरिया
शुक्रवार को धूमधाम से मनाया जाएगा कृष्ण जन्मोत्सव
विदिशा- ग्राम इमलिया (ढोलखेड़ी) गांव में चल रही सात दिवसीय संगीतमय भागवत कथा मौजूद श्रद्धालुओं को संबोधित करते हुए कथावाचक गौवत्स पंडित अंकितकृष्ण महाराज ने  कथा प्रसंगों में बालक ध्रुव की भक्ति की कथा, कपिल देवहूति संवाद, सती चरित्र, ध्रुव चरित्र, अजामिल उपाख्यान के प्रसंगों पर कथा का वाचन किया, उन्होंने ने कहा कि  मानव और देवताओं के शरीर सामान होते हैं परन्तु ज्ञान ऐसा तत्त्व है जो देवताओं को श्रेष्ठ बनाता है । ईश्वर परम सत्य है, जिस प्रकार तार में बिजली दिखाई नही देती है उसी प्रकार जीवों के शरीर मे विद्यमान परमात्मा भी दिखाई नहीं देता है। लेकिन वह हमेशा हमारी रक्षा के लिए अदृश्य शक्ति के रूप में मौजूद रहता है। बटुकजी महाराज ने कहा कि भक्ति, योग, यज्ञ, दान, तीर्थ और व्रत आदि को सभी धर्मों से श्रेष्ठ समझना चाहिए, प्रेम, करूणा, दया, भाव से जीना सीखे इंसान तो यहीं स्वर्ग है और इसी भाव से जिओगे तो आपका जीवन सफल हो जाएगा और इंसानी जीवन में ही हम यह सब कर सकते हैं, ये भाव हमें जानवरों में देखने को नहीं मिलेंगे । भगवान हर हाल में अपने भक्त की रक्षा करते हैं। जिसने भी अपने जीवन में सच्चे मन से भक्ति की है, वे उसे तार देते हैं। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार कोई अमृत या विष जानकर पिये अथवा अनजाने, उसका फ़ल तो मिलेगा ही। प्रभु से मिलना है तो किसी संत के चरण पकड़ लीजिये, उन्हें छोड़ना नहीं है; निश्चित ही प्रभु-कृपा प्राप्त होगी। इस अवसर पर पं. अंकितकृष्ण के द्वारा गाए भजनों पर कथास्थल पर मौजूद भक्त खुद को थिरकने से नहीं रोक सके । इस अवसर पर आचार्य सतेंद्र शास्त्री, भोपाल से आए आचार्य आकाश दुबे ने मुख्य यजमान से मंत्रोच्चार के साथ विधिविधान से पूजा भी कराई गई। पंडित गणेशराम शर्मा ने बताया कि कथा के चौथे दिन शुक्रवार को प्रहलाद चरित्र,  गजेंद्रमोक्ष,  वामन अवतार, श्री राम जन्म और श्रीकृष्ण जन्मोत्सव के प्रसंगों पर कथा होगी, कथा में कन्हैया का जन्म उत्सव धूमधाम से मनाया जाएगा, साथ ही भगवान के बाल रूप के दर्शन होंगे। कथा प्रतिदिन दोपहर 1 से शाम 4 बजे तक आयोजित हो रही है जिसमें बड़ी संख्या में क्षेत्रवासी भाग ले रहे हैं। बटुकजी महाराज ने कन्हैया के जन्मोत्सव पर पंडाल में मौजूद सभी श्रोताओं से कल पीले वस्त्र धारण कर कथा में आने की अपील की है। अंत में बड़ी संख्या में मौजूद ग्रामीणों ने व्यास गादी की आरती भी उतारी। 

बी पी एवं शुगर की जांच शिविर का आयोजन 

vidisha news
विदिशा। सर्वोदय आनंद क्लब विदिशा के तत्वावधान में आज बी पी एवं शुगर की जांच शिविर का आयोजन श्री साईं  बाबा सेवा समिति (साईं मंदिर) की स्थापना दिवस के उपलक्ष्य में रखा गया । इसमें मुख्य अतिथि विदिशा विधायक  श्री शशांक भार्गव, एवं कनारा क्रिकेट क्लब के सचिव संदीप डोंगर सिंह , सेवा भारती की टीम ,साईं समिति के अध्यक्ष घनश्याम मालवीय ,सर्वोदय आनंद क्लब के सचिव राजीव भार्गव , जिला आनंद सहयोगी विजय श्रीवास्तव एवं डॉ  हेमंत विस्वास के साथ मे राष्ट्रीय शहरी स्वास्थ्य मिशन जिला विदिशा केग से उप जिला कार्यक्रम  प्रबंधक प्रदीप अहिरवाल, कोल्ड चैन प्रभारी शावरी वी उर्मिला वर्मा ANM, NCD कार्यक्रम के अंर्तगत ब्लड शुगर एवं बी पी ली लगभग 110 मरीजों की जांच की गई कार्यकम का संचालन विजय श्रीवस्तव ने किया और आभार व्यक्त घनश्याम मालवीय ने लिया। उदबोधन में विधायक जी ने कहा कि साईं मंदिर परिसर  में  जांच सभी की अच्छी और  स्वस्थ रहने की कामना की।

परीक्षा को पर्व की तरह लें परीक्षार्थी-एनसीपीसीआर अध्यक्ष  तनावमुक्त वातावरण कैसे बनाएं से अवगत हुए

vidisha news
बोर्ड परीक्षा दे रहे परीक्षार्थीगण परीक्षा अवधि में बिना किसी तनाव के परीक्षा दें। परीक्षा को वे पर्व त्यौहार की तरह लें। इत्यादि से अवगत कराने हेतु गुरूवार को एसएटीआई के कैलाश सत्यार्थी सभागृह में एक दिवसीय प्रशिक्षण का आयोजन किया गया था। राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग के अध्यक्ष श्री प्रियंक कानूनगो ने कहा कि परीक्षा को पर्व की तरह परीक्षार्थी लें। इस कार्य में शिक्षकों के साथ-साथ बच्चों के अभिभावक माता-पिता की भी महत्वपूर्ण जबावदेंही है। उन्होंने तनाव के कारण बोर्ड परीक्षा दे रहे परीक्षार्थीगण कई बार ऐसे कदम उठा लेते है जो उचित नही रहते है। उन्होंने परीक्षा में तनावविहिन रहने के लिए आयोग के माध्यम से उठाए गए कदमों पर प्रकाश डालते हुए आयोग की बेवसाइट पर हर रोज  तीस से चार बजे विशेष विशेषज्ञ से सीधे संवाद स्थापित कर सकते है इस कार्य में सोशल मीडिया के माध्यम से उपलब्ध संसाधनो का उपयोग किया जा सकता है। आयोगाध्यक्ष श्री कानूनगो ने परीक्षा में तनाव ना लें इसके लिए प्रधानमंत्री जी ने देश के भविष्य निर्माता युवा पीढी खासकर बोर्ड परीक्षा दे रहें परीक्षार्थियों से मन की बात के माध्यम से चर्चा की है। उन्होंने सकारात्मक सोच से आत्म शक्ति को बढ़ावा देने वाले उपायो को रेखांकित किया। परीक्षा के दौरान बच्चे तनावमुक्त रहे इस कार्य में माता-पिता की भी महती भूमिका है। वे बच्चों के साथ मित्रवर व्यवहार करते हुए प्रतिस्पर्धा जैसे चर्चा ना करें। सकारात्मक महौल परीक्षा के दौरान बने इसके लिए दस फरवरी से शुरू हुई विशेष पहल आयोग की बेवसाइट पर उपलब्ध है। हर रोज राष्ट्रीय स्तर के विषय विशेषज्ञ से निर्धारित अवधि में सम्पर्क कर समाधान प्राप्त कर सकते है। मध्यप्रदेश बाल अधिकार संरक्षण आयोग के सदस्य श्री बृजेश चौहान ने परीक्षा फल के लिए हम सब चिन्तित होते है और अच्छे से अच्छे की अपेक्षा बच्चों से रखते है। उन्होंने संवाद के माध्यम से यह जाने की उनका बच्चा किस विधा में निपुण है उसी विधा क्षेत्र में आगे बढ़ने के लिए बच्चे को प्रेरित करे। उन्होंने कहा कि प्रत्येक बच्चे में कुछ ना कुछ विशेष विशेषज्ञता रहती है जो उसके ज्ञान को रेखांकित करती है हम किसी दबाव में आकर अपने बच्चे की इस विशेषता को नष्ट ना होने दे का ध्यान रखें। आयोग के सदस्य श्री चौहान ने संवाद कैसे हो, बच्चे को कैसे समझाएं के अलावा जेजे एक्ट पर संक्षिप्त प्रकाश डाला। उन्होंने परीक्षा की तैयारियों के दौरान शिक्षा, विद्यार्थी और माता-पिता कैसे तनावमुक्त रहें और परीक्षार्थी का हौंसला अफजाई कैसे करें पर भी गहन प्रकाश डाला और उन्होंने तैयार किए गए ततसंबंध में प्रपत्र की प्रतियां प्रशिक्षणार्थियों को वितरित कराई। जिला पंचायत सीईओ श्री मयंक अग्रवाल ने कहा कि बच्चे तनावमुक्त रहे इस कार्य में सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण भूमिका पेरेन्टस की है। उन्होंने सोयायटी में देखा देखी के कारण प्रतिस्पर्धात्मक चर्चा होने लगती है जो धीरे-धीरे बच्चों के इर्द-गिर्द ही ठहर जाती है। उन्होंने बच्चे अच्छा करें, खूब पढ़ाई करते है, बस थोडा सा हौंसला अफजाई करने से वे जीवन की किसी भी प्रकार की परीक्षा में पीछे नही रहेंगे। कार्यक्रम को एसएटीआई के डायरेक्टर श्री जेएस चौहान ने भी सम्बोधित किया। इससे पहले जिला शिक्षा अधिकारी श्री एसपी त्रिपाठी ने परीक्षा पर्व दो हेतु जिला स्तरीय प्रशिक्षण आयोजन के उद्वेश्यो को रेखांकित किया। प्रशिक्षण में शासकीय, अशासकीय शैक्षणिक संस्थाओं के प्राचार्यगण, गुरूजन के अलावा स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारी मौजूद थे। कार्यक्रम का संचालन डॉ दीप्ति शुक्ला ने किया।  

खुशियों की दास्तां एनआरसी से गंगा जमना तन्दुरूस्त हुई

vidisha news
लटेरी विकासखण्ड के ग्राम लाल टोरा में सहरिया बस्ती में रहने वाले आदिवासी सरस्वती पति जसरथ की जुड़वा पुत्री गंगा, जमना का लालन पालन कर रहे थे पर दोनो बच्चियों में आशा अनुरूप शारीरिक वृद्वि नही हो रही थी लगभग 18 माह की जुड़वा बहनों पर जब गांव की आंगनबाडी कार्यकर्ता एवं आशा कार्यकता की नजर पड़ी तो उन्होंने बच्चियों के माता-पिता को एनआरसी में भर्ती कराने की सलाह दी और वहां से मिलने वाली सुविधाओं से अवगत कराया। बच्चियां तन्दुरूस्त हो इसी अपेक्षा से श्रीमंत माधव राव सिंधिया जिला चिकित्सालय के एनआरसी कक्ष में भर्ती कराए इस दौरान शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ प्रमोद मिश्रा एवं फीडिंग डेमोस्ट्रेटर श्रीमती स्वाति शर्मा ने गंगा जमना की काउंसलिंग की एवं 17 दिसम्बर को एनआरसी में भर्ती कराया। दोनो अतिकुपोषित थी। एनआरसी में हुई देखभाल, जांच उपचार एवं विशेष पोषण आहार मिलने से दोनो बच्चियों के स्वास्थ्य एवं वजन में आशातीत सुधार नजर आने लगा। 14 दिन तक भर्ती के बाद छुट्टी हुई तो दोनो का वजन पहले से बढ़ गया और अब तन्दुरूस्त दिखने लगी थी। पूर्ण स्वस्थ होने पर बच्चियों की मां सरस्वती ने खड़ी भाषा में आभार व्यक्त करते हुए कहा की मारी बेटी के लिए आप भगवान वन बयो। शासन की योजना का लाभ मिलने पर गंगा जमना अन्य सामान्य बच्चों की तरह पूर्ण स्वस्थ है। 

खुशियों की दास्तां कुपोषण से विमुक्त हुए मास्टर अजय

vidisha news
कुरवाई विकासखण्ड के ग्राम मेहलुआ चौराहा के समीप निवासरत श्रीमती आशा पत्नि राकेश अहिरवार का पुत्र अजय पर डोर-टू-डोर सर्वे संबंधी कार्य को अंजाम दे रही आशा कार्यकर्ता श्रीमती सीमा शर्मा ने देखा कि एक दुबला पतला बच्चा खटिया पर लेटा हुआ है उसकी स्थिति को देखते हुए बेधड़क उसके पास पहुंचकर हाथ में उठा लिया और वजन लेने लगी। इसी बीच बच्चे की मां आ गई। तब उन्हें कुपोषित होने जैसे स्थिति से अवगत कराया गया। आशा कार्यकर्ता की पहल पर अजय को एनआरसी में भर्ती कराया गया। जहां नियमित देखभाल और चिकित्सक के द्वारा दी जाने वाली दवा एवं विशेष पोषण आहार का असर हुआ। एनआरसी में भर्ती होने से पहले अजय का वजन दो किलो सौ ग्राम था। लगातार 14 दिनों तक भर्ती रहे अजय का वजन दुगना से अधिक हो गया था। अजय का वजन अब चार किलो 225 ग्राम नापा गया है। एनआरसी के कारण कुपोषित अजय सुपोषित हुए है। वही मजदूरी कर जीवन यापन करने वाले राकेश को योजना के तहत मजदूरी राशि का भी भुगतान किया गया है। अजय को पूर्ण स्वस्थ हो जाने पर माता-पिता ने शासन के प्रति साधुवाद व्यक्त किया। 

एमपी वन मित्र पोर्टल की कार्य प्रणाली से प्रशिक्षित हो रहे है

वन अधिकार अधिनियम 2006 के तहत विकसित किए जा रहे एमपी वन मित्र पोर्टल का विभिन्न स्तर पर वनाधिकारी समिति को सदस्यों को प्रशिक्षित किया जा रहा है। उक्त प्रशिक्षण निर्धारित तिथिवार दो-दो शिफ्टो में कलेक्ट्रेट में स्थिति ई गवर्नेंस कक्ष में जिला स्तरीय मास्टर ट्रेनर्स द्वारा दिया जा रहा है। ई डिस्ट्रिक्ट गवर्नेंस के प्रबंधक श्री निजामुद्दीन शेख के द्वारा गूगल मेप के माध्यम से कम्प्यूटर के माध्यम से प्रशिक्षित किया जा रहा है जिसमें सर्वे करने सहित अन्य बिन्दुओं की जानकारी दी जाएगी। 

प्रायवेट स्कूलों को मान्यता के लिये आवेदन की तिथि 17 फरवरी 

प्रदेश में संचालित प्रायवेट स्कूलों को शिक्षा का अधिकार कानून के अंतर्गत नवीन मान्यता अथवा मान्यता नवीनीकरण के लिए मोबाईल एप से आवेदन करने की अंतिम तिथि 17 फरवरी कर दी गयी है। प्रायवेट स्कूलों की नवीन मान्यता एवं मान्यता नवीनीकरण की संशोधित समय सारणी के अनुसार प्रायवेट स्कूल, नवीन मान्यता अथवा जिन स्कूलों की पूर्व मान्यता शीघ्र समाप्त हो रही है, वे मान्यता नवीनीकरण के लिए मोबाईल एप से 17 फरवरी तक आवेदन कर सकते हैं। संबंधित विकासखंड स्त्रोत केन्द्र समन्वयकों द्वारा 03 मार्च तक स्कूलों का भौतिक सत्यापन कर ऑनलाईन निरीक्षण रिपोर्ट जिला शिक्षा अधिकारी को प्रेषित की जायेगी। जिला शिक्षा अधिकारियों द्वारा प्राप्त मान्यता आवेदनों का 30 मार्च तक निराकरण किया जायेगा। अशासकीय विद्यालयों की मान्यता के लिये मोबाईल एप के माध्यम से ऑनलाइन आवेदन करने की व्यवस्था सत्र 2020-21 से प्रारंभ की गई है। एप के माध्यम से आवेदन करने के लिये प्रायवेट स्कूल मोबाईल फोन का उपयोग कर सकते हैं। इसके लिये उन्हें किसी भी कार्यालय अथवा कियोस्क पर नहीं जाना पडे़गा। 

मार्कशीट में सुधार के लिए ऑनलाइन आवेदन की सुविधा

माध्यमिक शिक्षा मंडल भोपाल की बोर्ड परीक्षा की मार्कशीट में संशोधन या सुधार कराने के लिए विद्यार्थियों या उनके अभिभावकों को अब राजधानी भोपाल के चक्कर नहीं लगाना होंगे। बोर्ड परीक्षा की मार्कशीट में नाम, जन्म तारीख, मीडियम या अन्य कोई सुधार के लिए छात्र-छात्राएं ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगे। यहां ही समन्वय संस्था में दस्तावेज जमा करना होंगे। दरअसल, अभी तक सबसे ज्यादा परेशानी यह थी कि छात्र-छात्राएं आवेदन तो ऑनलाइन तो ऑनलाइन कर देते थे, लेकिन उन्हें दस्तावेज लेकर भोपाल बोर्ड ऑफिस जाना पड़ता था। इन सभी परेशानियों से विद्यार्थियों और उनके अभिभावकों को बचाने के लिए बोर्ड ने नया ओदश जारी किया है। इसमें कहा गया है कि जिले की समन्वय संस्था द्वारा परीक्षा के दौरान ऑनलाइन आवेदन की हार्डकॉपी जमा करवाने से लेकर रोल नंबर, परीक्षा के पेपर, कॉपियों का वितरण किया जाता है। इसके साथ ही अब मार्कशीट संबंधी कार्य भी करेंगे। अब मार्कशीट में संशोधन का कार्य भी जिले की समन्वय संस्था के प्राचार्य देखेंगे। इसके लिए छात्र को ऑनलाइन आवेदन कर दस्तावेज जमा कराना होंगे। यहां से प्राचार्य दस्वावेज देख स्वीकृति देंगे। इससे मार्कशीट में सुधार हो जाएगा। 

बाल श्रम प्रतिषेध अधिनियम का कड़ाई से पालन करें

जिला श्रम अधिकारी जिले में सभी संस्थानों दुकानों एवं रेस्टोरेट संचालको से अपील की है कि वे बाल श्रम प्रतिषेध अधिनियम का कड़ाई से पालन करें। नियाजित किषोर व बालक के अधिकार संरक्षण के लिए श्रम निरीक्षक को नियोजक द्वारा जानकारी देना अनिवार्य है। बाल श्रम निषेध बोर्ड प्रदर्षित करना जिसमें धारा 03 के अंतर्गत किसी भी बालक को संस्थान में कार्य कराना पूर्णतः प्रतिबंधित है। बाल श्रम पाए जाने पर दण्डात्मक प्रावधान बाल एवं कुमार श्रम (प्रतिषेध और विनियमन) अधिनियम 1986 की धारा 14 व 15 कें अंतर्गत अधिकतम दो वर्ष का कारावास या अधिकतम 50 हजार रूपये तक का जुर्माना या दोनो दण्डनीय होगा। धारा 12 के अंतर्गत समस्त संस्थानों के दृष्टिगोचर स्थल पर उक्त सूचना का प्रदर्शन अनिवार्य है। 

विशिष्ट आदिवासी आवासीय विद्यालयों में प्रवेश परीक्षा 28 फरवरी को

आदिम-जाति कल्याण विभाग के अंतर्गत संचालित 123 विशिष्ट आवासीय विद्यालयों में 6वीं और 9वीं कक्षाओं की प्रवेश परीक्षा 28 फरवरी को होगी। परीक्षा के प्रवेश-पत्र विभागीय वेबसाइट पर अपलोड कर दिये गये हैं। विशिष्ट आवासीय विद्यालयों में 28 फरवरी को कक्षा 6वीं की प्रवेश परीक्षा सुबह 11 बजे से दोपहर एक बजे तक और कक्षा 9वीं की परीक्षा दोपहर 3 बजे से शाम 5 बजे तक होगी।

विशेष पिछड़ी जनजातीय कार्य क्षेत्रीय विकास योजना में शामिल
आयुक्त, आदिवासी विकास कार्यालय में विशेष पिछड़ी जनजातियों से संबंधित प्रकोष्ठ के कार्य को संचालनालय आदिम-जाति क्षेत्रीय विकास योजना में स्थानांतरित किया गया है। इस संबंध आदिम-जाति कल्याण विभाग ने आदेश जारी किये हैं। संचालनालय आदिम-जाति क्षेत्रीय विकास योजना द्वारा अब विशेष पिछड़ी जनजाति समूह प्राधिकरण एवं अभिकरण से संबंधित समस्त कार्य सम्पादित किये जायेंगे। 

पंजीयन हेतु 125 केन्द्रो की स्थापना

विदिशा जिले में रबी विपणन 2020-21 में समर्थन मूल्य पर गेंहू चना एवं मसूर उपार्जन हेतु 125 पंजीयन केन्द्रो की स्थापना की गई है इन केन्द्रो के साथ-साथ एमपी किसान मोबाइल एप एमपी ई उपार्जन 2020-21 मोबाइल एप, एमपी ऑन लाइन के कियोस्क केन्द्रों पर किसानो के पंजीयन कार्य जारी है जिसकी अंतिम तिथि 28 फरवरी नियत की गई है।  जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक मर्यादित के सीईओ श्री विनय प्रकाश सिंह ने उपरोक्त जानकारी देते हुए जिले के किसान भाईयों से अनुरोध किया है कि अंतिम तिथि के पूर्व निकटतम पंजीयन केन्द्र पर पहुंचकर अपना पंजीयन जरूर करा लेवें। पंजीयन अवधि समाप्ति के बाद किसानों द्वारा कराए गए पंजीयनों की संख्या के आधार पर आवश्यकता अनुसार खरीदी केन्द्रों की स्थापना की जाएगी। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...