कोरोना वायरस के संक्रमण से देश में चौथी मौत; अब तक कुल 173 मामले - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 20 मार्च 2020

कोरोना वायरस के संक्रमण से देश में चौथी मौत; अब तक कुल 173 मामले

4-died-173-effected-in-india-coronavirus
नयी दिल्ली, 19 मार्च,  देश में कोरोना वायरस के संक्रमण से बृहस्पतिवार को चौथी मौत हुई, जबकि इस वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़ कर 173 हो गई है। वहीं, इस महामारी को फैलने से रोकने के लिये कई राज्यों में पाबंदियां लगाई जाने के चलते वे बंद जैसी स्थिति की ओर बढ़ रही है।  प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रात आठ बजे देश के नाम अपने संबोधन में इस संकट का मजबूती से मुकाबला करने के लिये 22 मार्च को सुबह सात बजे से रात नौ बजे तक ‘‘जनता कर्फ्यू ’’ का आह्वान किया। उन्होंने लोगों से अपील की कि आवश्यक सेवाओं से जुड़े लोगों के अलावा अन्य व्यक्ति इस दौरान घर से बाहर नहीं निकले। उन्होंने कहा कि जनता कर्फ्यू जनता के लिए, जनता द्वारा लगाया गया कर्फ्यू है। कोरोना वायरस के असर और प्रभाव रोकने के लिए सामाजिक दूरी बहुत ही महत्वपूर्ण है। इस बीच, भारत ने 22 मार्च देर रात डेढ़ बजे से सभी अंतरराष्ट्रीय वाणिज्यिक उड़ानों के उतरने पर एक हफ्ते के लिये प्रतिबंध लगा दिया है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि इस वायरस के संक्रमण से पंजाब में पहले और देश में चौथे व्यक्ति की मौत हुई है। यह व्यक्ति मधुमेह और हृदय रोग जैसी बीमारियों का भी सामना कर रहा था।  इस बीच, देर शाम विदेश मंत्रालय ने कहा कि कोरोना वायरस से संक्रमित एक भारतीय की ईरान में मौत हो गई है जबकि इस वायरस से संक्रमित अन्य भारतीय नागरिकों को इलाज मुहैया कराया जा रहा और ईरानी सरकार ने उनका ध्यान रखा है।  मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि मृतक एक बुजुर्ग व्यक्ति है और उसे स्वास्थ्य से जुड़ी समस्याएं थी।  उन्होंने कहा, ‘‘हमने 590 लोगों को ईरान से निकाला है।’’  

छत्तीसगढ़ और चंडीगढ़ में कोरोना वायरस से संक्रमण के पहले मामले आज सुबह दर्ज किये जाने के साथ देश में पिछले चौबीस घंटों में इसके 20 से अधिक नये मामले सामने आये हैं। पंजाब में इस वायरस से संक्रमित एक व्यक्ति की मौत हो गई और राज्य ने नयी पाबंदियां लगाने का फैसला किया है।  इस वायरस के देश भर में फैलना जारी रहने के बीच कश्मीर घाटी सहित देश के कई हिस्से बंद जैसी स्थिति की ओर बढ़ रहे हैं । दरअसल, प्रशासन कई इलाकों में लोगों की आवाजाही पर पाबंदी लगा रहा है और श्रीनगर शहर में सभी सार्वजनिक वाहनों को प्रतिबंधित कर दिया गया है।  पंजाब और दिल्ली भी आंशिक रूप से बंद जैसी स्थिति की ओर बढ़ रहा है। पंजाब सरकार ने शुक्रवार आधी रात से सभी सार्वजनिक परिवहन सेवाएं स्थगित करने और लोगों के जमावड़ों में व्यक्तियों की संख्या 20 से कम करने के अलावा विवाह भवन, होटल और रेस्तरां आदि बंद करने का फैसला किया है। हालांकि, होम डिलीवरी सेवाओं को इससे छूट दी गई है।  दिल्ली में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रेस्तराओं को बंद करने की घोषणा की लेकिन कहा कि टेकअवे (ऐसे रेस्तरां जहां बैठ कर खाने की सुविधा नहीं है) और होम डेलीवरी सेवाएं जारी रहेंगी।  मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘उप राज्यपाल अनिल बैजल ने सभी सरकारी विभागों, स्वायत्त संस्थानों और पीएसयू को गतिविधियां अलग-अलग करने और अनावश्यक सेवाएं स्थगित करने को कहा है।’’  उन्होंने कहा कि अनावश्यक सरकारी सेवाएं शुक्रवार से बंद रहेंगी।  उन्होंने कहा कि पूरी दिल्ली में 20 से अधिक लोगों वाले सामाजिक, सांस्कृतिक और राजनीतिक जमावड़ों की इजाजत नहीं होगी।  उल्लेखनीय है कि समाचार एजेंसी एएफपी के मुताबिक इस वायरस के संक्रमण से 9,020 मौतें हुई हैं जबकि विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार 8,648 लोगों की मौत हुई है। वहीं, दो लाख से अधिक लोग संक्रमित हुए हैं।  केंद्र सरकार ने 22 मार्च से 29 मार्च तक देश में आने वाली सभी अंतरराष्ट्रीय वाणिज्यिक उड़ानों को प्रतिबंधित कर दिया है।  केंद्र सरकार ने राज्यों से निजी क्षेत्र के कर्मचारियों को घर से काम करने की सुविधा देने का अनुरोध किया है। इनमें वे कर्मचारी शामिल नहीं हैं जो आपात एवं आवश्यक सेवाओं में काम करते हैं।  सरकार के बयान में कहा गया है, ‘‘राज्य सरकारें उपयुक्त निर्देश जारी करें, ताकि जन प्रतिनिधियों या सरकारी सेवकों या मेडिकल पेशेवरों को छोड़ कर 65 वर्ष से अधिक उम्र के सभी नागरिकों (मेडिकल सहायता पाने वालों को छोड़ कर) को घरों में ही रहने की सलाह दी जाए। ’’ 

नागर विमानन महानिदेशालय ने कोरोना वायरस संक्रमण के प्रसार के मद्देनजर कहा है कि 22 मार्च देर रात डेढ़ बजे के बाद किसी भी व्यावसायिक अंतरराष्ट्रीय उड़ान को भारत की धरती पर किसी भी यात्री... विदेशी या भारतीय... को उतारने की अनुमति नहीं होगी। एक सरकारी आदेश में कहा गया है कि इसी तरह 10 साल से कम उम्र के सभी बच्चों को घरों में रहने और बाहर नहीं निकलने की सलाह दी जाती है। इस वायरस को फैलने से रोकने की अपनी कोशिशों के तहत केंद्र सरकार ने अपने 50 फीसदी कर्मचारियों को घर से काम करने की इजाजत दी है और शेष कर्मचारी तीन समूहों में अलग-अलग अवधि के लिये रोजाना कार्यालय आएंगे। कार्मिक मंत्रालय के एक आदेश में बृहस्पतिवार को इस सिलसिले में निर्देश जारी किये गये।  भारतीय रेल ने अनावश्यक यात्रा टालने के लिये रोगियों, छात्रों और दिव्यांगजन श्रेणी के लोगों को छोड़ कर सभी रियायती टिकटें 20 मार्च आधी रात से अगले आदेश तक स्थगित करने का फैसला किया है। वहीं, निजी एयरलाइन इंडिगो ने वरिष्ठ कर्मचारियों के वेतन में कटौती करने की घोषणा की है जिसके तहत इसके सीईओ के वेतन में सर्वाधिक 25 फीसदी की कटौती की जाएगी।  गौरतलब है कि इस महामारी से विमानन उद्योग बुरी तरह से प्रभावित हुआ है।  केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, देश में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 173 हो गयी है। इनमें 25 विदेशी नागरिक... 17 इटली के, तीन फिलीपीन के, दो ब्रिटेन और कनाडा, इंडोनेशिया तथा सिंगापुर का एक-एक नागरिक हैं। इन आंकड़ों में अभी तक पंजाब, दिल्ली, महाराष्ट्र और कर्नाटक में एक-एक व्यक्ति की हुई मौतें भी शामिल हैं। महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने आगाह किया है कि राज्य में अप्रैल में संक्रमण के मामले बढ़ सकते हैं। 

दिल्ली में अभी तक एक विदेशी नागरिक सहित कुल 12 मामलों की पुष्टि हुई है। महाराष्ट्र में तीन विदेशियों सहित 47 मामले आए हैं। उत्तर प्रदेश में 19, केरल में दो विदेशियों सहित 27, कर्नाटक में 14, लद्दाख में आठ, जम्मू-कश्मीर में चार और तेलंगाना में दो विदेशियों सहित छह मामलों की पुष्टि हुई है। राजस्थान में दो विदेशियों सहित सात, तमिलनाडु तीन और पंजाब में दो, आंध्र प्रदेश, ओडिशा, उत्तराखंड, पश्चिम बंगाल, पुडुचेरी और चंडीगढ़ में एक-एक मामलों की पुष्टि हुई हैं वहीं हरियाणा में 14 विदेशी नागरिकों सहित 17 मामलों में संक्रमण की पुष्टि हुई है। असम के बारपेटा जिले में आज सीआरपीसी की धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लगा दी गयी है। इसके तहत जिले में अब पांच से ज्यादा लोग एक साथ एकत्र नहीं हो सकते हैं। कर्मचारी चयन आयोग (एसएससी) ने इन दिनों चल रही संयुक्त उच्चतर माध्यमिक (10+2) स्तर की परीक्षा (टियर-1), 2019 सहित सभी भर्ती परीक्षाएं स्थगित कर दी हैं। वहीं, काउंसिल फॉर द इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जामिनेशन (सीआईएससीई) ने बृहस्पतिवार से होने वाली 10 वीं और 12 वीं की परीक्षाएं आखिरी क्षणों में टाल दी हैं। इस बीच, मुंबई में टिफिन सेवा प्रदान करने वाले ‘डब्बावाला’ ने कहा कि उन्होंने शुक्रवार से 31 मार्च तक अपनी सेवाएं स्थगित कर दी है।  केरल की एलडीएफ सरकार ने मौजूदा संकट से उबरने के लिये 20,000 करोड़ रुपय की वित्तीय सहायता की घोषणा की है। इसमें 500 करोड़ रुपये का स्वास्थ्य पैकेज और 2,000 करोड़ रुपये का रिण तथा मुफ्त राशन भी शामिल है। आंध्र प्रदेश में तिरूपति के पास तिरूमला स्थित भगवान वेंकेटेश्वर के मंदिर और अन्य सभी मंदिर श्रद्धालुओं के लिये बंद रहेंगे जबकि राज्य में मॉल, सिनेमा मॉल 31 मार्च तक बंद रहेंगे। राज्य सरकार ने बृहस्प्तिवार को यह घोषणा की।  दक्षिण दिल्ली के सुंदर नगर मार्केट को 31 मार्च तक बंद कर दिया गया है। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...