स्वास्थ्य सह आपदा प्रबंधन मंत्री की अध्यक्षता में पदाधिकारियों के साथ प्रमंडल स्तरीय बैठक - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 15 मार्च 2020

स्वास्थ्य सह आपदा प्रबंधन मंत्री की अध्यक्षता में पदाधिकारियों के साथ प्रमंडल स्तरीय बैठक

कोरोना वायरस के संक्रमण के रोकथाम हेतु पदाधिकारियों को  दिये आवश्यक दिशा-निर्देश
helth-minister-meeting-jamshedpur
जमशेदपुर (आर्यावर्त संवाददाता) केंद्र सरकार द्वारा कोरोना वायरस के मद्देनजर राष्ट्रीय आपदा घोषित किए जाने के उपरांत कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने हेतु प्रमंडल स्तरीय बैठक आज जमशेदपुर परिसदन में माननीय मंत्री स्वास्थ्य, चिकित्सा शिक्षा, परिवार कल्याण एवं आपदा प्रबंधन विभाग, झारखंड सरकार श्री बन्ना गुप्ता द्वारा की गयी। माननीय मंत्री द्वारा बैठक में उपस्थित पदाधिकारियों को इस संबंध में आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गये।माननीय मंत्री ने कहा कि कोरोना वायरस के मद्देनजर सुरक्षा एवं सावधानियां जरूरी है। भारत सरकार ने इस संबंध में दिशा-निर्देश जारी किए हैं। माननीय मंत्री ने कहा कि झारखंड सरकार भी सुरक्षा मानकों को चुस्त-दुरुस्त करने हेतु आवश्यक कदम उठा रही है। उन्होंने कहा कि सार्वजनिक एवं प्राइवेट चिकित्सा संस्थानों से आवश्यक सहयोग एवं समन्वय की अपेक्षा है। इस दौरान प्राइवेट चिकित्सा संस्थानों के प्रतिनिधियों के विचारों से भी माननीय मंत्री अवगत हुए। उन्होंने इस संदर्भ में ग्रामीण क्षेत्र एवं स्लम एरिया में भी साफ-सफाई तथा व्यापक स्तर पर जागरूकता लाने हेतु निदेशित किया। मेडिकल वेस्ट प्रबंधन पर भी कार्य करने की बात कही, उन्होंने कहा कि अगर निजी संस्थाएं इस पर आगे आना चाहती हैं तो सरकार उन्हें प्रोत्साहित करेगी। सार्वजनिक स्थलों, स्कूल, कॉलेज, मॉल सिनेमाघर आदि के संबंध में उन्होंने कहा कि सरकार अपनी स्थिति जल्द स्पष्ट करेगी। उन्होने कहा कि माननीय मुख्यमंत्री इस विषय को लेकर काफी संवेदनशील हैं। माननीय मंत्री ने सिविल सर्जन को लगातार संबंधित चिकित्सा संस्थानों से संवाद स्थापित करने को कहा है साथ ही आवश्यकता पड़ने पर चिकित्सकीय सामग्रियां उपलब्ध कराने हेतु निदेशित किया। माननीय मंत्री ने उपायुक्त को चिन्हित अस्पतालों के अतिरिक्त अलग से आइसोलेशन वार्ड हेतु स्थल चिन्हित करने को कहा। जेल अधीक्षक को जेल में  आइसोलेशन वार्ड बनाने एवं कैदियों से मुलाकात को फिलहाल बंद करने का निर्देश दिया। सभी सम्बंधित पदाधिकारियों का मोबाइल नंबर  डिस्प्ले करने का भी निर्देश दिया गया। ड्रग डायरेक्टर को निर्देश दिया कि मेडिकल सामग्रियों की जांच जारी रखेंगे तथा मास्क एवं अन्य आवश्यक सामग्रियों के कालाबाजारी के रोकथाम हेतु विधि सम्मत कार्रवाई करने की बात कही। माननीय मंत्री ने कहा कि झारखंड जल, जंगल, जमीन पर आधारित है। यह संकट प्रकृति के विरुद्ध कार्य करने पर आई है जबकि हम लोग प्रकृति के पूजक कर रहे हैं। कोरोना वायरस को लेकर जागरूकता लाने की जरुरत है, पैनिक करने की आवश्यकता नहीं है। हमें ध्यान बस यह देना है कि सावधानियां बरती जाए।

आपदा प्रबंधन के साथ मिलकर स्वास्थ्य विभाग काम करेगा
स्वास्थ्य कर्मियों के लिए ट्रेनिंग की व्यवस्था तथा मेडिकल किट उपलब्ध कराने के दिए निदेश ग्रामीण तथा स्लम क्षेत्रों में कोरोना वायरस के प्रति जागरूकता हेतु सम्बंधित पदाधिकारियों एवं कर्मियों को दिए आवश्यक दिशा-निर्देश शहर के आसपास कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों हेतु आईशोलेशन वार्ड चिन्हित करने के दिए निर्देश

जिला स्तर पर कंट्रोल रूम
बैठक में उपायुक्त, पूर्वी सिंहभूम श्री रविशंकर शुक्ला,सिविल सर्जन(पूर्वी सिंहभूम), अपर उपायुक्त पूर्वी सिंहभूम/सराईकेला/चाईबासा, अपर जिला दंडाधिकारी(विधि व्यवस्था-पूर्वी सिंहभूम), जिला परिवहन पदाधिकारी, जिला जनसंपर्क पदाधिकारी, टाटा ग्रुप तथा अन्य निजी संस्थानो के प्रतिनिधि, प्रमंडल स्तरीय सम्बंधित पदाधिकारी तथा अन्य उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...