चीन-पाकिस्तान के वक्तव्य को भारत ने किया खारिज - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 18 मार्च 2020

चीन-पाकिस्तान के वक्तव्य को भारत ने किया खारिज

india-reject-china-pakistan-statement
नयी दिल्ली 17 मार्च, भारत ने चीन और पाकिस्तान के संयुक्त वक्तव्य में जम्मू-कश्मीर का जिक्र किये जाने की मंगलवार को कड़ी निन्दा करते हुए पाकिस्तान के कब्जे वाले जम्मू कश्मीर के हिस्से में चीन की सभी गतिविधियों को अवैध करार देते हुए उन्हें बंद करने को कहा है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने यहां संवाददाताओं के सवालों के जवाब में कहा,“हम पाकिस्तानी राष्ट्रपति के हालिया चीनी दौरे के दौरान कश्मीर को लेकर चीन और पाकिस्तान के संयुक्त वक्तव्य को खारिज करते हैं। केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा है और इससे संबंधित मुद्दे भारत का अंदरुनी मामला है। हम उम्मीद करते हैं कि चीन सहित अन्य देश भारत के आंतरिक मामले पर टिप्पणी नहीं करेंगे और भारत की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता का वैसे ही सम्मान करेंगे जैसे भारत अन्य देशों के आंतरिक मुद्दों पर टिप्पणी करने से बचता रहा है।” श्री कुमार ने कहा,“वहीं दूसरी ओर भारत कथित अवैध ‘चीन पाकिस्तान आर्थिक गलियारे’ परियोजनाओं पर चीन और पाकिस्तान दोनों के लिए अपनी चिंताओं को दोहराता है और उनकी कड़ी आलोचना करता है जो कि भारत के क्षेत्र में है और 1947 से पाकिस्तान के अवैध कब्जे में है। भारत पाकिस्तान के कब्जे वाले जम्मू-कश्मीर में यथास्थिति को बदलने के लिए अन्य देशों द्वारा की गयी किसी भी कार्रवाई का विरोध करता है। इस तरह की अवैध गतिविधियों को भारत कभी स्वीकार नहीं करेगा।” 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...