जमशेदपुर: लोगों ने बजाई ताली-थाली, घंटी और शंख, जिम्मेदारी निभानेवालों का बढ़ाया उत्साह - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 22 मार्च 2020

जमशेदपुर: लोगों ने बजाई ताली-थाली, घंटी और शंख, जिम्मेदारी निभानेवालों का बढ़ाया उत्साह

जमशेदपुर में रविवार को शाम 5 बजे शहर लोगों ने ताली, थाली, घंटी और शंख बजाकार जिम्मेदारी निभाने वालों का उत्साह बढ़ाया. इसमें महिलाएं पुरुष और बच्चे भी शामिल हुए
jamshedpur-welcome-janta-curfew
जमशेदपुर (आर्यावर्त संवाददाता) : रविवार को जनता कर्फ्यू के दिन शाम 5 बजे शहर में लोगों ने अपने घरों से बाहर निकलकर ताली, थाली, घंटी और शंख बजाया. लोगों का कहना है कि जनता कर्फ्यू के दौरान जिन लोगों ने अपनी सेवाएं दी हैं, उनका हम अभिवादन कर रहे हैं. देश में करोना को लेकर भय का माहौल है, जिसे देखते हुए देश के प्रधानमंत्री ने 22 मार्च को जनता कर्फ्यू की अपील की थी. उन्होंने यह भी कहा था कि जनता कर्फ्यू के दिन शाम 5 बजे लोग अपने घरों की खिड़की, दरवाजे और बाहर निकलकर ताली, थाली, घंटी और शंख बजाएं. इससे जनता कर्फ्यू के दौरान सेवा दे रहे लोगों का मनोबल बढ़ेगा. जमशेदपुर में लोगों ने शाम के 5 बजते ही अपने घरों के खिड़की, दरवाजे पर आकर घंटी बजाने लगे. इसमें महिलाएं पुरुष और बच्चे भी शामिल हुए, लोगों का कहना है कि जनता कर्फ्यू के दिन देश में अपनी जिम्मेदारी निभाने वाले डॉक्टर, प्रशासनिक अधिकारी और पत्रकारों के लिए उन्होंने ताली, थाली, घंटी और शंख बजाकर उनका अभिवादन किया है और उनका उत्साह बढ़ाया है.

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...