झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 18 मार्च - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 18 मार्च 2020

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 18 मार्च

जो हरी का भजन नही करता उसका साथ छोड देना चाहिए - पण्डित कमलकिशोर नागरजी

jhabua news
पारा । समिपस्थ ग्राम झुमका मे चल रही सात दिवसीय पण्डित कमलकिशोर जी नागर कि श्रीमद भागवत कथा मे आज पांचवे दिन भगवान श्रीकृष्ण कि बाल लिलाओ का वर्णन करते हुए श्रीकृष्ण भगवान के विरुद्ध विभिन्न धर्मो द्वारा फलाई जारही भ्रांतियो को दुर करने का प्रयास किया। भागवत कथा के पांचवे दिन श्री नागर जी महाराज ने भगवान श्रीकृष्ण कि बाल लिलाओ का वर्णन किया ।कि तरह से गांेपीया उनकी लिलाओ से परेषान होकर माता यशोदा से उनकी शिकायत करती थी। बाद जब भगवान कृष्ण ने पुतना का वध किया व कालिया नाग का मान मर्दन किया तब गोपीयो सहीत नंदगांव वसीयो को लगा कि यह कोई साधारण बालक नही हे। तब सभी लोग उनको पुजने लगें। इन्द्र को भी यह मालुम नही था कि कृष्ण देव अवतार हे। बाद मे जब श्रीकृष्ण भगवान ने गोवर्धन पर्वत उठाया तब इन्द्रदेव ने उनसे माफि मांगी । कृष्ण जब वृंदावन छोड कर जाने लगे । तब गोपीयो सहीत ग्राम वासी नदो रथ के सामाने सोगए व नही जाने की जिद करने लगे।  श्री नागर जी ने कहा कि आज कल दुसरे धर्म के लोग श्रीकृष्ण की रास लिलाओ को लेकर भ्रांतिया फेला रहे कृष्ण तो सभी के साथ रास रचाते थै। ओरतो के साथ रास रचाने वाला भगवान केसे हो सकता हे। नागरजी ने उस का जवाब देते हुवे कहा कि जिस तरह एक झुमके मे कई चाबिया रखी जाती हे उसी तरह गोपीयो को उन्हाने अपने भक्ति मे बांध कर रखा है यही उनकी लिला हैं।  श्री नागर जी ने कहा कि जो भी इस कथा को सुनता हे वह जिवन मरण के चक्कर से छुट जाता है। गाय भी गाती हे इसीलए कृष्ण ने गायो के साथ जंगल मे जाना स्विकार किया। गाय कथा गाती थी व कृष्ण उसे सुनते थै। उपस्थित सभी धर्म प्रेमी जनो से कहा कि जब तक पृथ्वी पर आदिवासी हे तब तक सभी को रोटी मिलती रहेगी। जिस दिन आदिवासी नही रहेगा। हमको रोटी मिलना बंद हो जायगी।  जो रुखीसुखी खाता हें वह सुखी रहता हे। जिसमे ज्ञान हे वह हमेशा पुजा जायेगा। इसलिए भगवत सत्ता का ज्ञान प्राप्त करो। हमेशा भगवान का भजन करो। जो भगवान का भजन नही करता हे उसके साथ नही रहना चाहिए। श्रद्धालु निकाल रहे प्रभात फेरी-- पण्डित कमलकिशोर नागर जी कि कथा बाहर से आए श्रद्धालु जन प्रति दिन पारा नगर मे भगवान श्रीकृष्ण के नाम का संर्कितन करते हुए प्रभात फेरी निकाल रहै। श्रद्धालुजन सुबह 7 बजे लगभग मे भगवान का संर्कितन करते हुए पारा नगर मे प्रवेश करते हे व पुरे नगर कि गली गली मे भ्रमण करते हुवे गुजरते हे जिससे नगर का वातावरण भक्ति मय होगया हे। वही पारा नगर के धर्म प्रेमी बंधु भी प्रभात फेरी मे आए सभी श्रद्धालुओ को प्रति दिन स्वल्पाहार करवा कर पुण्य अर्जित कर रहे हे।

कोरोना वायरस को लेकर फैली नगर में अफवाह - लोगों में भय का माहौल

jhabua news
थांदला। नगर में बीती रात सोशल मीडिया पर कोरोना वायरस के मरीज होने की खबर ने नगर में भय का माहौल पैदा कर दिया। बताया जाता है कि इस तरह की खबरीं को लेकर जब हमने सीधे थांदला ब्लॉक मेडिकल अधिकारी एवं कोरोना के लिये बनाये गए दल के नोडल अधिकारी डॉक्टर अनिल राठौर से बात की तब उन्होंने कहा कि अभी तक जिलें में कही पर भी इस तरह का कोई भी मरीज है। सोशल मीडिया पर भ्रामक व झूठी अफवाह फैलाई गई है।उन्होंने नगर की जनता से भी अपील की है कि आप किसी भी प्रकार की भ्रामक व झूठी गलत जानकारी सोशल मीडिया पर ना फैलायें। उन्होंने सख्त लहजे में कहा कि ऐसे शरारती तत्वों पर कानूनी कार्यवाही की जाना चाहिए इसलिये बेहतर होगा कि बिना तथ्यात्मक सही जानकारी लिये बिना कोई भी गलत खबरें सोशल मीडिया पर डालकर भय का वातावरण निर्मित करता है तो उसके नाम व नम्बर के साथ आप हमारे हेल्पलाइन नम्बर, सीधे जिला अधिकारी अथवा  8305392433 पर मुझे बतायें। डॉ राठौर ने कहा कि जिला कलेक्टर व जिला स्वास्थ्य अधिकारी के निर्देशन में थांदला सिविल हॉस्पिटल में कोरोना वायरस से बचाव की पर्याप्त सुविधा उपलब्ध है। फिलहाल ऋतु परिवर्तन से वायरल इन्फेक्शन के लक्षण से इनकार नही किया जा सकता लेकिन फिर भी यदि किसी को लंबे समय से खाँसी, गले में खराश व बुखार है तो उसे अपनी जाँच अवश्य कराना चाहिए।

शोक निवारण कार्यक्रम में कोरोना वायरस से बचाव के लिये मास्क बाँटे
थांदला। पूरी दुनिया कोरोना वायरस की महामारी से जूझ रही है। शासन प्रशासन भीड़ का हिस्सा नही बनने की सलाह दे रही है तो अनेक आयोजन रद्द किए जा चुके है। यहाँ तक कि स्कूल, कॉलेज, शासकीय कार्यालय व मन्दिर भी इससे अछूते नही रहे है व अनिश्चितकाल के लिए बंद किये गए है लेकिन किसी समाज में होने वाली मृत्यु के कार्यक्रम को रोका नही जा सकता। हाल ही में कुछ मौत पर निकलने वाली शवयात्रा में भी कोरोना का कहर साफ दिखाई देने लगा है यही कारण है कि शवयात्रा में शामिल जन अपने चेहरे पर मास्क लगाए शामिल हो रहे है। कोरोना के कहर को दृष्टिगत रखते हुए आज इंदौर में स्व.श्रीमती जानीबाई हुकमीचंदजी नागर थांदला वाले की पगड़ी रस्म कार्यक्रम में स्व. श्रीकृष्णकांतजी नागर की छठी पुण्यतिथि के अवसर पर उनके पुत्र किराना व्यापारी मनोज नागर थांदला द्वारा मास्क वितरित किया गया।

अवैध शराब की तस्करी  - बोलेरो वाहन पलटा चालक की मौके पर मौत एक घायल एक फरार

 पेटलावद। बीती रात बोलेरो क्रमांक एम़ पी 43 जी 1612 का सारंगी के समीप नवापाड़ा के पास पलटी खाकर नीचे गिर गई । बोलेरो में संजय पिता हरिराम , सुरेश निवासी हवारूंडा व मनीष नामक तीन व्यक्ति थे। उक्त जानकारी सारंगी चोकी पर मिलने से तुरन्त चैकी प्रभारी समेत अन्य ऑफिसर घटना स्थल पर पहुंचे। बताया जाता है कि उक्त वाहन से लम्बे समय से अवैध शराब बियर आदि की तस्करी की जाती थी। पुलिस ने अवैध शराब जोकि प्रेसिडेंट बीयर और बोलेरो को जप्त कर लिया है। साथ ही मनीष अभी घायल अवस्था में पेटलावद हॉस्पिटल में भर्ती है और सुरेश की घटना स्थल पर ही मौत हो गई  है जबकि संजय फरार बताया जा रहा है। देखना यह है कि इस अवैध शराब तस्करी में कितने रसूखदार शामिल है व कौन कौन प्रशासनिक अधिकारी व जनप्रतिनिधियों का संरक्षण प्राप्त है। क्या पुलिसिया कार्यवाही सही नतीजे तक पहुँच पाएगी या फिर ठन्डे बस्ते में दब कर रह जायेगी। फिलहाल हम इसकी तह तक जाने का प्रयास कर रहे है।

कोरोना वायरस से रोकथाम के लिए जिला आयुर्वेदिक चिकित्सालय एवं औषधालयों से निःषुल्क दवाईयों का वितरण एवं आयुर्वेदिक काढ़े का सेवन जारी
दूसरा षिविर जिला आयुर्वेदिक चिकित्सालय पर 19 मार्च को, अधिकाधिक लाभ लेने का आव्हान 
झाबुआ। आयुष विभाग मप्र शासन भोपाल से प्राप्त निर्देष पर जिले में आयुष विभाग द्वारा कोरोना वायरस जैसी जानलेवा बिमारी से निजात हेतु कारगर कदम उठाए जा रहे है। इसी के तहत आयुष विभाग द्वारा जिला आयुष अधिकारी डाॅ. मीना भायल के मार्गदर्षन में संपूर्ण जिले में जिला मुख्यालय झाबुआ स्थित जिला आयुर्वेंदिक चिकित्सालय सहित जिले के सभी औषधालयांे से कोरोना से बचाव हेतु दवाईयों का वितरण करने के साथ ही षिविरों के माध्यम से लोगों को आयुर्वेदिक काढ़े का सेवन भी करवाया जा रहा है ज्ञातव्य रहे कि एक ओर इन दिनों जहांें मौसम परिवर्तन से मौसमी बिमारियों सर्दी-जुखाम, बुखार, उल्टी-दस्त का प्रकोप तेजी से बढ़ा है, तो इसी बीच संपूर्ण देष सहित दुनिया में कोरोना जैसी भयावह बिमारी ने भी पैर पंसार दिए है, झाबुआ जिले में इस बिमारी से बचाव हेतु जिला आयुष विभाग द्वारा आवष्यक प्रयास किए जा रहे है। जिला आयुर्वेदिक चिकित्सालय के प्रभारी डाॅ. दिपेष कठोता ने बताया कि  मप्र शासन भोपाल से जारी एडवाईजरी अनुसार संपूर्ण जिले में औषधालयों में निःषुल्क रूप से आयुर्वेदिक दवाईयों का वितरण कार्य जारी होने के साथ पिछले दिनों 13 मार्च को जिला आयुर्वेदिक चिकित्सालय ं पर षिविर का आयोजन कर विषेष रूप से कोराना वायरस से रोकथाम के लिए बनाया गया आयुर्वेदिक काढ़े का सेवन षिविर में आने वाले लोगांे को करवाया था। इस दौरान सुबह 10 से दोपहर 12 बजे तक षिविर आयोजित कर 212 षिवरार्थियों ने आयुर्वेदिक काढ़े का सेवन किया। इसके अतिरिक्त ग्रामीण क्षेत्रों में भी घर-घर जाकर चिकित्सालयीन स्टाॅफ द्वारा दवाई वितरण करने एवं काढ़े का सेवन करवाने का कार्य जारी है।

काढ़े का सेवन करने से वायरस का इफेक्ट कम हो जाता है
आगे जानकारी देते हुए जिला आयुर्वेदिक चिकित्सालय के प्रभारी डाॅ. दिपेष कठोता ने बताया कि यह आयुर्वेदिक काढ़ा विषेष औषधियों से कोरोना वायरस से रोकथाम के लिए तैयार किया गया है। यह आयुर्वेदिक दवाई एवं काढ़ा कोरोना वायरस की दवा नहीं है, लेकिन इससे शरीर के इम्यूनिटी सिस्टम पर प्रभाव पड़ता है। यह रोग प्रतिबंधात्मक उपचार है। इसका सेवन करने से वायरस का शरीर पर इफेक्ट होने की संभावना कम हो जाती है।  

19 मार्च को होगा दूसरा षिविर
जिला आयुष अधिकारी डाॅ. मीना भायल के मार्गदर्षन में दूसरा आयुर्वेदिक काढ़े के सेवन का षिविर 19 मार्च, गुरूवार को स्थानीय आफिसर्स काॅलोनी स्थित जिला आयुर्वेदिक चिकित्सालय पर होने के साथ जिले के सभी औषधालयों पर भी होगा। जिसका समय सुबह 10 से दोपहर 12 बजे तक रहेगा। जिसमें चिकित्सालयीन स्टाॅफ द्वारा षिविर में आने वाले लोगों को काढ़े का सेवन करवाते हुए चिकित्सकों द्वारा आवष्यक परामर्ष भी प्रदान किया जाएगा। चिकित्सालय प्रभारी डाॅ. दिपेष कठोता ने इस षिविर में समस्त जिलेवासियों से अधिक से अधिक संख्या में पधारकर लाभ लेने हेतु अपील की है।

कोरोना वायरस से निजात के लिए रोटरी क्लब ‘मेन’ झाबुआ एवं डाॅ. मुक्ता होम्योपैथिक क्लिनिक ने गोपाल काॅलोनी में लगाया षिविर
6 घंटे में 1 हजार से अधिक लोगांे ने करवाया पंजीयन, निःषुल्क होम्योपैथिक गोलियों के पैक का किया गया वितरण 
jhabua news
झाबुआ। कोरोना वायरस जैसी भयावह एवं जानलेवा बिमारी से इन दिनों पूरे देष सहित दुनिया में संकट बना हुआ है। झाबुआ जिले में भी यह बिमारी ना फैले एवं इससे रोकथाम हो सके, इस हेतु रोटरी क्लब ‘मेन’ झाबुआ एवं डाॅ. मुक्ता होम्योपैथिक क्लिनिक के संयुक्त तत्वावधान में 17 मार्च, मंगलवार को स्थानीय गोपाल काॅलोनी में क्लिनिक पर षिविर का आयोजन किया गया। जिसमें शहरी सहित ग्रामीण क्षेत्रांे के 1 हजार से अधिक लोगों ने सहभागिता करते हुए े कोरोना वायरस से बचाव हेतु निःषुल्क रूप से जहां होम्योपैथिक गोलियां प्राप्त की, वहीं उन्हें इस दौरान षिविर संचालक डाॅ. मुक्ता त्रिवेदी द्वारा आवष्यक परामर्ष भी प्रदान किया गया। शिविर का शुभारंभ रोटरी मंडल 3040 के पूर्व सहायक मंडलाध्यक्ष एवं वरिष्ठ रोटेरियन यषवंत भंडारी, डिस्ट्रीक्ट 3040 के सचिव उमंग सक्सेना, वरिष्ठ रोटेरियन जयेन्द्र बैरागी, एमएल फुलपगारे, शषिकला त्रिवेदी, आषा त्रिवेदी एवं क्लब अध्यक्ष हिमांषु त्रिवेदी तथा सचिव मनोज अरोरा ने किया। शुभारंभ अवसर पर संबोधित करते हुए वरिष्ठ रोटेरियन श्री भंडारी ने कहा आज कोरोना वायरस जैसी बिमारी पूरी दुनिया में फैली हुई है। भारत देष में इसका प्रकोप अब बड़े शहरांें दिल्ली, मंुबई के साथ केरल, असम एवं उड़ीसा राज्यों के शहरों में भी देखने को मिला है, जहां इसके मरीज पाए गए है। इस बिमारी से ग्रसित कई व्यक्तियों की मृत्यु भी हो चुकी है, वहीं कई इस भयावह एवं जानलेवा बिमारी से अभी भी जूझ रहे है। पड़ोसी जिले रतलाम, धार के साथ झाबुआ जिले के थांदला में भी विदेष से आए एक व्यक्ति में इसके लक्षण पाए गए है, जिसका प्राथमिक उपचार जिला चिकित्सालय में होने के पश्चात् दाहौद (गुजरात) मे ंभर्ती किया गया है।

जानलेवा बिमारी से होगी रोकथाम
षिविर संचालक डाॅ. मुक्ता त्रिवेदी ने उपस्थित षिविरार्थियों को जानकारी देते हुए बताया कि आज यह निःषुल्क षिविर संपूर्ण जिले के लोगों के लिए आयोजित किया गया है। जिसका उद्देष्य आपको ंएवं आपके परिवार के सदस्यांे को कोरोना वायरस जैसी जानलेवा बिमारी ना हो, इस हेतु होम्योपैथिक गोलियां वितरित की जाएगी। जिसका तीन दिन तक सेवन करने से इस बिमारी के वायरस आप में नहीं फैलेंगे और आप सुरक्षित तथा स्वस्थ रहेंगे। संबोधित करते हुए रोटरी मंडल के डिस्ट्रीक्ट सचिव उमंग सक्सेना ने षिविर में दी जा रहीं होम्योपैथिक गोलीयों का डोज अनुसार सेवन कर कोरोना वायरस जैसी गंभीर बिमारी से बचाव पाने हेतु आव्हान किया। संचालन रोटरी क्लब अध्यक्ष हिमांषु त्रिवेदी ने किया।

6 घंटे में 1 हजार से अधिक लोगों का पंजीयन
बाद षिविर आरंभ हुआ। जिसमें चिकित्सक एवं षिविर संचालक डाॅ. मुक्ता त्रिवेदी ने शहर सहित विषेषकर ग्रामीण क्षेत्रों से बड़ी संख्या में आए बड़े, बुजुर्ग, युवाओं के साथ बच्चों को होम्योपैथिक गोलियों का वितरण करते हुए उन्हें गोलियों के सेवन का परामर्ष देते हुए बताया कि आपको यह गोली का डोज (डिब्बी) प्रदान की जा रहंी है। जिसमें से बड़ो को प्रतिदिन सुबह भोजन करने से पूर्व खाली पेट 3 गोली लेना है एवं बच्चांे को पानी के साथ सुबह खाली पेट 4 गोलियां दी जाना है। 3 दिन तक लगातार इसका सेवन किया जाना है, जिससे कोरोना वायरस से रोकथाम हो सकेगी।

2 घंटे अतिरिक्त समय बढ़ाया
षिविर का समय पूर्व में सुबह 10 से दोपहर 2 बजे तक निर्धारित किया गया था, लेकिन शहर के साथ विषेष रूप से ग्रामीण क्षेत्रों से लोगों के लगातार आने से 2 घंटे समय बढ़ाया गया। शाम 4 बजे तक 1 हजार से अधिक लोगों ने यह होम्योपैथिक गोलियां प्राप्त कर चिकित्सक से आवष्यक परामर्ष प्रदान किया गया। गोलीयों का प्रति पैक 1 हजार लोगों के माध्यम से उनके परिवार के प्रति 5 सदस्य के अनुसार दिया गया, इस प्रकार करीब 5 हजार लोगों तक पहुंचा।

कोरोना वायरस से धार्मिक क्रियाओं के माध्यम से कैसे बचाव करे ?, देव संस्कृति विष्वविद्यालय एवं शांतिकुंज हरिद्वार से जारी हुई अपील

झाबुआ। कोरोना वायरस ने इन दिनों संपूर्ण देष सहित विष्व में अत्यधिक भय का माहौल पैदा कर रखा है। इसी बीच धार्मिक क्रियाओं के माध्यम से हम इस बिमारी से कैसे बच सकते है, इस हेतु देव संस्कृति विष्वविद्यालय एवं शांतिकुंज हरिद्वार से लोगों से आवष्यक अपील जारी की गई है। जानकारी देते हुए गायत्री परिवार के जिला समन्वयक पं. घनष्याम बैरागी एवं नारी जागरण अभियान की जिला संयोजिका श्रीमती नलिनी बैरागी ने बताया कि पिछले दिनों देव संस्कृति विष्वविद्यालय के कुलाधिपति डाॅ. प्रणव पंड्या द्वारा टेलीविजन पर दिए गए एक इंटरव्यू के माध्यम से बताया गया कि आज पर्यावरण का निरंतर दोहन होने एवं पर्यावरण तथा मौसम शुद्ध नहीं होने से देष सहित विदेषों में भी कोरोना वायरस जेसी बिमारी ने जन्म लिया है, जो जानलेवा है। गायत्री परिवार की पद्धति में हम धार्मिक क्रियाकलापांे के माध्यम से इस बिमारी से बचने के प्रयास कर सकते है, इसके लिए हवन-जाप आदि कर चारों ओर के वातावरण को शुद्ध बनाने के प्रयास किए जा सकते है, जिससे यह वायरस हमारे घर-परिवार, गांव, शहर में नहीं फैल सकेगा।

यह किया जाएं
कुलाधिपति डाॅ. प्रणव पंड्या ने बताया कि इसके लिए हम हवन सामग्री तैयार करे। हवन सामग्री मंे 50 ग्राम घी एवं 50 ग्राम गुड अवष्य मिलाएं। अपने घरों में हवन करते हुए इन सामग्रीयों का इसमें उपयोग करते हुए  इस दौरान सूर्य गायत्री मंत्र ‘‘ऊॅं भास्कराय विदमहे, दीवाकराय धीमहि, तन्न सूर्य प्रचोदयात स्वाहा। इदम सूर्याय इदम नमम्‘‘ का उच्चारण करे, इससे हमारे आसपास का वातावरण शुद्ध होगा और मलेरिया, स्वाईन फलू, कोरोना इत्यादि बिमारियों के वायरस नहीं फैलंेगे।     

षिव महा-मृत्युंजय की एक माला प्रतिदिन करे
इसके साथ ही शांतिकुंज हरिद्वार, गायत्री परिवार की प्रमुख शैलदीदी पंड्या ने समस्त गायत्री परिवारजनों सहित देष के लोगों के लिए विषेष संदेष दिया है। जिसमें उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस से संपूर्ण विष्व को मुक्ति दिलाने के लिए प्रत्येक व्यक्ति प्रतिदिन एक माला षिव महामृत्युंजय ‘‘ऊॅं त्रयबकं यजामहे, सुगंधिम पुष्टिवर्धनम्, उरवा रूक्मिव बंधनान, मृत्र्यो मोक्षीय मामृतात’’ का जाप करे। यह माला अप्रेल माह के अंतिम दिन कर प्रतिदिन की जाए। माला में महा-मृत्युंजय मंत्र का जाप करते हुए भगवान षिवजी से भारत देष सहित संपूर्ण विष्व को कोरोना वायरस से मुक्ति दिलवाने हेतु प्रार्थना की जाए।

समयावधि पत्रो का षीघ््रा निराकरण करे -- श्री सिपाहा

झाबुआ । समयावधि पत्रो की समीक्षा बैठक मंगलवार को यहाॅ कलेक्टर कक्ष में आयोजित हुई। कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा ने एक-एक विभाग के अधिकारी को बुलाकर समयावधि पत्रो की समीक्षा की और अधिकारियो को निर्देष दिये है कि वे एक सप्ताह में लम्बिंत पत्रो का निराकरण  सुनिष्चित करे।  इस बैठक में मुख्यमंत्री हेल्प लाईन पोर्टल पर दर्ज षिकायतों की सघंन समीक्षा की गई। इस बैठक में राजस्व अधिकारियों से राजस्व वसूली की प्रगति की समीक्षा की गई। साथ ही तीन माह से अधिक आरसीएसएम प्रकरणो तथा राजस्व पुस्तक परिपत्र 6-4 के तहत राहत राषि भुगतान की स्थिति की समीक्षा की गईं। इस बैठक में मुख्यमंत्री, किसान ऋ़ण माफी योजना, की प्रगति, उर्वरक भण्डारण एवं वितरण की स्थिति की समीक्षा की गई।  इस बैठक में स्वास्थ्य विभाग द्वारा अपमिश्रण के विरूद्ध की गई कार्यवाही की समीक्षा की गई। कलेक्टर श्री सिपाहा ने मिषन इन्द्रधनुष अभियान की प्रगति की समीक्षा की। इसके साथ ही टीकाकरण कार्यक्रम की प्रगति, अस्पतालो की सुविधाओं, उपकरणों की स्थिति की समीक्षा की और आवष्यक निर्देष दिये। श्री सिपाहा ने जिले में कोरोना वायरस से बचाव के लिये की गई कार्यवाही की समीक्षा करते हुवे निर्देष दिये है कि कोरोना वायरस से बचाव के लिये आम जनता में जागरूकता लाई जावे। खासते व छिकते समय रूमाल या कोई कपडा मुहॅ पर रखने, यदि रूमाल, कपडा न हो तो कम से कम हाथो से मुहॅ, नाक को सामने से ढकने की सलाह दी जावे ताकि खाॅंसी व छंींक के माध्यम से वायरस वातावरण में न फैल सके। वार्तालाप के समय एक उचित दूरी बनाये रखने की भी सलाह दी जावे। लोगो को कम से कम हाथ मिलाने, हाथ मिलने के बाद तथा किसी सक्रमित वस्तु को छुने आदि के बाद हाथ आवष्यक रूप से धोने की सलाह दी जावे। साथ ही लोगो को भीड वाले स्थानो पर नहीं जाने की सलाह दी जावे। कलेक्टर ने वन अधिकार अधिनियम के अर्तगत प्राप्त दावो का पुनः परिक्षण कार्य की समीक्षा की और इस कार्य में और अधिक प्रगति लाने के निर्देष दिये है। इस बैठक में पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग की योजनाओं की प्रगति की समीक्षा की गई। उन्होनें आगामी ग्रीष्म  ऋतु में सुगमता निरतर बनाये रखने के लिये तैयार किये जा रहे प्लान की समीक्षा की और हेण्डपम्पों के संधारण के लिये की गई व्यवस्था कि समीक्षा की। साथ ही फ्लोराईड की रोकथाम के लिये किये जा रहे प्रयासों की जानकारी प्राप्त की और आवष्यक निर्देष दिये। इस बैठक में आपकी सरकार आपके द्वारा, जनसुनवाई एवं जनमित्र षिविरों में प्राप्त आवेदनो के निराकरण की स्थिति की विस्तार से समीक्षा की और अधिकारियों को निर्देष दिये है कि वे प्राप्त आवेदनो के निराकरण के लियंे व्यक्तिगत रूचि ले। इस बैठक में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री संदीप षर्मा अनुविभागीय अधिकारी राजस्व श्री अभयसिंह खराडी, श्री पराग जैन, श्री बघेल, श्री मालवीय, उप जिला निर्वाचन अधिकारी श्री अनिल भाना सहित विभिन्न विभागो के जिला अधिकारी उपस्थित थे।

प्रेक्षक श्री रावल जिले के भ्रमण पर रहेगे

झाबुआ । नगरिय निकाय तथा पंचायत निर्वाचन के लिये फोटोयुक्त मतदाता सूची के वार्षिक पुनरीक्षण वर्ष 2020 की कार्यवाही पर्यवेक्षण के लिये नियुक्त प्रेक्षक श्री अरूण कुमार रावल जिले में 20 मार्च तक भ्रमण पर रहेगे। आम नागरिक अपनी समस्याओं के संबंध में प्रेक्षक को उनके मोबाईल नम्बर 9425134261 पर अवगत करा सकते हेै । वे स्थानीय सर्किट हाउस झाबुआ में सम्पर्क कर सकते है।

जनसुनवाई स्थगित

झाबुआ, । कोरोना वायरस संक्रमण को विष्व स्वास्थ्य संगठन ने महामारी घोषित किया है। कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा ने बताया है कि इस परिस्थिति को देखते हुए लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा स्कूलो, काॅलेजों, सिनेमा हाॅल, मेरिज हाॅल, सार्वजनिक पुस्तकालयों, वाटर पार्क, जीम, स्वीमिंग पुल, आंगनवाडियों, सार्वजनिक समारोह को 31 मार्च तक स्थगित किया गया है। साथ ही प्रतिमंगलवार को आयोजित जनसुनवाई कार्यक्रम को भी आगामी आदेष तक स्थगित किया गया है।

ई-टेडर के माध्यम से मदिरा समूह का निष्पादन के लिये कार्यक्रम में संषोधन

झाबुआ। झाबुआ जिले में ई-टेंडर्रिग एवं आॅक्षन के द्वितीय चरण में निष्पादन के लिये 6 देषी मंदिरा की दुकानो, एवं 4 विदेषी मदिरा की दुकानो को 3 एकल समूह में पृथक-पृथक वर्ष 2020-21 अर्थात एक अप्रैल 2020 से 31 मार्च 2021 तक की अवधि के लिये मध्यप्रदेष राज्य पत्र असाधारण क्रमांक 77 दिनांक 25 फरवरी 2020 में प्रकाषित प्रावधानो के अन्तर्गत तथा आबकारी आयुक्त मध्यप्रदेष ग्वालियर द्वारा दिये गये निर्देषो एवं व्यवस्था के अधिन निष्पादन के लिये निर्धारित कार्यक्रम में संषोधन किया गया है। कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा ने अवगत कराया कि ई-टेडर (क्लोज बिड) के लिये आॅन लाईन टेन्डर पपत्र डाउन लोड एवं ई-टेडर आफर समिट करने की तिथि 14 मार्च 2020 को प्रातः 10 बजे से 21 मार्च 2020 अपरान्ह 1 बजे तक, ई-टेडर (क्लोज बिड) के लिये आॅन लाईन टेडर पपत्र खोलने की तिथि 21 मार्च 2020 दोपहर 2 बजे से, ई-टेडर (आॅक्षन) प्रारंभ एवं बंद होने की तिथि 22 मार्च 2020 को प्रातः 10बजे से दोपहर 2 बजे तक (तत्पष्चात 15 मिनिट के अन्तराल में बोली दिये जाने पर आगामी 15 मिनिट के लिये समयावधि में वृद्धि) जिला समिति द्वारा ई-टेडर  (क्लोज बिड एवं आॅक्षन) के माध्यम से निराकरण किये जाने की तिथि व समय आॅक्षन पूर्ण होने पर कार्यक्रम अनुसार किया जावेगा। निष्पादित की जाने वाली मदिरा दुकानो, एकल समूह, को लेने के लिये इच्छुक व्यक्ति ूूूण्उचजमदकमेण्हवअण्पद पर ई-टेडर (क्लोज बिड एवं आॅक्षन) की प्रक्रिया में भाग ले सकते है। ई-टेडर से संबंधित नियमों, दुकानो का विवरण, मादक द्रव्यो की खपत, ड्यूटी दर एवं अन्य आनुषांगिक षर्तो की जानकारी ूूूण्उचजमदकमेण्हवअण्पद पर एवं कार्यालय जिला आबकारी अधिकारी जिला झाबुआ से किसी भी दिवस अवकाष के दिनो सहित कार्यालयीन समय में प्राप्त किये जा सकते है। इच्छुक टेडर दाता को ई-टेडर की कार्यवाही में भाग लेने के लिये अपना रजिस्ट्रेषन वेवसाईड  www.mptendes.gov.in  पर कराना अनिर्वाय होगा। अधिक जानकारी उक्त वेवसाईड से प्राप्त की जा सकती है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...