झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 20 मार्च - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 20 मार्च 2020

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 20 मार्च

गरीब कि बेटी के विवाह के खर्च कि व्यवस्था हम करेगंे पर बेटी बेचना मत
जिस धरती पर बेटी व गाय के आंसु गिरते हे वहा का नाश होजाता हे - पं0 कमलकिशोर नागरजी 
jhabua news
पारा । समिपस्थ ग्राम झुमका मे विगत छः दिनो से चल रही पण्डित कमलकिशोर जी नागर कि श्रीमद भागवत कथा का आज सातवे दिन समापन हुआ । भारी मन से श्रद्धालुओ ने नागर जी महाराज को दि बिदाई। भागवत कथा के सातवे दिन समापन पर श्री नागर जी महाराज ने कहा कि हमको उठते बेठते साते जागते काम करते समय भगवान का नाम लेना चाहिए । भगवान का भजन करना चाहिए। भगवान ने ये जिबान ऐसी धातु कि बनाई हे कि इसका कितना भी उपयोग करो न तो कभी थकती हे ओर न ही घिसती हे। भगवान का नाम लेने के लिए दिपक व अगरबती की भी जरुरत नही हे। भगवान हमारे माता पिता हे। जिस तरह अपने माता पिता को बुलाने के लिए  किसी धुप दिप कि जरुरत नही  हे उसी तरह भगवान को बुलाने के लिए भी किसी चिज कि जरुरत नही हे। जरुरत हे तो सिर्फ उसको मन से बुलाने कि। मन से भजन होगा तभी भगवान से मिलन होगा श्री नागर जी महाराज ने यह भी कहा कि हमे कभी बडे नही बनना चाहिए। बडा कोई भी काम का नही हे। काम तो छोटे छोटे ही आते ही आते। बडा अंहकारी होजाता हे। जो किसी मे नही समाता हे । भगवान बहुत बडा हे सभी छोटे उसमे समाजाते हे। इसलिए छोटे बने रहनेमे ही फायदा हे। श्री नागर जी महाराज ने कहा कि गाय व बेटी के आंसु कभी नही गिरना चाहिए । जिस धरती पर गाय व बेटी के आंसु गिरते हे वहा का नाश होजाता है।  इसलिए अपनी बेटी को हमेशा सुखी रखो उसका पेसा मत लो। यह सुधार सबको अपने अपने घर से ही शुरु करना हे। इसके बाद भी कोई अपनी बेटी का विवाह करने मे सक्षम नही हे। गरीब हे ओर उसको पेसे कि जरुरत हे तो वह यह खबर हम तक हमारे किसी भी कार्यकर्ता या भुराडबरा स्थित गोशाला आश्रम पर  पहुचाए उसके पेसे कि व्यवस्था हम कर देगे पर सामने वाले से या लडके वाले से पेसा मत लेना। हम आप के आंसु पोछ देगे। चाहे उसके लिए हमे बिकना ही क्यो न पडें। गाय ओर कन्या के आंसु धरती भी नही झेलती हे। आज कल तरह तरह के फेशन आगई हेे। विदेशी फेशन छोड दो । विदेश से फेशन नही आयेगी तो विदेशी वायरस भी नही आयेगा। आज कल तंग व कटे फटे कपडे पहनने का फेशन बहुत चल रहा हे। जिससे उसका अंग अंग दिखता हे मां बाप भी जब ऐसा देखते हे तो वह भी पाप के भागी बनते हे। शरीर मे नजर ओर नियत बहुत खराब चिज हे। इसलिए हमेशा ढिले कपडे पहनो। 

भगवान परशुराम जयंती को लेकर होने वाली बैठक करोना वायरस महामारी के चलते स्थगित

झाबुआ। ब्राह्मण समाज के आराध्य देव भगवान परशुरामजी की जयंती 25 अप्रैल शनिवार को अक्षय तृतीया के पावन अवसर पर धूमधाम से मनाई जाएगी भव्य समारोह को मनाने हेतु सफल बनाने हेतु परशुराम जयंती को लेकर 21 मार्च को होने वाली बैठक करोना वायरस महामारी के चलते स्थगित की गई हैं। सर्व ब्राह्मण समाज के वरिष्ठ सदस्य गणों एवं युवा संगठन द्वारा सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि पूरे देश में करोना का प्रकोप चल रहा है तथा स्वास्थ्य विभाग द्वारा एडवाइजरी भी जारी कर दी गई। इन सब बातों को ध्यान में रखकर यह बैठक अब 28 मार्च शनिवार को शाम 7.15 बजे जगदीश मंदिर पर रखी गई है। इस बैठक में भगवान परशुराम जयंती के अवसर पर होने वाले कार्यक्रमों की रूपरेखा बनाई जाएगी। ज्ञातव्य है कि ब्राह्मण समाज के युवा संगठन एवं वरिष्ठजनों एवं महिलाओं द्वारा पिछले कई वर्षों से इस समारोह को भव्य तरीके से मनाया जा रहा है। इस आयोजन को सफल बनाने के लिए उपस्थित गणमान्य से सुझाव आमंत्रित किए जाएंगे। समाज के पदाधिकारियों ने जानकारी देते हुए बताया कि इस अवसर पर सर्व ब्राह्मण समाज के हित के लिए अनेक मुद्दों पर चर्चा की जाएगी। युवा संगठन ने समाज के सभी विप्र बंधुओं से एवं महिलाओं से इस बैठक में शामिल होकर बैठक को सफल बनाने की अपील की है।

कोरोना वायरस संक्रमण की दृष्टि से जनहित में लिया हनुमान टेकरी समिति ने महत्वपूर्ण निर्णय, पं. विजय षंकरजी मेहता की व्याख्यान माला की स्थगित

jhabua news
झाबुआ। श्री संकटमोचन हनुमान मंदिर सेवा समिति, हनुमान टेकरी द्वारा 25 मार्च गुड़ी पड़वा को आयोजित प्रमुख वक्ता प.ं विजयशंकरजी मेहता की व्याख्यान माला ‘‘कुछ पल राम के नाम’’ आयोजन कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव व सावधानी की दृष्टि से आगामी अनुकूल तिथि तक स्थगित कर दी गई हे। समिति अध्यक्ष अरूण भावसार ने बताया कि समिति प्रतिवर्ष हनुमान जन्मोत्सव के पूर्व गुड़ी पड़वा पर देष के प्रसिद्ध विचारक, विद्वानों के व्याख्यान आयोजित करती है। जिसमें बड़ी संख्या में झाबुआ एवं जिलेभर के श्रद्धालु श्रोताओं का आना होता है। वर्तमान में पूरा विष्व कोरोना वायरस के संक्रमण से लड़ रहा है। ऐसे में भारत सरकार के साथ मप्र सरकार द्वारा भी जन-सामान्य में विषेष सावधानी रखने हेतु एडवायजरी जारी की गई है।

समिति ने जनहित में लिया स्थगन का निर्णय
जिस पर समिति ने भी अपनी जिम्मेदारी समझते हुए आकस्मिक बैठक हनुमान टेकरी पर 18 मार्च, बुधवार रात आमंत्रित की। जिसमेें उपस्थित समस्त सदस्यों ने एकमत से विष्व एवं देष के विकट समय में अपनी सहभागिता सुनिष्चित करते हुए जनहित में उक्त व्याख्यान माला के आयोजन को आगामी अनुकूल तिथि तक के लिए स्थगित कर दिया है। जैसे ही कोरोना वायरस का संक्र्रमण पूरी तरह समाप्त होकर वातावरण अनुकूल हो जाएगा, बाद व्याख्यान माला का आयोजन किया जाएगा।

यह रहे उपस्थित
बैठक में समिति के पदाधिकारियो में अषोक शर्मा, प्रदीप सोनी, गजेन्द्रसिंह चंद्रावत, सुभाष गिधवानी, राकेष झरबड़े, ब्रजकिषोरसिंह सिकरवार, सुरेन्द्र द्विवेदी, मुकेष नीमा, श्यामसुंदर शर्मा, दिनेश चैहान, तरूण बैरागी, पुष्पेन्द्र नीमा, पवेन्द्रसिंह चैहान, श्रीमती मंजु शर्मा, नीता भावसार, पुष्पा नीमा, सुनीता लाली सोनी, आरती, माया बैरागी, सीमा चैहान आदि उपस्थित थी।

विहिप धर्म प्रसार द्वारा चैत्र नवरात्रि के प्रथम दिन शहर में निकाली जाएगी कलष (शोभायात्रा) हाथीपावा स्थित विजय भवानी माता मंदिर पर 9 दिनों तक होंगे विभिन्न कार्यक्रम

jhabua news
झाबुआ। विष्व हिन्दू परिषद् धर्म प्रसार की जिला इकाई झाबुआ द्वारा चैत्र नवरात्रि के पावन पर्व पर प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी प्रथम दिन कलष (शोभायात्रा) का आयोजन किया जाएगा। यह शोभायात्रा शहर के विभिन्न मार्गों से होते हाथीपावा स्थित विजय भवानी माता मंदिर पर पहुंचेगी। जहां धर्मसभा एवं भजन-किर्तन का आयोजन होगा। इसके साथ ही 9 दिनों तक यहां विभिन्न आयोजन संपन्न होंगे।   इस संबंध में विहिप धर्म प्रसार की जिला स्तरीय बैठक 19 मार्च, गुरूवार को दोपहर 1 बजे से स्थानीय काॅलेज मार्ग स्थित गायत्री शक्तिपीठ परिसर में संपन्न हुई। जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में विहिप धर्म प्रसार के जिला प्रमुख कमलसिंह महाराज उपस्थित थे। जिनके द्वारा उपस्थित विहिप के समस्त पदाधिकारी-कार्यकर्ताओं को आवष्यक मार्गदर्षन प्रदान किया गया। साथ ही बैठक में उक्त आयोजन की रूपेरखा तैयार की गई।  कार्यकर्ताओं को अलग-अलग जिम्मेदारी सौंपी गई।

महाकालिका माता मंदिर से निकलेगी कलष (शोभायात्रा)
बैठक में तय किया गया कि चैत्र नवरात्रि (हिन्दू नववर्ष) के प्रथम दिन शहर के नेहरू मार्ग स्थित प्राचीन दक्षिण मुखी महाकालिका माता मंदिर से 25 मार्च को दोपहर 1 बजे कलष (शोभायात्रा) निकाली निकाली जाएगी। जिसमें आगे ढोल-मांदल रहेंगे। इसके पीछे विहिप के विभाग संगठन मंत्री दीपक निनामा, धर्म प्रसार जिला प्रमुख कमलसिंह महाराज के साथ अन्य पदाधिकारी उपस्थित रहेंगे। पीछे बड़ी संख्या में जिलेभर से आई ग्रामीण महिलाएं एवं युवतियां अपने सिर पर जल से भरा हुआ कलष लेकर शामिल होंगी।

धर्मसभा का होगा आयोजन
यह यात्रा शहर के कालिका माता मंदिर से श्री चारभुजा नाथ मंदिर, नेहरू मार्ग, राजवाड़ा, हुड़ा क्षेत्र होते हुए हाथीपावा स्थित विजय भवानी माता मंदिर पर पहुंचेगी। जहां सभी महिलाओं एवं बालिकाओं द्वारा कलष में भरे जल से माताजी का अभिषेक करते हुए धर्मसभा का आयोजन होगा। बाद भजन-किर्तन कर सभी को फरिहाली का वितरण होगा। इसके साथ ही 9 दिनों तक प्रतिदिन यहां विभिन्न कार्यक्रम आयोजित होंगे। अंतिम दिन राम नवमी पर नौ कुंडीय यज्ञ रखा गया है। यज्ञ गायत्री शक्तिपीठ काॅलेज मार्ग से जुड़े गायत्री परिवार के जिला समन्वयक पं. घनष्याम बेरागी एवं अन्य गायत्री परिजनों द्वारा संपन्न करवाया जाएगा। अंतिम दिन महाप्रसादी (भंडारे) का भी भव्य आयोजन होगा।

यह रहे उपस्थित
यह बैठक करीब 2 घंटे तक चली। इस अवसर पर विहिप धर्म प्रसार से जुड़े प्रेमसिंह डामोर, रमेष निनामा, वालाभाई गामड़, अनसिंह मेड़ा, नाहरसिंह भाई, कलसिंह भाई, गोपाल भाई आदि सहित बड़ी संख्या में अन्य पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता उपस्थित थे। संचालन विहिप धर्म प्रसार जिला मंत्री राजू निनामा ने किया एवं आभार जिला उपाध्यक्ष जोगाभाई सिंगाड़ ने माना।

अणु स्मृति दिवस पर त्री दिवसीय नेत्र परीक्षण शिविर का समापन
400 मरीज का पंजीयन हुआ 200 चश्मों का वितरण व 30 ऑपरेशन हुए
jhabua news
थांदला। जिन शासन गौरव जैनाचार्य पूज्य श्रीउमेशमुनिजी ष्अणुष् की आठवीं पुण्य स्मृति सकल जैन संघ में ज्ञान दर्शन चारित्र तप की आराधना प्रवर्तक देव पूज्य श्रीजिनेन्द्रमुनिजी के आज्ञानुवर्ती तत्वज्ञ पूज्य श्रीधर्मेंद्रमुनिजी एवं साध्वीरत्ना पूज्या श्रीनिखिलशीलाजी आदि ठाणा - 9 के शुभ सानिध्य में आचार्यश्री के जीवनामृत संग आगमवाणी श्रवण कर मना रहा है। इस अवसर पर श्रीसंघ में लगभग 30 तेले व 50 उपवास व इतने ही एकासन की तपस्या हो रही है। वही सेवा कार्य करते हुए धर्मधारा परिवार द्वारा आँखों सम्बन्धी विविध बीमारियों के उपचार के लिए 17 -18 - 19 तीन दिवसीय विशाल नेत्र शिविर का आयोजन का आज समापन हुआ। जानाकारी देते हुए धर्मधारा परिवार के सम्पादक शिविर संयोजक भरत भंसाली व हितेश शाहजी ने बताया कि शिविर में तीन दिनों में 400 से ज्यादा मरीजों का पंजीयन कर उनकी आँखों की जाँच की गई व उचित परामर्श व निःशुल्क दवाई दी गई। संस्था द्वारा करीब 200 चश्मों का भी निःशुल्क वितरण किया गया वही 30 मोतियाबिंद मरीजों को ऑपरेशन हेतु दाहोद भेजा गया। सभी मरीजों के साथ एक अटेंडर की भोजन आदि की व्यवस्था भी संस्था द्वारा निःशुल्क की गई। उन्होंने बताया कि शिविर में दृष्टि नेत्रालय दाहोद (गुजरात) के प्रशिक्षित डॉक्टर और उनके सहायक ने अपनी सेवाएं प्रदान की। वही इस अवसर पर श्रीसंघ अध्यक्ष जितेंद्र घोड़ावत, संघ मंत्री प्रदीप गादिया, संघ प्रवक्ता पवन नाहर, ललित जैन नवयुवक मंडल अध्यक्ष कपिल पिचा, नितेश व्होरा, जितेंद्र सी. घोड़ावत, समकित तलेरा, यश शाहजी, विरल शाहजी व हिम शाहजी सहित नवयुवक मण्डल सदस्यों ने शिविर में अपनी सेवाएं प्रदान की।

थांदला नगर परीषद का सफाई पर नही कोई ध्यान चारों तरफ पसरी गन्दगी

jhabua news
थांदला। स्वच्छ भारत अभियान भारत सरकार द्वारा आरंभ किया गया राष्ट्रीय स्तर का अभियान है, जिसका उद्देश्य गलियों, सड़कों तथा अधोसंरचना को साफ-सुथरा करना और कूड़ा साफ रखना है। यह अभियान 02 अक्टूबर, 2014 को आरंभ किया गया था जो देश के राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी जिन्होंने देश को आजादी दिलाई व स्वच्छ्ता का संदेश दिया। परन्तु श्स्वच्छ भारतश् का उनका सपना आज तक पूरा नहीं हुआ। उसके लिये जिम्मेदार जितने भारत के नागरिक है उससे कहीं अधिक उसके लिये तैयार किया गया नगरीय प्रबन्धन है। थांदला नगर परिषद हर क्षेत्र में विफल हो रही है। भारतीय जनता पार्टी समर्थित परिषद कार्यरत है।बीते 02 वर्षो में परिषद ने नगर विकास में किसी भी तरह की दिलचस्पी नही ली वजह जग जाहिर है सिर्फ विवादों में घिरी परिषद ने आज नगर को 05 वर्ष पीछे कर दिया है।इसका श्रेय विवादित मुख्य नगर पालिका अधिकारी अशोक चैहान को जाता है अपनी हठ धर्मिता के चलते आज नगर के वाशिन्दों को नरकीय जीवन जीनो को मजबूर कर दिया है।नगर का आलम यह है कि चारो और गंदगी पसरी हुई है स्वच्छता की पोल खोल दी है नगर आज पानी, सड़क सफाई के नाम पर परेशान है।विवादित परिषद  कमीशन के घेरे में घिर चुकी है। इस खेल में ईमानदार पार्षदों ने अनेको शिकायत भी वरिष्ठ अधिकारियों से की लेकिन शायद इस विभाग में नीचे से ऊपर तक सभी मलाई पसन्द लोग ही बैठे हुए है। नगर में आज चारों तरफ गंदगी का साम्राज्य फैला हुआ है। एक तरफ विश्व कोरोना वायरस से लड़ रहा है वही इस तरह की गंदगी से यहाँ कोई दूसरी महामारी का खतरा भी बढ़ गया है। हाल ही में एक निजी स्कूल व दशहरा मैदान के यहाँ भास्कर मेले का आयोजन हुआ था लेकिन भास्कर मेले के विदा हुए एक सप्ताह हो गया लेकिन यहाँ चारों तरफ गन्दगी का अंबार लगा हुआ है। नगर की जनता के लिये शरीर स्वस्थ्यता के लिये नगर में एक भी वॉकिंग स्थल नही होने से लगभग सभी इसी ग्राउंड पर टहलने आते है लेकिन उनके शरीर पर बुरा असर पड़ना स्वाभाविक ही है। व्यायाम व खेल शिक्षक पंकज व्यास, जगत शर्मा, विजय जोशी आदि ने बताया गया कि इस खेल ग्राउंड पर हमें निरन्तर आते हुए बच्चों को प्रशिक्षित करते हुए करीब 40 वर्ष हो गए है लेकिन आज जो दुर्दशा इस ग्राउंड की है वो हमने अपने पूरे जीवन में कभी नही देखी। बताया कि वार्ड क्रमांक 1 की इतनी बदबूदार नालिया है जिनकी नियमित सफाई भी नही होती जबकि यहाँ अधिकांश शासकीय कर्मचारी अधिकारी रहते है, एसडीएम तहसीलदार व मुख्य न्यायाधीश का बंगला भी इसी वार्ड में आता है। जब नगर के मुख्य अधिकारियों के इधर गन्दगी पसरी हुई है नालियों की सफाई नही हो रही है तो शेष वार्डों की स्थिति का अंदाजा लगाया जा सकता है। नगर की जनता अब कुछ कहने के मूड में नही है वो शोशल मीडिया पर अपने आसपास की गन्दगी की पोस्ट डालकर नगर परिषद के जिम्मेदारों पर अपनी भड़ास तो निकाल रही है बावजूद जिम्मेदार एक दूसरे पर आरोप लगाते हुए आराम कर रहे है।

घटिया निर्माण को लेकर नगर परिषद ने दिया ठेकेदार को नोटिस बेअसर

थांदला । नगर के वार्ड क्रमांक 1 में सिविल अस्पताल पुलिस थाना आदि मुख्य मार्ग पर बना सीसी रोड निर्माण के समय ही खराब हो गया है। नगर पालिका, न्यायालय, स्कूल, कॉलेज आदि अधिकांश शासकीय विभाग आने जाने के लिए उपयोगी इस मुख्य मार्ग के निर्माण के निर्माण में अनुभवहीन ठेकेदार द्वारा घटिया निर्माण सामग्री उपयोग करते हुए घटिया निर्माण किया गया है, जिसका खामियाजा यहाँ की जनता को भुगतना पड़ रहा है। जन समस्या व घटिया निर्माण को लेकर इस संवाददाता ने प्रमुखता से अपने समाचार पत्र में भी कई बार इस मुद्दे को उठाया भी गया बावजूद आज दो माह होने को आये है और यह रोड़ आज पहले से भी ज्यादा बदतर हालत में जनता की दुर्घटना का कारण बना हुआ है। ज्ञातव्य है कि महालक्ष्मी कंट्रक्शन द्वारा करीब 39 लाख रुपये में इस रोड़ को बनाने का काम लिया गया था फिर उसने भी इसको बनाने का जिम्मा कमीशन लेकर अन्य को दे दिया। कमीशन की बंदरबाट के कारण घटिया निर्माण सामग्री के इस्तेमाल से इस रोड ने सभी की पोल खोल कर रख दी। यह रोड़ एक तरफ से तो पूरी उखड़ने लगी है, स्थिति यह है कि सड़क की गिट्टी जगह-जगह से  निकल कर खड्डे होने लगे है डस्ट उड़ने लगी है। जिसके चलते जनता को आवागमन में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। घटिया निर्माण की आवाज उठाने के कारण नगर परिषद द्वारा ठेकेदार को पुनः रोड़ निर्माण करने के कई नोटिस दिए जा चुके है लेकिन बावजूद इसके ठेकेदार ने न तो एक भी नोटिस का जवाब दिया और ना ही इस रोड़ को सुधारने का प्रयास किया गया है। अब यह देखना दिलचस्प होगा कि नगर परिषद के नोटिस का जवाब नही देकर व रोड़ को पुनः सही बनाने का कार्य ठेकेदार करता है या अपनी नेतागीरी व पहुँच के चलते उसका पूरा भुगतान हो जाता है।

यह बोलें जिम्मेदार -
ठेकेदार को घटिया रोड़ निर्माण के लिए भुगतान नही करते हुए अभी तक 3 -4  नोटिस दिये जा चुके है, लेकिन उसका कोई भी जवाब नही आया है। इसकी सूचना संस्था द्वारा सम्भागीय उपसंचालक की तकनीकी शाखा को भी कर दी गई है। उनके द्वारा मुझे अथवा संस्था के इंजीनियर को जो भी निर्देश प्राप्त होंगे उस अनुसार कार्यवाही की जाएगी। : अशोक चैहान - (सीएमओ - नगर परिषद थांदला)
मैंने देखा है वास्तव में डस्ट की सही सफाई नही होने से रोड़ उखड़ने लगा है। हमने ठेकेदार को रोड़ सही करने के लिए कई बार नोटिस दिये है। जब तक रोड़ सही नही होगा हम उसे सत्यापित नही करेंगे। बाकी उस पर क्या निर्णय लेना है यह वरिष्ठ अधिकारी का कार्यक्षेत्र है। : पप्पू बारिया (उपयंत्री - नगर परिषद थांदला)
ये सही है रोड़ थोड़ा खराब हो गया है इसलिये हमने ठेकेदार का पेमेंट रोक दिया है। उससे रोड़ सही करवाया जाएगा तभी उसको भुगतान किया जाएगा। जल्दी ही इस बारें में निर्णय लेंगे। : बंटी डामोर - (अध्यक्ष - नगर परिषद थांदला)

न्यायालय में कोरोना वायरस को लेकर सतर्कता - होम्योपैथी दवाई का वितरण

jhabua news
थांदला। थांदला न्यायालय में भी कोरोना वायरस को लेकर सतर्कता बरती जा रही है। हाल ही में अभिभाषक संघ थांदला द्वारा कोरोना वायरस को लेकर बैठक संपन्न हुई जिसमें अभिभाषक गणों को संबोधित करते हुए पूर्व बीएमओ वरिष्ठ डॉ. कमलेश परस्ते ने कोरोना वायरस के लक्षण व इसे लेकर परिसर में रखी जाने वाली सावधानीयाँ बताई। इस अवसर पर न्यायधीश जय पाटीदार, न्यायधीश सुश्री पूजा गोले एवं न्यायधीश श्रीमती रितुश्री गुप्ता, अभिभाषक संघ अध्यक्ष सलिम शेरानी, व्यंकटेशराय अरोड़ा, पूनमचंद गादिया, जितेंद्र जैन, तुषार भट्ट, मोहम्मद सलीम खान, वीरेंद्र बाबेल, अरुण गादिया, नन्दकिशोर शर्मा, आर पी राय, कनकमल छाजेड़, वर्षा जैन, राकेश पाठक सहित समस्त अभिभाषक गण एवं स्टाम्प वेंडर आदि उपस्थित थे। वही कोरोना वायरस से बचने के लिए होम्योपैथिक जिला चिकित्सालय के सौजन्य से प्राप्त दवा का वितरण अभिभाषक एवं रोटरी क्लब के पूर्व अध्यक्ष उमंग सक्सेना द्वारा किया गया।

अंर्तराष्ट्रीय मानव अधिकार काउंसिल द्वारा कोरोना वायरस से बचाव हेतु ग्रामीण क्षेत्रों में रथ किया रवाना
सीएमएचओ, बीएचओ, जिला विस्तार एवं माध्यम अधिकारी तथा वरिष्ठ समाजसेवियों ने दिखाई हरी झंडी
jhabua news
झाबुआ। अंर्तराष्ट्रीय मानव अधिकार काउंसिल की जिला इकाई झाबुआ द्वारा कोरोना वायरस को लेकर एक विषेष रथ तैयार किया गया है, जो जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में भ्रमण कर नोवेल कोरोना वायरस (विड-9) जैसी जानलेवा बिमारी से रोकथाम के लिए गांव-गांव जाकर प्रचार-प्रसार करेगा। इस रथ को 19 मार्च, गुरूवार को दोपहर 11.30 बजे जिला मुख्यालय के मुख्य प्रवेष द्वार से हरी झंडी दिखाकर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. बीएस बारिया, जिला विस्तार एवं माध्यम अधिकारी कोमल राठौर, बीएचओ झाबुआ निसार खान पठान, जिला दहेज सलाहकार बोर्ड (डीपीए) के अध्यक्ष यषवंत भंडारी, रोटरी मंडल 3040 के डिस्ट्रीक्ट सचिव तथा युवा अधिवक्ता उमंग सक्सेना और अंर्तराष्ट्रीय मानव अधिकार काउंसिल के प्रांत कार्यकारिणी सदस्य रामप्रसाद वर्मा ने रवाना किया।

गांव-गांव घूमेगा रथ
जानकारी देते हुए कार्यक्रम संयोजक आईएचआरसी के जिलाध्यक्ष अरूण डामोर ने बताया कि इस रथ पर अंर्तराष्ट्रीय मानव अधिकार काउंसिल का बेनर लगा होने के साथ ही जिला स्वास्थ्य समिति का कोरोना वायरस से बचाव एवं रोकथाम का भी बेनर चस्पा है। यह रथ प्रतिदिन जिले के 6 विकासखंडों के चयनित गांवों में भ्रमण कर एलाउंस के माध्यम से कोरोना वायरस के प्रति ग्रामीणांे को जागरूकता संबंधी जानकारी देने के अतिरिक्त इस दौरान सभी को पेंपलेट्स वितरित कर इसके लक्षण, बचाव एवं उपाय संबध्ंाी आवष्यक जानकारी दी जाएगी।

प्रचार सामग्रीयों का किया विमोचन
जिला चिकित्सालय के मुख्य गेट पर रथ को हरीं झंडी दिखाकर रवाना करने के साथ उक्त अतिथियों द्वारा रथ के साथ मौजूद रहने वाली प्रचार सामग्रीयों का भी विमोचन किया गया। बाद रथ यहां से जिले के विभिन्न गांवों के लिए रवाना हुआ। प्रथम दिन रामा विकासखंड में छापरी, कालीदेवी, झाबुआ विकासखंड के ग्राम तलावली, कल्याणपुरा, मेघनगर विकासखंड के ग्राम मोकड़़ा, देदला आदि गांवों में भ्रमण करते हुए यहां ग्रामीण महिला-पुरूषों को पेंपलेट्स वितरण करने के साथ कोरोना वायरस के संबंध में आवष्यक जानकारी दी गई। एक सप्ताह तक यह आयोजन किया जाएगा।

यह रहे उपस्थित
रथ को हरी झंडी दिखाकर रवाना करते समय विषेष रूप से अंर्तराष्ट्रीय मानव अधिकार काउंसिल के जिला सचिव दौलत गोलानी, जिला कार्यवाहक अध्यक्ष कमता मेड़ा, जिला कोषाध्यक्ष रवि बारिया, जिला कार्यकारिणी सदस्य ओमप्रकाष मेड़ा, सचिन बामनिया, बचपन बचाओ आंदोलन से अयूबअली सैयद, चेतन्य समाहित एवं सामाजिक विकास प्रषिक्षण संस्था की अध्यक्ष श्रीमती मंजु वर्मा, रोहित वर्मा, मप्र वालेंट्री हेल्थ एसोसिएषन के साकिर खान, रोटरेक्ट क्लब अध्यक्ष रिंकू रूनवाल, अषरफ खान आदि सहित अन्य गणमान्यजन उपस्थित थे।

मौसमी बिमारियों एवं कोरोना वायरस से रोकथाम के लिए 1 हजार 284 लोगों ने किया आयुर्वेदिक काढ़े का सेवन
विषेष औषधियों से तैयार किया गया है काढ़ा, प्रतिदिन चिकित्सालय में होगा वितरण

jhabua news
झाबुआ। कोरोना वायरस से रोकथाम के लिए स्थानीय आॅफिसर्स काॅलोनी स्थित जिला आयुर्वेदिक चिकित्सालय पर 19 मार्च, गुरूवार को सुबह 10 से दोपहर 12 बजे तक विषेष षिविर का आयोजन किया गया। जिसमें शहर सहित ग्रामीण क्षेत्रों से आए कुल 1 हजार 284 लोगों ने अपना पंजीयन करवाकर राहत कारक आयुर्वेदिक काढ़े का सेवन किया। यह आयुर्वेदिक काढ़ा, विषेष औषधियों से तैयार किया गया है, जिसका सेवन करने कोरोना वायरस के साथ अन्य बिमारी जैसे मलेरिया, स्वाईन के संक्रमण मनुष्य में ंनहीं फैलेंगे के साथ इनसे बचाव होता है। शिविर का शुभारंभ जिला आयुष अधिकारी डाॅ. मीना भायल ने भगवान धन्वतरि के चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्जवलन कर किया। बाद षिविर में आए शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों को चिकित्सालय प्रभारी डाॅ. दिपेष कठोता की उपस्थिति में चिकित्सालयीन स्टाॅफ में डाॅ. राकेष खराड़ी, ओमप्रकाष राठौर, तयब्बा यास्मीन, मंजुला देराश्री, संगीता कलछिया, पूजा पाटीदार, चंद्रावती दसोंधी, रेखा डामोर, दलसिंह मकवाना, दिनेष डामोर आदि ने काढ़े का वितरण कर उसके लाभ के बारे में भी बताया। इस कार्य में विषेष सहयोग समाजसेवी जीवन रामावत का भी रहा।

विषेष औषधियों से तैयार किया गया है
चिकित्सालय प्रभारी डाॅ. दिपेष कठोता ने बताया कि यह आयुर्वेदिक काढ़ा मौसम जनित बिमारियों में सर्दी-जुखाम, बुखार के साथ मुख्य रूप से कोरोना वायरस से रोकथाम हेतु  विषेष औषधियों में त्रिकुट, तुलसी, गिलोय का निष्चित अनुपात में मिश्रण कर तैयार किया गया है। जिसमें शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है एवं बिमारियों के सक्रमण से बचाव होता है।  

आगामी दिनों में भी जारी रहेगा षिविर
जिला आयुष अधिकारी डाॅ. मीना भायल एवं चिकित्सालय प्रभारी डाॅ. दिपेष कठोता ने बताया कि मौसमी बिमारियों एवं कोरोना वायरस से बचाव हेतु यह षिविर आयुर्वेदिक चिकित्सालय में आगामी दिनों में जारी रखा जाएगा। षिविर प्रतिदिन सुबह 9 से 10 बजे तक आयुर्वेदिक चिकित्सालय में आयोजित कर जिलेभर के लोगों को आयुर्वेदिक काढ़े का सेवन करवाया जाएगा। जिलेवासियों से षिविर में अधिक से अधिक ंसे अधिक संख्या में शामिल होकर लाभ लेने की अपील की गई है।

रोटरी क्लब ‘मेन’ द्वारा जिला न्यायालय झाबुआ एवं तहसील न्यायालय थांदला परिसर में कोरोना वायरस को लेकर जागरूकता कार्यक्रम रखा गया
पक्षकार ग्रामीणों, कर्मचारियों और अधिवक्ताओं को कोरोना वायरस से रोकथाम हेतु होम्योपैथिक गोलियों का किया वितरण
jhabua news
झाबुआ। रोटरी क्लब ‘मेन’ झाबुआ द्वारा 19 मार्च, गुरूवार को जिला न्यायालय झाबुआ के साथ तहसील न्यायालय थांदला परिसर में कोरोना वायरस को लेकर पक्षकार ग्रामीणों, कर्मचारियों और अधिवक्ताओं को जागरूक करते हुए कार्यक्रम का आयोजन कर चिकित्सकों द्वारा उन्हें कोरोना वायरस के लक्षण, बचाव एवं रोकथाम संबंधी आवष्यक जानकारी देने के पश्चात् सभी को निःषुल्क होम्योपैथिक गोलियों का वितरण किया गया। दोनो न्यायालय परिसर में कार्यक्रम का आयोजन कर कुल 800 गोलियों का पैक का वितरण हुआ। 20 मार्च को तहसील न्यायालय पेटलावद में कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। सर्वप्रथम जिला न्यायालय परिसर में कार्यक्रम का आयोजन करते हुए रोटरी मंडल 3040 के पूर्व सहायक मंडलाध्यक्ष एवं वरिष्ठ रोटेरियन यषवंत भंडारी ने बताया कि आज देष सहित दुनियाभर में कोरोना वायरस ने अपने पैर पसार रखे है। ंजिससे हर कोई भयभीत है। भारत देष में इसके वर्तमान में 151 केस सामने आए है। झाबुआ जिले में विषेषकर आप ग्रामीणजनो को इस जानलेवा बिमारी से बचाव के लिए आवष्यक सावधानियां बरतना जरूरी है। यह एक संक्रमित बिमारी है, इससे बचने के लिए हमे अपने खान-पान में विषेष सावधानियां बरतने की जरूरत है। यदि हम सड़े गले खाद्य पदार्थ, मांसाहार एवं शराब सेवन में कोताही बरतेंगे, तो यह बिमारी हमारे अंदर तेजी से नहीं फैलेगी। बार एसोसिएषन झाबुआ के अध्यक्ष बद्रीलाल सोनी ने उपस्थित ग्रामीण पक्षकारों को आदिवासी भाषा में संबोधन कर जागरूक किया।

खांसते एवं छींकते समय मुंह पर कपड़ा रखे
बाद महिला चिकित्सक डाॅ. चारूलता दवे ने इसके लक्षण बताएं कि यदि हमे अधिक खांसी, छींक हो रहीं है या तेज बुखार और सांस लेने में अधिक तकलीफ हो रहंी है, तो तुरंत हम अपने समीपस्थ स्वास्थ्य केंद्रों पर जाकर आवष्यक परामर्ष लेने के सााि उपवार करवाएं। खांसते-छींकते समय मुंह पर कपड़ा रखे। ऐसे संक्रमित लोग अपने मुंह पर मास्क पहनने के साथ दूसरे व्यक्ति से करीब 3 मीटर की दूरी अवष्य रखे। यदि आप यह होम्योपैथिक दवाई लेंगे, तो आपकी इम्यूनिटी शक्ति बढ़ने के साथ तेजी से आपको इस बिमारी के वायरस नहीं फैलेंगे एवं काफी हद तक इससे बचाव हो सकेगा। इस अवसर पर डाॅ. अरविन्द दातला ने भी कोरोना वायरस के रोकथाम संबंधी आवष्यक जानकारी दी।

विषेष रूप से इनकी रहीं उपस्थिति
कार्यक्रम में विषेष रूप से वरिष्ठ रोटेरियन एवं वरिष्ठ अभिभाषक दिनेष सक्सेना, रोटरी मंडल 3040 के डिस्ट्रीक्ट सचिव उमंग सक्सेना, रोटरी क्लब ‘मेन;’ सचिव मनोज अरोरा, रोटरेक्ट क्लब सचिव दौलत गोलानी, अभिभाषकों में नरेष डोषी, अजय सोनी, मनीष कानूनगो, श्री संघवी सहित बड़ी संख्या में जिले के ग्रामीण क्षेत्रों से आए पक्षकार महिला-पुरूष एवं युवा उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन रोटरी क्लब ‘मेन’ अध्यक्ष हिमांषु त्रिवेदी ने किया।

कुल 800 पैक वितरित किए गए
कार्यक्रम के मुख्य आयोजक वरिष्ठ रोटेरियन एवं वरिष्ठ अधिवक्ता उमंग सक्सेना ने बताया कि जिला न्यायालय परिसर में अधिवक्ताआंे, कर्मचारियों के साथ विषेष रूप से ग्रामीण क्षेत्रों से आए पक्षकारों को होम्योपैथिक की गोलियों के पैक का वितरण किया गया। जिला न्यायालय में कुल 450 पैक, प्रति पैक परिवार के 6 सदस्यों के अनुसार वितरित हुए। इसी प्रकार का कार्यक्रम तहसील न्यायालय परिसर थांदला में भी जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन कर यहां 300 पैक  वितरित किए गए। इस कार्य में सहयोग नर्सिंग स्टाॅफ द्वारा भी पूर्ण सहयोग प्रदान किया गया। 20 मार्च को तहसील न्यायालय पेटलावद में कार्यक्रम का आयोजन होगा।

आंगनवाडी एवं मिनी आंगनवाडी केंद्र 31 तक बंद

  झाबुआ । राज्य शासन द्वारा नोबल कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के मद्देनजर प्रदेश के सभी आंगनवाडी केंद्र और मिनी आंगनवाडी केंद्रों को 31 मार्च तक तत्काल प्रभाव से बंद रखने का निर्णय लिया गया है। साथ ही, आंगन कार्यक्रम डे-केयर सेंटर का क्रियान्वयन भी स्थगित कर दिया गया है। आयुक्त महिला-बाल विकास द्वारा इस संबंध में निर्देश जारी किये हैं। जिलों को निर्देशित किया गया है कि वर्तमान में शालाओं का संचालन स्थगित होने के कारण सांझा चूल्हा कार्यक्रम में आंगनबाडी केंद्रों में नाश्ता और भोजन प्रदाय प्रभावित होने से आंगनवडी केंद्र में दर्ज 3 से 6 वर्ष के बच्चों को भी अन्य हितग्राहियों के साथ टेक होम राशन प्रदाय किया जाना सुनिश्चित किया जाए।

कोरोना से डरें नहीं, सतर्क रहें बस व रेल्वे स्टेशन पर यात्रियों को कोरोना वायरस से बचाव के उपाय बताये गये

झाबुआ ।  गत दिवस इंदौर संभाग के झाबुआ जिले में स्थानीय बस स्टैण्ड व रेल्वे स्टेशन पर शहरी क्षेत्र झाबुआ स्वास्थ्य अमले की द्वारा आवागमन करने वाले यात्रियों को कोरोना वायरस की रोकथाम एवं बचाव के प्रति जागरूक संबंधी पैम्पलेट वितरित किये गये और यात्रियों को रोग संबंधी जानकारी देते हुए संक्रमण से बचने के उपाय बताये और यात्रियों से सफर के दौरान सावधानी बरतने की सलाह दी गयी है यात्रियों को बताया गया कि कोरोना वायरस से बचने के लिए अपने हाथों को साबुन व पानी से धोयें। खांसते व छींकते समय नाक और मुँह को ढकें, ढकने में प्रयोग किये गये टिशू पेपर को किसी बंद डिब्बे में डालें, अधिक मात्रा में तरल पदार्थ व पौष्टिक आहार का सेवन करे, भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर जाने से बचें, अनावश्यक यात्रा करने से बचें। उन्हें बताया गया कि संभावित रोगी के सम्पर्क में न आये, हाथ न मिलाये, गले न लगाये। कोरोना वायरस के मुख्य लक्षण सर्दी-जुकाम, लगातार खांसी, तेज बुखार, सांस लेने में तकलीफ होती है तो तुरन्त नजदीकी शासकीय स्वास्थ्य केन्द्र पर सम्पर्क करें। यात्रियों को समझाईश दी गई कि नोवल कोरोना वायरस से अनावश्यक डरने की आवश्यकता नहीं है, सावधानी एवं सतर्कता से बचाव आसान है। अधिक जानकारी के लिए टोल फ्री नम्बर 104 पर सम्पर्क करें।

उच्च पद¨ं पर क्रम¨न्नति के लिये भर्ती नियम¨ं में संश¨धन करने के निर्देश
       
झाबुआ,। सामान्य प्रशासन विभाग ने निर्देश जारी किये हैं कि जब तक उच्च न्यायालय में पद¨न्नति का प्रकरण विचाराधीन है, तब तक राज्य प्रशासनिक सेवा, भारतीय प्रशासनिक सेवा अ©र भारतीय पुलिस सेवा की तरह प्रदेश के शासकीय अधिकारिय¨ं अ©र कर्मचारिय¨ं क¨ भी उच्च पद¨ं पर दी जाने वाली क्रम¨न्नति के लिये सभी विभाग अपने भर्ती नियम¨ं में संश¨धन करने की कार्यवाही करे। ज्ञातव्य है कि मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ की अध्यक्षता में विगत 8 फरवरी 2020 क¨ मंत्रिय¨ं, अधिकारिय¨ं अ©र वरिष्ठ अधिवक्ताअ¨ं की सम्पन्न बैठक में यह निर्णय लिया गया था। सामान्य प्रशासन मंत्री डाॅ. ग¨विन्द सिंह की पहल पर अपर मुख्य सचिव सामान्य प्रशासन श्री के. के. सिंह ने इस बारे में सभी विभाग¨ं क¨ आवश्यक कार्यवाही करने के लिये निर्देश जारी किये थे।

फसल बीमा योजना से संबंधित सी.एम.हेल्पलाइन की शिकायत के निराकरण के निर्देश

झाबुआ । फसल बीमा योजनांतर्गत ऋणी तथा कृषकों की प्रीमियम राशि बैंकर्स द्वारा काट कर बीमा कम्पनी को भेज कर भारत सरकार के पार्टल पर कृषकों की एन्ट्री की जाती है। बीमा कम्पनी द्वारा बीमा दावा राशि भी द्वारा बैंकों में जमा की जाती है। बीमित कृषकों की प्रीमियम राशि तथा दावा राशि से संबंधित जानकारी बैंको में संधारित रहती है। कृषकों द्वारा प्रधानमंत्री फसल बीमा दावा राशि संबंधित सी.एम.हेल्पलाइन शिकायतें उप संचालक, किसान कल्याण तथा कृषि विकास द्वारा शिकायत की अद्यतन स्थिति हेतु संबंधित बैंकर्स को भेजी जाती है, लेकिन बैंकर्स द्वारा बिना कोई समाधान कारक,उचित कारण के शिकायतों को वापस भेज दिया जाता है, जिससे शिकयतों का निराकरण नहीं हो पाता है। कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा ने लीड बैंक और आई.पी.सी. बैंक के अधिकारियों को निर्दे‍शित किया है कि फसल बीमा से संबंधित शिकायतों की स्पष्ट वस्तुस्थिति की टीप लगाकर उप संचालक किसान कल्याण तथा कृषि विकास को भेजें, जिससे शिकायतों का समय-सीमा में निराकरण किया जा सके।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...