मधुबनी : 89 प्रतिशत आंगनवाड़ी केंद्र चल रहे राम भरोसे - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 4 मार्च 2020

मधुबनी : 89 प्रतिशत आंगनवाड़ी केंद्र चल रहे राम भरोसे

madhubani-anganwadi
मधुबनी (आर्यावर्त संवाददाता) : मधुबनी जिले के बिस्फी प्रखण्ड में 89 प्रतिशत आंगनवाड़ी केंद्र राम भरोसे ही चल रही है। बांकी 11 प्रतिशत केंद्रों पर सिर्फ लूट और खसोट की अड्डा ही देखा जा रहा हैं। अनिमियत्ता लगातार प्रकाश में आ रही हैं। कई केंद्रों की मामला प्रकाशित होने पर पदाधिकारी के द्वारा किया शोकॉज किया गया हैं। आपको बता दे की अविभावकों के शिकायत पर नूरचक पंचायत के कई केंद्रों पर अनिमियत्ता की खबर हमारे संवाददाता के द्वारा दिखाई गई। प्रखण्ड के नूरचक पंचायत के 120 केंद्र संख्या के सेविका को कड़ी सीडीपीओ द्वारा कड़ी फटकार लगाते हुए शॉकज की गई, जिसमें काफी चाटुकारी नेता द्वारा चाटुकारिता भी की जा रही हैं। वहीं सिंहासो पंचायत के 90 और 92 केंद्र संख्या के सेविका से सीडीपीओ द्वारा स्पष्टीकरण पूछा गया है, और अब नूरचक के एक और केंद्र संख्या 119 जिसकी सेविका बच्चो के हक मार कर खाने में तो लगी ही हैं साथ ही बच्चो के भविष्य के साथ एवं बच्चो के जान के साथ खिलवाड़ कर रही हैं। एक तरफ सरकार और प्रशासन प्रदूषण पर जाँच करने में लगी है, और प्रदूषण पर कड़ी नजर रखने की निर्देश है। लेकिन यहाँ तो कुछ बैगर ड्रेस में बच्चो को बैठा कर सेविका फरार थी, वहीं सहायिका केंद्र को संभाल रही थी। और बड़ी बात हैं कि बच्चो को देने वाली टीएचआर और अंडा भी खा जाती हैं। वहां के स्थानीय लोग एवं बच्चो की अभिभावक भी इस मामले को साबित किये। अभिभावकों ने बताया कि बच्चो को मिलने वाली सामग्री में भी काफी कटौती की जा जाती हैं। कुछ देर बाद सेविका को केंद्र पर आने के बाद इस मामलों पर पूछे जाने पर बोलती बंद हो गई। इस सम्बन्ध में सीडीपीओ प्रीती कुमारी से दूरभाष से बात की गई तो बताई की इस तरह की मामले पर जाँच कर कार्रवाई की जायेगी, और कई केंद्रों पर कार्रवाई की गई है। इस तरह की अनिमियत्ता का खबर लगातार प्रकाश में आने से पदाधिकारी के प्रति लोगों में काफी आक्रोश हैं। आक्रोशीत लोगों ने बताया कि अनिमियत्ता मनमानी भ्रष्टाचारी के मुद्दों पर जल्द कार्रवाई करे, अन्यथा लिखित कर बहुत जल्द ठोस कदम उठाई जायेगी।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...