देश में कोई वित्तीय अपात स्थिति नहीं : सीतारमण - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 15 मार्च 2020

देश में कोई वित्तीय अपात स्थिति नहीं : सीतारमण

no-financial-emergency-sitharaman
नयी दिल्ली 14 मार्च, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कर राजस्व संग्रह में कमी और कोरोना वायरस के फैलने से आर्थिक गतिविधियों के प्रभावित होने के कारण वित्तीय अपात स्थिति होने से इंकार किया है। श्रीमती सीतारमण ने शनिवार को यहां जीएसटी परिषद की 39वीं बैठक के बाद संवाददाताओं से चर्चा में इस संबंध में पूछे जाने पर कहा कि ऐसी कोई स्थिति नहीं है। उन्होंने कहा कि जीएसटी परिषद की बैठक में कोरोना वायरस की स्थिति पर चर्चा की गयी है लेकिन किस किस क्षेत्र में इसका क्या असर हो रहा है या होगा के संबंध में अभी कुछ भी नहीं कहा जा सकता है। सभी संबद्ध मंत्रालय इसको लेकर तैयारियां कर रहा है। काेरोना वायरस के कारण प्रत्यक्ष कर और अप्रत्यक्ष कर संग्रह के प्रभावित होने के बारे में पूछे जाने पर उन्होंंने कहा कि फिलहाल ऐसा नहीं है। परिषद की बैठक में कर राजस्व में बढोतरी पर चर्चा के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि कर राजस्व में वृद्धि के वजाय कर चोरी को रोकने पर अधिक जोर दिया गया और इस संबंध में चर्चा हुयी है। उल्लेखनीय है कि वैश्विक आर्थिक सुस्ती की वजह से देश में भी आर्थिक गतिविधियां प्रभावित हुयी है और इसका असर राजस्व संग्रह पर भी पड़ा है। प्रत्यक्ष कर और अप्रत्यक्ष कर संग्रह के लक्ष्य को हासिल करना संभव नहीं दिख रहा है। इसबीच वैश्विक स्तर पर कोरोना वायरस का संक्रमण फैलने लगा है जिसे भारत भी अछूता नहीं है और देश में भी इसके संक्रमण के तेजी से फैलने के कारण औद्योगिक और आर्थिक गतिविधियां प्रभावित होने लगी है। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...