बेगूसराय : कोरोना से डरें नहीं!भारतीय संस्कृति और संस्कारों को अपनायें - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 16 मार्च 2020

बेगूसराय : कोरोना से डरें नहीं!भारतीय संस्कृति और संस्कारों को अपनायें

remove-corona-virus
अरुण शाण्डिल्य (बेगूसराय) कोरोना वायरस के बारे में इन्दु देवी से एक साक्षात्कार के अनुसार।बिहार सरकार माननीय नीतीश कुमार के द्वारा कोरोना वायरस के खतरे को दिखाए हुए कई बड़े और कड़े कदम उठाए हो।लेकिन हकीकत यही तो यह भी है कि बिहार अभी भी करोना संकटों से बाहर है।अगर ध्यान से देखा जाए तो अन्य राज्यों की अपेक्षाओं में अभीतक तो सबसे सुरक्षित राज्य बिहार ही है  और रहेगा भी।कारण बिहार सरकार माननीय नीतीश कुमार के इस मामले में उठाए गए कदम और स्नातनीय संस्कारों से ओत-प्रोत रहने के कारण ही बिहार अबतक सुरक्षित है। बिहार में अब तक कोरोना वायरस के जितने भी संदिग्ध पाए गए हैं उनमें से किसी का केस भी पॉजिटिव नहीं निकला है। बिहारियों के लिए यह सबसे बड़ी राहत की खबर है। हालांकि सूबे में कोरोनावायरस के 09 नए संदिग्ध मिले हैं,जिनका टेस्ट कराया गया है।रिपोर्ट आने तक इन सभी को आइसोलेशन वार्ड में भर्ती भी किया गया है,जिसमें सबसे बड़ी बात तो यह है कि ये सभी बाहर के देश या प्रदेश से बिहार आए हैं।संदिग्धों में तमिलनाडु के कोयंबटूर से आए दो भाइयों को कोरोना होने के संदेह होने पर अस्पताल में भर्ती कराया गया है।इन दोनों का ब्लड सैंपल जाँच के लिए भेजा गया है।सारण जिले के काशी बाजार के रहने वाले एक सेवानिवृत्त स्वस्थ्य विभाग कर्मचारी  के बेटे को कोरोना होने के शक की बुनियाद पर आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया है।यह युवक इटली के रूम में इंजीनियरिंग की पढ़ाई करता था और हाल में वहाँ से वापस लौटा है।वहीं गोपालगंज में भी बनारस के संदिग्ध की पहचान की गई है,ये दुबई से लौटा है।पूर्वी बिहार में भी कोरोना के 2 नए संदिग्धों की पहचान हुई है,एक मामला लखीसराय जिले का भी है,तो वहीं दूसरा बांका जिले का। मोतिहारी जिले में भी दो संदिग्ध मरीजों को अस्पताल लाया गया है।इन सभी की रिपोर्ट का इंतजार हैआपको बताते चलें कि देश में कोरोना वायरस के अब तक 112 मामलों की पुष्टि हो चुकी है।देश के 13 राज्यों में कोरोनावायरस के पॉजिटिव के मामले भी सामने आ चुके हैं,जिनमें सबसे ज्यादा महाराष्ट्र के हैं।महाराष्ट्र में अब तक 33 मामलों की पुष्टि हुई है,जबकि 2 मरीजों की मौत कोरोनावायरस की वजह से हो भी चुकी है।बिहार के पड़ोसी राज्य उत्तर प्रदेश में भी कोरोना का कहर बरप रहा है,लेकिन बिहार सरकार ने सतर्कता को लेकर जो कदम उठाए हैं उसके बीच राहत की खबर यह है कि बिहार में अब तक किसी को भी कोरोना वायरस के मरीज की पुष्टिकारण नहीं हो पाई है।बेगूसराय निवासी इन्दु देवी का कहना है कि ये सब पश्चिमी सभ्यता का परिणाम है और कुछ भी नहीं।भारत में यदि इसके मरीज पाए भी जा रहे हैं तो वे सब बाहर से आनेवाले हैं या फिर जो अत्यधिक व्यसन के आदि हैं उन्ही को ऐसे वायरसिय बीमारियों का डर हो सकता है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...