सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 04 मार्च - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 4 मार्च 2020

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 04 मार्च

उत्तम बीज से हीे होगी अच्छी पैदावार-वर्मा

sehore news
सीहोर। हमारा देश कृषि प्रधानदेश है और सीहेार जिले में पैदा होने वाला शरवती गेंहु पूरे देश मेंं अपनी एक अलग पहचान रखता है इस लिए शरवती गेहुं सीहेार से पूरे देश में विक्रय के लिए जाता है। किसान भाईयों को उत्तम किस्म का बीज उपयोग में लेना चाहिए क्योंकी उत्तम बीज से हीं अच्छी पैदावार प्राप्त होती है उक्त विचार आरएके कॉलेज में आयोजित किसान मेले में घनश्याम वर्मा ने व्यक्त किए। उपस्थित किसानों को कृषि बीज की जानकारी देते हुए श्री वर्मा ने बताया की गेंहु में एचआई १५४४.१५३१.८७१३ उत्तम किस्म है। इसी प्रकार चने आरबीजी के बीज २०१.२०२.२०३ उत्तम किस्म है। 

मालवीय बने कांग्रेस पिछड़ा  वर्ग बुधनी ब्लाक अध्यक्ष 

sehore news
सीहोर। मुख्यमंत्री कमलनाथ, पिछड़ा वर्ग कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष राजमणी पटेल के निर्देशानुसार कांग्रेस पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ के द्वारा जिले में कार्यकारिणी विस्तार लगातार किया जा रहा है प्रकोष्ठ जिलाध्यक्ष वरिष्ठ कांग्रेस नेता राजेश भूरा यादव के द्वारा वरिष्ठ कांग्रेस नेतृत्व की अनुशंसा पर कांग्रेस के लिए कर्मठ समर्पित कार्यकर्ताओं को नियुक्तियां प्रदान की जा रहीं है। जिलाध्यक्ष राजेश भूरा यादव, जिला उपाध्यक्ष रामभजन राय, वरिष्ठ कांग्रेस नेता ओम वर्मा, प्रीतम दयाल चौरसिया, हरीश आर्य ने नर्मदा क्षेत्र के वरिष्ठ कांग्रेस कार्यकर्ता एडवोकेट कैलाश मालवीय को बुधनी कांग्रेस पिछड़ा वर्ग ब्लाक अध्यक्ष नियुक्त कर नियुक्ति पत्र प्रदान किया। नवनियुक्त ब्लाक अध्यक्ष मालवीय ने कहा की कांग्रेेस पार्टी को मजबूत करना और पिछडे वर्ग के लोगों के लिए काम करना हीं लक्ष्य है। कार्यक्रम में उपस्थित अनूप सिंह भाटी,महेश राजपूत,गिरीश यादव, भगवती प्रसाद मीण, हरदयाल मालवीय, सीताराम यादव, रामभरोश यादव, केआर मीना, हरीश मालवीय, विन्नी मालवीय, शलिगराम मीना, रमेश मालवीय सहित अन्य कांगे्रस कार्यकर्ताओं ने मालवीय की नियुक्ति पर ख्ुाशी व्यक्त की है। 

पिछड़ा वर्ग कांग्रेस ने नसरूल्लागंज में की नियुक्ति 

sehore news
सीहोर। मुख्यमंत्री कमलनाथ, पिछड़ा वर्ग कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष राजमणी पटेल के निर्देशानुसार पिछड़ा वर्ग कांग्रेस जिलाध्यक्ष राजेश भूरा यादव ने नर्मदा क्षेत्र के वरिष्ठ कांग्रेस कार्यकर्ता संतोष महेश्वरी को नसरूल्लांगज का कांग्रेस पिछड़ा वर्ग ब्लाक अध्यक्ष नियुक्त किया है। बोरखेड़ा गार्डन में आयोजित कार्यक्रम के दौरान  पिछड़ा वर्ग कांग्रेस जिला उपाध्यक्ष रामभजन राय, वरिष्ठ कांग्रेस नेता ओम वर्मा, प्रीतम दयाल चौरसिया, हरीश आर्य ने नवनियुक्त ब्लाक अध्यक्ष श्री महेश्वरी को नियुक्ति पत्र प्रदान किया।  कार्यक्रम में लक्ष्मीनारायण, राजेश पंवार, श्रीराम पंवार, धूम सिंह, छोटूु धमेंद्र भारती, धूम सिंह पंवार, ललित योगी, संतोष यादव, रमा पटेल, रमाधर सिंह, केदार सिंह, राजेंद्र उईके, बबलू केवट, हरीश मालवीय, तोर सिंह अनिल,मेश यादव रघुवीर यादव, रामविलास मालवीय रामस्वरूप सिंह आदि कांग्रेेस कार्यकर्ता मौजूद रहे।

हड़ताल पर बैठे कृषि छात्रों ने प्रभारी मंत्री अकील से कहा कृषि मंत्री यादव ने दी हमें धमकी नहीं करेंगे कोई भी भर्ती 

sehore news
सीहोर। आरएके कॉलेज गेट के सामने अनिश्चिकालील धरना प्रदर्शन कर रहे कृषि स्नातक छात्र छात्राओं ने किसान मेले में पहुंचे प्रभारी मंत्री आरिफ अकील को गेट पर हीं घर लिया। प्रदर्शनकारी छात्र छात्राओं ने हाथों में नारे लिखी तख्तियों के साथ प्रभारी मंत्री को बताया  की प्रदेश सरकार वचन नहीं निभा रहीं है और कृषि मंत्री सचिन यादव ने छात्रों को धमकी देते हुए कुछ भी कर लो भर्ती नहीं की जाएगी जैसी बात कहीं है।  बीते दिनों से कृषि कॉलेज गेट पर प्रदर्शन कर रहे छात्र नेता सुरेश सिंह दांगी का कहना है की कृषि स्नातक एक स्नाकोत्तर सात सूत्रीय मांगों को लेकर अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन कर रहे है। छात्र नेता दांगी ने कहा की न्रदेश में क सहायक  संचालक कृषि, वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी, आत्मा प्रोजेक्ट में एटीएम बीटीएम में रिक्त पदों पर भर्ती नहीं की जा रहीं है। इसी प्रकार की उदयानिकी विभाग सहायक सधारक उदमान पर भी रिक्त है कृषि विस्तार अधिकारी गामीण विस्तार अधिकारी के भी कई पदों रिक्त है। इधर प्रदेश की कृषि उपज मंडियों में भी सचिव के अनेक पद खाली है। पूरे प्रदेश में सन 2005 से 5129 पद कृषि विभाग में रिक्त है बाबजूद इस के उक्त पदों पर सरकार के द्वारा भर्ती नहीं की जा रहीं है। छात्र नेता दांगी ने कहा की पंचायत स्तर के कृषि विस्तार अधिकारियों के पास भी 3 ग्राम पंचायतों के स्थान पर 75 ग्राम पंचायते है। कृषि स्नातक छात्र लम्बे समय से बेरोजगार है और सरकार विकेंसी नहीं निकाल रहीं है। गैर तकनीकी स्टाफ के कारण खासतौर से किसानों को हीं नुकसान हो रहा है। प्रदर्शनकारी छात्रों ने कहा की जबतक सरकार हमारी मांग पूरी नहीं करती है अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन जारी रहेगा। 

ओवर ब्रिज के नीचे का रास्ता किया गया बंद  शवयात्रा सहित नहीं निकल पाते छोटे वाहन 
प्रभारी मंत्री को आईटीसेल कांग्रेस जिला उपाध्यक्ष राजेंद्र नागर ने सौपा ज्ञापन 
sehore news
सीहोर। रेलवे ने लुनिया मोहल्ला, सुभाष कॉलोनी,नेहरू कॉलोनी के सैकड़ों नागरिकों के लिए मुसीबत खड़ी कर दी है। मंडी ओवर ब्रिज के नीचे का पुराना रास्ता रेलवे ने बंद कर दिया है। कांग्रेस आईटीसेल के जिला उपाध्यक्ष राजेंद्र नागर के नेतृत्व में बुधवार को कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने आरएके कॉलेज पहुेचे जिले के प्रभारी मंत्री आरिफ अकील को ज्ञापन दिया है। ज्ञापन के माध्यम से कांग्रेस आईटीसेल ने जनहित में बंद रास्ता खोलने की मांग की है।  प्रभारी मंत्री को दिए गए ज्ञापन में श्री नागर ने बताया की पहले भी प्रशासन को इस समस्या के निकारण के लिए शिकायती पत्र दिया गया है लेकिन रेलवे और प्रशासन इस तरफ ध्यान देने को तैयार नहीं है। जिस का खामियाजा सैकड़ों नागरिकों और दो व चार पहिया वाहन चालकों को भुगतना पड़ा रहा है रेलवे के द्वारा रास्ते पर पुरानी पटरियां और लकडिय़ां सहित पत्थर डाल दिए है जिस से आवागमन बुरी तरह प्रभावित हो रहा है मंडी सहित छावनी के पैदल या वाहनधारी नागरिकों को भी बाजार आने जाने में परेशानियों का सामना करना पड़ता है। रास्ता बंद होने से हादसे भी हो रहे है। जनहित में उक्त पुराना रास्ता जल्दी व्यवस्थित कराने की मांग की गई है। मांग करने वालों में जिलामंत्री दर्शन सिंह वर्मा, राजेंद्र वर्मा, नवेद खान, लोकेंंद्र वर्मा, एसके राठौर, राजेंद्र मेवाड़ा, चेतन वर्मा, कैलाश विश्वकर्मा, हरीश बिसोरिया, नरेंश आर्य, आनंद कोैशल आदि कांग्रेस कार्यकर्ता शामिल है। 

प्रभारी मंत्री श्री आरिफ अकील ने किया कृषि मेले का शुभारम्भ, लाखों की अनुदान राशि के प्रमाण-पत्र वितरित किए

sehore news
गैस त्रासदी, राहत एवं पुर्नवास, पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक कल्याण, सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग विभाग मध्यप्रदेश शासन तथा सीहोर जिले के प्रभारी मंत्री श्री आरिफ अकील बुधवार को सीहोर पहुंचे। प्रभारी मंत्री श्री अकील द्वारा आर.ए.के. कृषि महाविद्यालय में आयोजित कार्यक्रम के दौरान कृषि मेले का शुभारम्भ किया गया। इस अवसर पर प्रभारी मंत्री श्री अकील ने कहा कि प्रदेश सरकार वचनों की पक्की सरकार है, वचनपत्र के एक.एक वचन को पूर्ण किया जाएगा। कृषकों को हर क्षेत्र में मदद एवं बेहतर तकनीकी सुविधाएं देने का प्रयास किया जा रहा है। सीहोर जिले में अब तक लगभग 82 हज़ार कृषकों का ऋण माफ हुआ हैए आने वाले समय में इस योजना के शेष पात्र किसानों का भी ऋण माफ हो जाएगा। कृषि के साथ साथ सीहोर जिले को गौशाला खोलने में प्रदेश में प्रथम स्थान पर लाने का लक्ष्य है। कृषि विज्ञान मेले में हजारों की संख्या में कृषक उपस्थित थे। प्रातः 10 बजे से तकनीकी संगोष्ठी प्रारंभ हुई और निर्धारित समय पर कृषकों ने प्रभारी मंत्री सहित अन्य महत्वपूर्ण व्यक्तियों का उद्बोधन सुना। कृषि विभाग द्वारा ड्रोन तकनीक से फसलों में कीटनाशक के छिड़काव का प्रदर्शन भी किया गया। मेले में कृषकों को कृषि के आधुनिक तरीके, नवीन तकनीक, जैविक खेती, पशुपालन, मछली पालन, रेशम पालन के साथ-साथ छोटे-छोटे उद्योगों की जानकारी प्रदर्शनी के माध्यम से दी गई।  कार्यक्रम के अंत में प्रभारी मंत्री द्वारा कृषिए उद्यानिकीएपशुपालन एवं मत्स्य पालन से संबंधित हितग्राहियों को अनुदान राशि के प्रमाण पत्र वितरित किये गए। कृषि विभाग के उप संचालक श्री एस एस राजपूत ने जानकारी देते हुए बताया कि कार्यक्रम में कस्टम हायरिंग केंद्र के हितग्राही को 10 लाख रुपए की राशि का अनुदान शासन से प्राप्त हुआ जिसका प्रमाण पत्र सांकेतिक रूप से हितग्राही को प्रदान किया गया। इसी प्रकार कंबाइन हार्वेस्टर के हितग्राही को 8 लाख रुपये की राशि का अनुदान प्राप्त हुआ। आत्मा योजना अंतर्गत सर्वोत्तम कृषकों को प्रभारी मंत्री ने 10.10 हज़ार रुपये के पुरस्कार तथा स्व सहायता समूहों को सीड मनी प्रदान की। कार्यक्रम में कलेक्टर श्री अजय गुप्ता, पुलिस अधीक्षक श्री शशीन्द्र चौहान, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री अरुण कुमार विश्वकर्मा, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती उर्मिला मरेठा, नगर पालिका अध्यक्ष श्रीमती नमिता राठौर,श्री शैलेन्द्र पटेल, श्री रमेश सक्सेना, श्री राजेश गौर, श्री राजीव गुजराती, श्री कैलाश परमार,श्री अभय मेहता सहित अन्य अधिकारी एवं जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।

अंन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर जिला स्तरीय महिला सम्मान समारोह एवं आनंद मेले का आयोजन 7 मार्च को टाउनहाल में

अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर 7 मार्च 2020 को टसउनहाल में जिला स्तरीय महिला सम्मान समारोह एवं आनंद मेले का आयोजन महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा किया जाएगा। कलेक्टर श्री अजय गुप्ता द्वारा समस्त विभाग प्रमुखों को निर्देशित किया गया है कि अपने-अपने विभाग की महिलाओं की सहभागिता एवं कार्यक्रम के लिए आवश्यक कार्यवाही करना सुनिश्चत करें।   

राष्ट्रीय श्रवण जागरूकता अभियान पर एक दिवसीय कार्यशाला संपन्न

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रभाकर तिवारी के मार्गदर्शन में राष्ट्रीय श्रवण जागरूकता अभियान पर एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन नर्स प्रशिक्षण केन्द्र सीहोर में आयोजित किया गया। इस अवसर पर श्रवण से संबंधित बीमारियों, श्रवण यंत्रों की उपयोगिता महत्व पर विस्तार से जानकारी दी गई। साथ राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के अंतर्गत 18 वर्ष तक आयु के बच्चों के शासकीय खर्च उप उपचार पर जानकारी प्रदान की गई। बताया गया कि मोबाइल का अत्यधिक उपयोग तथा अत्यधिक कोलाहल भी श्रवण संबंधी बीमारियों का प्रमुख कारण है। इस दौरान प्रशिक्षु नर्सों द्वारा श्रवण से संबंधित बीमारियों एवं उपचार सावधानियों पर प्रश्न पूछे गए जिसकी जानकारी प्रदान की गई। कार्यशाला सह संगोष्ठी में डीईआईसी प्रबंधक श्रीमती श्रृद्धा गुप्ता, आडियोलॉजिस्ट एवं स्पीचथैरेपिस्ट राजकुमार ने जानकारी प्रदान की। 

प्रथम दिन हायर सेकेण्ड्री परीक्षा में कुल 2405 परीक्षार्थियों में से 2375 विद्यार्थियों ने परीक्षा दी तथा 30 विद्यार्थी अनुपस्थित

माध्यमिक शिक्षा मंडल मध्यप्रदेश भोपाल द्वारा आयोजित हायर सेकेण्ड्री परीक्षा सीहोर जिले के निर्धारित 42 परीक्षा केन्द्रों पर प्रारंभ हुई। हायर सेकेण्ड्री परीक्षा के अंतर्गत अंग्रेजी विशिष्ट विषय का प्रश्न पत्र आयोजित किया गया। जिले के समस्त परीक्षा केन्द्रों पर शांतिपूर्ण परीक्षा का आयोजन हुआ। कलेक्टर के निर्देशन में जिला स्तरीय निरीक्षण दल ने जिले के अनेकों परीक्षा केन्द्रों का सघन निरीक्षण किया तथा हायर सेकेण्ड्री परीक्षा विधिवत संचालित पाई। जिले में हायर सेकेण्ड्री परीक्षा में कोई भी नकल प्रकरण दर्ज नही हुआ। जिले में कुल 2405 परीक्षार्थियों में से 2375 ने परीक्षा दी तथा 30 विद्यार्थी अनुपस्थित रहें।

निशुल्क आयुष चिकित्सा परामर्श एवं मेगा स्वास्थ्य शिविर सम्पन्न

जिला आयुष अधिकारी सीहोर ने बताया कि भारत सरकार की आयुष मिशन योजनांतर्गत एवं कलेक्टर सीहोर के निर्देशन में कृषि विज्ञान मेला आर ए के कृषि महाविद्यालय परिसर सीहोर में निशुल्क आयुष मेगा चिकित्सा शिविर का आयोजन किया गया। जिसमें आयुर्वेद, होम्योपैथी एवं युनानी चिकित्सकों द्वारा कुल 633 रोगियों को परामर्श एवं औषधियां नि:शुल्क वितरित की गई।

भारत-चीन व्यापार संबधो पर व्याख्यान माला का आयोजन

चन्द्रशेखर आजाद शासकीय स्नातकोत्तर अग्रणी महाविद्यालय,सीहोर में विश्व बैंक परियोजना के अन्तर्गत अर्थशास्त्र विभाग द्वारा तीन दिवसीय आकदमिक सपोर्ट व्याख्यान माला 02 से 04 मार्च तक आयोजित की गई। व्याख्यान माला के तृतीय दिवस को सर्वप्रथम माँ सरस्वती की प्रतिमा पर कार्यक्रम के प्रमुख अतिथि डॉ.एच.बी.गुप्ता एवं महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ.आशा गुप्ता द्वारा माल्यापर्ण किया गया। प्रमुख वक्ता एवं विषय विशेषज्ञ डॉ.एच.बी.गुप्ता प्राध्यापक एवं विभागाध्यक्ष अर्थशास्त्र,उच्च शिक्षा उत्कृष्टता संस्थान भोपाल ने अपना व्याख्यान ”भारत चीन व्यापार संबध“ विषय पर प्रस्तुत किया। आपने अपने व्याख्यान में भारत और चीन के व्यापार की वर्तमान स्थिति,आयात-निर्यात, भुगतान शेष, कोरोना वायरस का व्यापार पर प्रभाव एवं व्यापार की तुलनात्मक स्थिति आदि के संबध में विस्तार से विचार प्रस्तुत किये। विद्यार्थियों ने व्याख्यान माला में प्रश्न पूछकर अपनी जिज्ञासाओं को पूर्णकर ज्ञानवर्धन किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रही प्राचार्य डॉ.आशा गुप्ता ने अपने उद्बोधन में कहा कि भारत में चीनी वस्तुओं का बहुत बड़ा बाजार है। इसलिये चीन से आयात व्यापार तेजी से बड़ा है। किन्तु उसकी तुलना में निर्यात में अपेक्षित वृद्वि नही हुई है। कोरोना वायरस के कारण होली में आने वाली वस्तुओं का उपयोग सभी को सोच समझकर करना चाहिये ताकि कोरोना का प्रभाव भारत में न हो। विभागाध्यक्ष अर्थशास्त्र डॉ.सुमन रोहिला ने तीन दिवसीय व्याख्यान माला में उद्देश्यों पर प्रकाश डाला। उल्लेखनीय है कि व्याख्यान माला के प्रथम दिवस को डॉ.महिपाल सिंह यादव,भोपाल एवं द्वितीय दिवस को डॉ.जी.आर गांगले,दमोह द्वारा अपने व्याख्यान प्रस्तुत किये गये। कार्यक्रम का संचालन प्राध्यापक डॉ.शीलचंद गुप्ता द्वारा किया गया। कार्यक्रम के अन्त में प्राध्यापक डॉ.नीरजा कोष्टा द्वारा सभी का आभार प्रदर्शन किया गया। व्याख्यान माला में महाविद्यालय के प्राध्यापक डॉ.अनिल राजपूत, डॉ.एन.एम.कुरैशी, प्रो.नोरा रूथ कुमार , डॉ.रूखसाना अंजुम खान एवं बड़ी संख्या में अर्थशास्त्र विषय के स्नातकोत्तर एवं स्नातक स्तर के विद्यार्थी उपस्थित होकर समसामयिक व्याख्यान से लाभान्वित हुये।

जिस जिले की रेत खदान है उसी जिले की ई.टी.पी. जारी होगी

मंत्रालय में खनिज साधन मंत्री श्री प्रदीप जायसवाल ने खनिज साधन विभाग के नवीन पोर्टल को <www.mining.mp.gov.in>  लॉन्च किया। नवीन रेत नीति 2019 पर आधारित निविदाओं सीहोर, भिण्ड, शिवपुरी एवं जिले के सफल निविदाकारों द्वारा प्रक्रिया पूर्ण कर अनुबंध उपरांत अब पोर्टल के माध्यम से ई.टी.पी. जारी कर सकेंगे। श्री जायसवाल ने कहा कि प्रथमतरू इस पोर्टल का उपयोग मध्यप्रदेश रेत खनन परिवहन, भंडारण एवं व्यापार नियम 2019 के अन्तर्गत स्वीकृत रेत खदानों के ठेकों के लिए किया जावेगा, उसके बाद इसका उपयोग अन्य खनिजों के लिए भी किया जावेगा। इस पोर्टल की विशेषता से अवगत कराते हुए बताया कि इस पोर्टल के तहत जारी होने वाली ई.टी.पी. में कोई भी छेड़-छाड़ नहीं हो पाएगी। ई.टी.पी. में क्यूआर कोड होगा जिसे किसी भी मोबाईल से स्केन किया जाकर टीपी की सत्यता प्रमाणित हो सकेगी। श्री जायसवाल ने कहा कि जिस जिले से रेत खनन होगी उसी जिले की ई.टी.पी. जारी की जायेगी। रेत परिवहन के लिए उपयोग किए जाने वाले वाहनों में अब जीपीएस सिस्टम का उपयोग किया जाना अनिवार्य कर दिया गया है, जिसे भविष्य में पोर्टल के साथ जोड़ दिया जायेगा। जी.पी.एस. सिस्टम होने से वाहनों के आवागमन पर निगरानी रखना अब आसान हो जायेगा। सभी खदानों की geo reperencing  भी की जा रही है। रेत के अवैध परिवहन को रोकने के लिए अब अन्य जिले से ई.टी.पी. जारी नही हो सकेगी। जिस जिले से रेत का खनन किया जायेगा उसी जिले से ई.टी.पी. जारी हो सकेगी। अवैध परिवहन को रोकने के लिए पूरे प्रदेश में लगातार कार्रवाई की जा रही है। उन्होंने कहा कि जिलों में आवश्यकता के अनुरूप चेक पोस्ट भी लगाया जाएगा। खनिज साधन विभाग के प्रमुख सचिव श्री नीरज मंडलोई ने कहा कि इस पोर्टल के माध्यम से ही समस्त वित्तीय प्रबंधन भी होगा। ठेकेदार को किश्त जमा किए जाने की निश्चित तिथि से पहले एस.एम.एस. एलर्ट सिस्टम द्वारा ही जारी कर दिया जावेगा। किश्त नही जमा करने की स्थिति में निश्चित समय उपरांत द्वारा स्वयं ही ई.टी.पी. जनरेशन रोक दिया जावेगा एवं विलम्ब होने की स्थिति में ब्याज की गणना भी स्वतरू ही होकर ऑनलाइन पेमेंट के माध्यम से भुगतान हो सकेगा। बकाया राशि मय ब्याज आदि जमा होने पर स्वतरू ही ई.टी.पी. जारी हो जावेगी। ठेकेदार एवं अन्य संबंधितो की विभिन्न वैधानिक स्वीकृतियां की ड्यू डेट से पूर्व एस.एम.एस. अलर्ट जारी हो जावेगा। पोर्टल पर जिलेवार एवं खदानवार वैधनिक रूप से अनुमत खनन योग्य मात्रा एवं रियल टाईम पर रेत निकासी की मात्रा की जानकारी एवं अन्य जानकारी उपलब्ध होगी जिसका अवलोकन जनता द्वारा भी किया जा सकेगा। प्रमुख सचिव श्री मंडलोई ने बताया कि खनिज साधन विभाग को पूर्व वर्षों में अधिकतम किसी वर्ष में रेत खनिज से 263 करोड़ राजस्व प्राप्त हुआ था अब मध्यप्रदेश रेत (खनन, परिवहन, भण्डारण एवं व्यापार) नियम 2019 के अन्य स्वीकृत ठेकों में राज्य शासन को 1330 करोड़ का राजस्व प्राप्त होगा।

आवेदक को सी.एम. हेल्पलाइन/ऋण माफी पोर्टल पर मिलेगी स्टेटस रिपोर्ट "जय किसान फसल ऋण माफी योजना"

राज्य शासन ने जय किसान फसल ऋण माफी योजना में आवेदकों को उनके आवेदन की वर्तमान स्थिति (स्टेटस रिपोर्ट) की जानकारी सी.एम. हेल्पलाइन/ऋण माफी पोर्टल www.cmlws.mp.online.gov.in के माध्यम से दिये जाने का निर्णय लिया है। प्रमुख सचिव किसान कल्याण एवं कृषि विकास श्री अजीत केसरी ने मुख्य कार्यकारी अधिकारी, एम.पी. ऑनलाइन को इस बारे में विस्तृत दिशा-निर्देश जारी किये हैं। दिशा-निर्देशों के अनुसार एम.पी. ऑनलाइन संचालक किसान कल्याण एवं कृषि विकास तथा सी.एम. हेल्पलाइन के अधिकारियों से समन्वय कर तकनीकी बिन्दुओं के संबंध में जानकारी भेजने और प्राप्त करने की व्यवस्था सुनिश्चित करेगी। इस व्यवस्था में आवेदक द्वारा सी.एम. हेल्पलाइन पर फोन करके अपना ऋण माफी सीरियल नंबर, मोबाइल नंबर बताये जाने पर उसे प्रकरण की वर्तमान स्थिति बताई जाएगी। आवेदक के प्राप्त जानकारी से संतुष्ट नहीं होने पर उसका आवेदन एल-1 श्रेणी अर्थात अनुविभागीय अधिकारी राजस्व के पास दर्ज किया जाएगा। वहां भी 15 दिन में निराकरण नहीं होता है, तो आवेदन उप संचालक के पास भेज जाएगा। उप संचालक द्वारा 15 दिन में निराकरण नहीं किये जाने पर कलेक्टर के पास आवेदन भेजा जाएगा। यदि कलेक्टर द्वारा 15 दिन की समय-सीमा में भी आवेदन का निराकरण नहीं होता है, तो आवेदन संचालक किसान कल्याण एवं कृषि विकास के पास भेजा जाएगा। सी.एम. हेल्पलाईन के सभी प्रकरणों की अद्यतन सूचना जय किसान फसल ऋण माफी योजना के तहत वर्गीकृत की जाएगी। इस योजना की मॉनीटरिंग अलग से की जाएगी।

पशुधन बीमा योजना पूरे प्रदेश में लागू

पशुपालन, मत्स्य विकास एवं मछुआ कल्याण मंत्री श्री लाखन सिंह यादव ने गत दिवस किसानों से कहा है कि पशुपालन अपनाकर अतिरिक्त आय प्राप्त करें। उन्होंने कहा कि पशुधन बीमा योजना लागू होने से पशुपालन व्यवसाय में पशुधन हानि की भरपाई संभव हो गई है। श्री यादव ने बताया कि यह योजना प्रदेश के सभी जिलों में लागू की गई है। मंत्री श्री यादव ने बताया कि पशुधन बीमा योजना में दुधारू पशु के साथ सभी श्रेणी के पशुधन का भी बीमा कराया जा सकता है। एक हितग्राही अधिकतम 5 पशुओं का बीमा करा सकता है। उन्होंने कहा कि भेड़, बकरी, शूकर आदि में 10 पशुओं की संख्या को एक पशु इकाई माना जाएगा। इससे यह आशय है कि भेड, बकरी एवं शूकर पालक एक बार में 50 पशुओं का बीमा करा सकेंगे। बीमा प्रीमियम पर एपीएल श्रेणी को 50 प्रतिशत तथा बीपीएल, अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति श्रेणी के पशुपालकों को 70 प्रतिशत तक अनुदान मिलेगा। शेष राशि हितग्राही द्वारा वहन की जायेगी। बीमा प्रीमियम की अधिकतम दर एक वर्ष के लिये 3 प्रतिशत तथा तीन वर्ष के लिये 7.50 प्रतिशत देय होगी। प्रदेश में वर्तमान में 2.45 प्रतिशत तथा 5.95 प्रतिशत दर लागू है। पशुपालक अपने पशुओं का बीमा एक वर्ष से लेकर तीन वर्ष तक के लिये करा सकेंगे। मंत्री श्री यादव ने बताया कि बीमित पशुओं के पालकों को पशु की मृत्यु की सूचना 24 घंटे के भीतर बीमा कंपनी को देना होगी। पशुपालन विभाग के चिकित्सक शव का परीक्षण करेंगे और रिपोर्ट में मृत्यु के कारणों का उल्लेख करेंगे। बीमा कंपनी को अधिकारी एक माह के अंदर दावे संबंधी प्रपत्र प्रस्तुत करेंगे। उसके बाद कंपनी 15 दिन में दावे का निराकरण करेगी।

कोरोना वायरस पर स्वास्थ्य विभाग ने जारी की एडवाइजरी

प्रदेश के नागरिकों को कोरोना वायरस के लक्षणों और उसके संक्रमण से बचने के लिए लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा एजवाइजरी (सलाह) जारी की गई है। एडवाइजरी (सलाह) के अनुसार कोरोना वायरस विषाणुओं का समूह है जिससे सामान्यतरू जानवरों में बीमारियाँ होती है। कभी-कभी ये मनुष्यों में संक्रमण करता है। मनुष्यों में इसके लक्षण सर्दी, खाँसी एवं बुखार, सिरदर्द, गले में खराश इत्यादि के रूप में हो सकते हैं। छोटे बच्चों और बुजुर्ग व्यक्तियों सहित ऐसे व्यक्तियों में जिनमें प्रतिरक्षण की क्षमता कम होती है, में यह वायरस निमोनिया, ब्रोंकाइटिस इत्यादि गंभीर बीमारियाँ उत्पन्न करता है। एडवाइजरी के अनुसार कोरोना वायरस संक्रमित व्यक्ति के खाँसने या छींकने से हवा द्वारा फैलता है। संक्रमित व्यक्ति के निकट संपर्क, छूने या हाथ मिलाने और संक्रमित सामग्रियों के संपर्क में आने के बाद आँख या नाक को छूने से भी यह फैलता है। नागरिकों को चाहिए कि संक्रमित व्यक्ति के निकट संपर्क में आने से बचें। अपने हाथ बार-बार धोते रहें। संक्रमित सामग्रियों के संपर्क में आने के बाद आँख या नाक को छूने से बचें। नागरिकों को सलाह दी गई है कि सामान्य सर्दी-खाँसी, बुखार होने पर चिकित्सक की सलाह लें एवं घर में आराम करें।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...