विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 02 मार्च - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 2 मार्च 2020

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 02 मार्च

शांति समिति की बैठक छह को

कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह की अध्यक्षता में शांति समिति की बैठक छह मार्च को आयोजित की गई है कि जानकारी देते हुए अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह ने बताया कि होली एवं रंगपंचमी पर्व के परिपेक्ष्य में आयोजित शांति समिति की बैठक नवीन कलेक्ट्रेट के सभाकक्ष में सायं चार बजे से शुरू होगी। समिति के सभी सदस्यों को सूचनाएं संप्रेषित की गई है।  

वार्षिक स्नेह सम्मेलन के पुरस्कारो का वितरण आज

शासकीय कन्या (अग्रणी) स्नातकोत्तर महाविद्यालय का वार्षिक स्नेह सम्मेलन व पुरस्कार वितरण कार्यक्रम तीन मार्च को आयोजित किया गया है। संस्था के प्राचार्या डॉ मंजू जैन ने बताया कि मंगलवार की दोपहर 12 बजे से महाविद्यालय परिसर में कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। कार्यक्रम की मुख्य अतिथि समाजसेवी श्रीमती पूनम भार्गव, विशिष्ट अतिथि समाजसेवी श्री अतुल शाह जी तथा कार्यक्रम की अध्यक्षता डीएसपी पिंकी जीवनानी करेंगी। 

वन्दे मातरम् का गायन

प्रत्येक माह की एक तारीख को शासकीय कार्यालयों में वन्दे मातरम्् गायन के उपरांत शासकीय कार्यो का सम्पादन किया जाता है। एक मार्च को अवकाश होने के कारण आज दो मार्च को कलेक्ट्रेट परिसर में वंदे मातरम् का गायन हुआ। जिसमें अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह, डिप्टी कलेक्टर श्री लोकेन्द्र सरल के अलावा अन्य अधिकारी व कर्मचारियों ने गायन में सहभागिता निभाई। 

लंबित आवेदनों की समीक्षा 

vidisha news
कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने आज विभिन्न विभागों में लंबित आवेदनों की समीक्षा की। कलेक्ट्रेट के सभाकक्ष में हुई इस बैठक में जिला पंचायत सीईओ श्री मयंक अग्रवाल, अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह, डिप्टी कलेक्टर द्वय श्री लोकेन्द्र सिंह सरल, श्री तन्मय वर्मा के अलावा समस्त एसडीएम और विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद थे।कलेक्टर श्री सिंह ने गौ-शालाओं के निर्माण कार्यो, ग्रीष्मकाल के दौरान आमजनों को पेयजल आपूर्ति हेतु किए जा रहे प्रबंधो की समीक्षा की। कलेक्टर श्री सिंह ने विभिन्न विभागों में सीएम हेल्पलाइन के लंबित आवेदनों को शीघ्रतिशीघ्र निराकृत करने के निर्देश दिए है। इसी प्रकार जनसुनवाई, आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम के अलावा वरिष्ठ कार्यालयों से प्राप्त होने वाले पत्रों के मामले में भी तत्परता से निराकरण करने के निर्देश संबंधित विभागों के अधिकारियों को उनके द्वारा दिए गए है। 

जिला जनसम्पर्क कार्यालय, विदिशा
मध्यप्रदेश शासन
समाचार


किसान आर्थिक रूप से सम्पन्न होंगे तो चहुंओर सम्पन्नता आएंगी-प्रभारी मंत्री श्री यादव
पांच हजार से अधिक किसानो के खातो में 33 करोड़ 56 लाख जमा हुए 
vidisha news
जय किसान फसल ऋण माफी योजना के द्वितीय चरण का आज सोमवार को प्रथम सम्मेलन विदिशा की पुरानी कृषि उपज मंडी में सम्पन्न हुआ है। उक्त सम्मेलन में विदिशा, गुलाबगंज एवं ग्यारसपुर तहसील के 5423 कृषको के बैंक खातो में 33 करोड़ 56 लाख रूपए जमा हुए है। कुटीर एवं ग्रामोद्योग, नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा मंत्री तथा जिले के प्रभारी मंत्री श्री हर्ष यादव सहित अन्य जनप्रतिनिधियों ने पात्रताधारी कृषकों को जय किसान फसल ऋण माफी के प्रमाण पत्र एवं आवासीय पट्टे के अधिकार पत्र प्रदाय किए है। प्रभारी मंत्री श्री हर्ष यादव ने कहा कि किसानो की आर्थिक सम्पन्नता से चहुंओर सम्पन्नता आती है। उन्होंने कहा कि किसान मार्केट में जाकर अपनी आवश्यकता के अनुसार सामग्री खरीदते है जो व्यापार में लेन-देन के काम आती है और पैसे एक जगह रूकते नही है।  मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ जी ने जो वचन आमजनों, किसानो और गरीबो के लिए दिए है उनमें से चार सौ वचन अब तक पूरे हो चुके है। मुख्यमंत्री जी ने सबसे पहले किसानो की ऋण माफी कार्य को सर्वोच्च प्राथमिकता दी है। द्वितीय चरण के तहत कालातीत ऋणधारको के पचास हजार से एक लाख रूपए के ऋण माफ किए जा रहे है और अंतिम चरण में एक लाख से दो लाख की राशि के ऋण माफी प्रमाण पत्र प्रदाय किए जाएंगे। प्रभारी मंत्री श्री यादव ने बताया कि किसानो को शीघ्र ही गेंहू पर 160 रूपए प्रति कि्ंवटल की बोनस राशि प्रदाय करने की कार्यवाही को अंतिम रूप दिया गया है। उन्होंने बताया कि अपै्रल माह से किसानो के खातो में गेंहू की बोनस राशि जमा करने की प्रक्रिया प्रचलन में आ जाएगी। मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ ने मात्र अपने 14 माह के कार्यकाल में ऐसी इबादत तैयार की है जो आगामी चार वर्षो के लिए नींव का काम करेंगी। प्रदेश के सभी वर्गो में खुशहाली हो यही राज्य सरकार का मुख्य उद्वेश्य है। जिसकी शुरूआत हो चुकी है। प्रभारी मंत्री श्री यादव ने किसानबंधुओं से अपील करते हुए कहा कि गुमराह ना हो किसानो से जो-जो वादे किए गए है वे अक्षरशः पूरे होंगे। राज्य सरकार द्वारा अब तक आमजनों के हितार्थ में लिए गए लाभान्वित निर्णयों पर भी संक्षिप्त प्रकाश डाला। विदिशा विधायक श्री शशांक भार्गव ने कहा कि किसान बंधु आर्थिक रूप से सबल हो इस हेतु मुख्यमंत्री जी द्वारा किए गए आर्थिक प्रबंधो से जय किसान फसल ऋण माफी योजना के द्वितीय चरण में विदिशा विधानसभा क्षेत्र के 5423 किसानों को 33 करोड़ 55 लाख रूपए की राशि उनके बैंक खातो में जमा कराने का कार्य किया गया है।  जिसमें विदिशा तहसील के 3246 किसान, ग्यारसपुर के 1169 तथा गुलाबगंज के 1008 किसान शामिल है। विधायक श्री भार्गव ने कहा कि द्वितीय चरण के तहत आयोजित इस कृषक सम्मेलन में कृषकों को प्रमाण पत्र वितरित किए गए है जिसमें चालू ऋण (पीए) 2515 किसानो के लिए 169885909 रूपए के प्रमाण पत्र तथा कालातीत ऋण (एनपीए) धारक 731 किसानों का 29744349 रूपए का ऋण माफी प्रमाण पत्र प्रदाय किए जाएंगे। इसी प्र्रकार ग्यारसपुर तहसील के चालू ऋण (पीए) 65 किसानो के खातो में 45208231 रूपए तथा कालातीत ऋण (एनपीए) धारक 514 किसानो के खातो में 20586739 रूपए, गुलाबगंज तहसील के चालू ऋण (पीए) धारक 545 किसानो के खातो में 50357751 रूपए तथा कालातीत ऋण (एनपीए) धारक 263 कृषको के खातो में ऋण माफी की राशि 19882120 जमा की गई है। उन्होंने कहा कि ऐसे किसानबंधु जो किन ही कारणों से कार्यक्रम स्थल पर उपस्थित नही हो पाए है वे मेरे निज निवास स्थल से ऋण माफी आश्य के प्रमाण पत्र प्राप्त कर सकते है। उन्होंने ऋणमाफी प्रमाण पत्र प्राप्त किसानों से कहा कि उक्त प्रमाण पत्र को लेकर अपनी-अपनी बैंक शाखाओं में जरूर पहुंचे ताकि बैंकर्स को इस बात की जानकारी हो सकें कि अमूक किसान की कितनी ऋण माफी माफ हुई है। विधायक श्री भार्गव ने पिछले 14 माह के कार्यकाल में प्रदाय कराए गए विकास कार्यो को रेखांकित किया। उन्होंने राज्य सरकार की नब्बे प्रतिशत अनुदान योजना का लाभ लेने का आग्रह किसानों से किया। विधायक श्री भार्गव ने कहा कि सोलर नई क्रांति के तहत सौर ऊर्जा के उपकरणों पर राज्य सरकार द्वारा नब्बे प्रतिशत की सब्सिडी दी जा रही है। उन्होंने बिजली उपकरणों की यूनिटे अपने-अपने खेतो पर लगाने की सलाह दी है। विधायक श्री भार्गव ने कहा कि जिले में गुलाबी फार्म के निराकरण से भी लाभांवित होने वाले किसानों को द्वितीय चरण के ऋण माफी कार्यक्रम में शामिल किया गया है।  जय किसान फसल ऋण माफी योजना की जिला स्तरीय क्रियान्वित समिति के सदस्य श्री निशंक जैन ने कहा कि प्रदेश में आर्थिक संकट होने के बावजूद मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ जी के आर्थिक प्रबंधो से यह सब संभव हो रहा है। उन्होंने किसानों से किए गए वादो की पूर्ति के सोपानो में एक कदम और आगे बढ़े है। समिति के सदस्य श्री सुभाष बोहत, श्रीमती ज्योत्सना यादव, डॉ श्रीमती मर्सरत शाहिद, श्रीमती रिंकी रघुवंशी के अलावा श्री शैलेन्द्र रघुवंशी ने भी सम्बोधित किया।

स्टॉलो का अवलोकन
प्रभारी मंत्री श्री हर्ष यादव समेत अन्य जनप्रतिनिधियों के द्वारा किसान सम्मेलन परिसर में लगाए गए स्टॉलो का अवलोकन किया गया। साथ ही समितिवार स्टॉलो में पहुंचकर प्रभारी मंत्री श्री यादव और विधायक श्री भार्गव ने लाभांवित होने वाले किसानों को ऋण माफी आश्य के प्रमाण पत्र स्टॉलो में ही प्रदाय किए है। इसके अलावा किसानों से संवाद स्थापित कर आगामी गेंहू, चना फसल के संबंध में जानकारियां प्राप्त की है। कॉ-आपरेटिव बैंक एवं राष्ट्रीय कृत बैंको की शाखा के पृथक-पृथक स्टॉल लगाए गए थे। 

विभागों के स्टॉलो का अवलोकन
किसान सम्मेलन परिसर में स्वास्थ्य विभाग, पशु चिकित्सा विभाग के उपचार केम्पों का भी आयोजन किया गया था। इन स्टॉलों का अवलोकन प्रभारी मंत्री एवं अन्य के द्वारा किया गया है। परिसर में महिला एवं बाल विकास विभाग, मत्स्य विभाग, कृषि विभाग के माध्यम से क्रियान्वित योजनाओं एवं कार्यक्रमों पर आधारित प्रदर्शनी भी स्टॉलो में लगाई गई थी जिनका अवलोकन अतिथियों द्वारा किया गया है।  कार्यक्रम स्थल पर श्रीमती पानबाई, श्री रघुवीर सिंह सूर्यवंशी, श्री महेन्द्र यादव, श्री प्रताप भानु शर्मा, श्री मेहताब सिंह यादव, श्री दीवान किरार, श्री अनुज लोधी, सुश्री प्रियंका किरार के अलावा अन्य जनप्रतिनिधि, कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह, पुलिस अधीक्षक श्री विनायक वर्मा समेत अन्य अधिकारी, कर्मचारी तथा किसानबंधु मौजूद थे। कार्यक्रम के अंत में विदिशा जनपद पंचायत के अध्यक्ष श्रीमती रामदेवी रंधीर सिंह ठाकुर ने आंगतुको के प्रति आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम का संचालन डॉ दीप्ति शुक्ला ने किया। 

कोई टिप्पणी नहीं: