बिहार : 83 कोरोना पॉजिटिव में 42 ठीक हो गये हैं और 2 की मौत - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 17 अप्रैल 2020

बिहार : 83 कोरोना पॉजिटिव में 42 ठीक हो गये हैं और 2 की मौत

83-posetive-42-recoverd-2-died-in-bihar-corona
पटना,17 अप्रैल. बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पाण्डेय ने कहा है कि सिवान के 5 कोरोना पॉजिटिव लोग हुए स्वस्थ हो गये है. इसके साथ ही बिहार में स्वस्थ हुए कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 42 हो गयी है .कुल 83 कोरोना पॉजिटिव में 42 ठीक हो गये हैं और 2 की मौत हो गयी है.दोनों की मौत एम्स,पटना में हुई है.एक मुंगेर का और दूसरा वैशाली का है. इतना तो कहा जा सकता है कि बिहार में कोरोना के प्रसार कम नहीं हो रहा है. कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती ही जा रही है. इस समय कोरोना के 83 पॉजिटिव मरीज हैं. इनमें 42 ठीक हो गये हैं. 2 की मौत हो गयी है.इस मौत से सरकार को जोरदार धक्का लगा है.कल से बिहार में डोर टू डोर स्क्रींनिग सीवान, नालंदा, बेगूसराय और नवादा में शुरू हुआ था.आज की मौत ने सरकार को मजबूर कर दिया कि सभी 38 जिले डोर टू डोर स्क्रींनिग करायी जाए. बता दें कि कोरोना का प्रसार करने में राज्य के दो संक्रमित मरीजों का सबसे बड़ा योगदान रहा है. इन दोनों मरीजों की वजह से राज्य में कोरोना की रफ्तार तेजी से बढ़ गयी है. ये दोनों संक्रमित मरीजों ने 33 लोगों को कोरोना वायरस से संक्रमित कर दिया है. सिवान में सबसे पहले कोरोना पॉजिटिव ओमान से लौटा हुआ युवक में पाया गया था. ओमान से वह 21 मार्च को सिवान लौटा था. इसके बाद उसके परिवार के लोग उससे संक्रमित हो गये. ओमान से लौटा हुआ युवक के जितने भी लोग संपर्क में आये हैं, उन लोगों में कोरोना संक्रमित होने का खतरा बढ़ गया है. वहीं, दूसरा कोरोना संक्रमित मरीज मुंगेर जिले का था, जिससे नौ लोगों में संक्रमण हो गया. यह युवक कतर से 13 मार्च को मुंगेर जिला लौटा था. जिसमें कोरोना पॉजिटिव पाया गया था. हालांकि इस कोरोना संक्रमित मरीज की मौत 21 मार्च को एम्स पटना में हो गयी. बिहार में शुक्रवार को कोरोना संक्रमित मरिजों की संख्या 83 हो गयी. इधर, सिवान जिला तो कोरोना का हॉटस्पॉट बन गया है. इसे देखते हुए मुख्य सचिव ने सारण के प्रमंडलीय आयुक्त और डीआइजी को सिवान में कैंप करने का निर्देश दिया है. सर्वाधिक तेजी से कोरोना फैलाने वाला मरीज सिवान के रघुनाथपुर प्रखंड के पंजवार गांव का निवासी है. उसने सिर्फ 10 दिनों में 24 संबंधियों के बीच कोरोना वायरस का प्रसार कर दिया. ओमान से वह 21 मार्च को सिवान लौटा था. लक्षण के अधार में उसका सैंपल 30 मार्च को लिया गया था. तब से उसके संपर्क में आने वाले लोगों में पॉजिटिव होने का सिलसिला थम नहीं रहा है. गुरुवार को उसके संपर्क में आने वाले 14 लोगों में कोरोना पॉजिटिव पाया गया. रघुनाथपुर के इस मरीज के संपर्क में आने वाले और दो कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टी शुक्रवार को हुई.

मुंगेर में चली थी कोरोना की चेन
बिहार के मुंगेर जिले में भी एक कोरोना संक्रमित मरीज के कारण नौ लोगों में कोरोना संक्रमण हो गया. मुंगेर जिले का संक्रमित मरीज 13 मार्च को कतर से लौटा था. मुंगेर के नेशनल हास्पिटल के अलावा पटना के शरणम अस्पताल और अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में उसका इलाज हुआ था. उसकी मौत पटना एम्स में 21 मार्च को हो गयी थी. मौत के बाद ही उसमें कोरोना पॉजिटिव की पुष्टि 22 मार्च को स्वास्थ्य विभाग द्वारा की गयी. इसमें से एक मरीज स्वास्थ्य होकर घर वापस लौट गया है, जबकि मुंगेर के एक मरीज की मौत के बाद पुष्टि की गयी. स्वास्थ्य विभाग द्वारा मुंगेर के इस मरीज के कुल 138 क्लोज कॉन्टैक्ट की सूची तैयार की गयी. इसमें से विभाग द्वारा कुल 109 लोगों के सैंपल लेकर जांच के लिये भेजे गये. इसमें 100 सैंपल निगेटिव आया जबकि नौ सैंपल पॉजिटिव पाये गये. इस बीच बीच पटना के जिला पदाधिकारी कुमार रवि ने कहा कि महताब आलम, बिहारशरीफ,जिला-नालंदा कोरोना वायरस से संक्रमित पाये गये हैं. महताब आलम दिनांक 22.03.2020 को विमान संख्या-6 इ-738 द्वारा दिल्ली से पटना तक यात्रा किये,जिसमें उनका सीट नम्बर- 20 डी था. उक्त विमान के अन्य यात्रियों से सम्पक करने में अबतक कुल 69 यात्री पाये गये हैं, जो वर्तमान समय में बिहार राज्य के अन्दर विभिन्न जिलों में आवासित है.इस पत्र के साथ संबंधित सभी 69 यात्रियों की सूची प्रेषित है। जिला पदाधिकारी कुमार रवि ने 19 जिले के पदाधिकारी को पत्र लिखा है. भागलपुर के 11, समस्तीपुर के 03, मुजफ्फरपुर के 07, नवादा के 01,सीवान के 03, सुपौल के 01, मोतिहारी के 15, भोजपुर के 04,सीतामढ़ी के 06, बेगुसराय के 03, सहरसा के 04, दरभंगा के 03, गया के 01,नालंदा के 01,रोहतास के 01,औरंगाबाद के 01, छपरा के 02,बांका के 01 और पश्चिमी चम्पारण के 01 सहयात्री थे.

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...