बेगूसराय पुलिस लॉक डाउन उलंघन करनेवालों पर अब डंडा चलाने पर हुआ विवश - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 24 अप्रैल 2020

बेगूसराय पुलिस लॉक डाउन उलंघन करनेवालों पर अब डंडा चलाने पर हुआ विवश

begusarai-police-lathi-charge-lock-down
अरुण शाण्डिल्य (बेगूसराय) आज पूरे देश में कोरोना जो कि एक संक्रमित जानलेबा बीमारी के रुप में सम्पूर्ण विश्व को अपना ग्रास बनाने पर आमादा है।जिसके कहर से बचने के लिए लॉकडाउन ये द्वितीय चरण का भी लॉक डाउन जारी करना पड़ा ताकि कोरोना वायरस के चेन को तोड़ा जा सके।इसके बावजूद भी यहाँ के लोग मानने को तैयार नहीं है।अब हालात यहाँ तक पहुँच गई है कि मजबूरन पुलिस को विवशतावश डंडे बरसाने पर रहे हैं।बेगूसराय की धरती काफी उर्वरा रही है एक से बढ़कर एक रत्न पुत्र के रुप में यह धरती दी है,पर कुछ कुपुत्र भी आज के दौड़ में जन्म ले लिए हैं जिसके वजह से आज यहाँ के बुद्धिजीवी वर्ग को शर्मसार होना पड़ रहा है।जी हाँ कुछ लुच्चे, लफंगे, टुच्चे जो खुद तो जाएंगे ही दूसरों को बजी ले जाएंगे।ये आज के युवा बेवजह सड़कों पर घूम रहे हैं और खुद तो डंडा कहा ही रहे हैं और अपने साथ साथ निर्दोष लोगों  पर भी पुलिस द्वारा डंडे की मार खिलवा रहे हैं।अब मजबूरन पुलिसकर्मियों को सख्ती बरतनी पर गई है।आपको बताते चलें कि बिहार का बेगूसराय जिला भी कोरोना संक्रमण केकारण हॉटस्पाट बना हुआ है। जिले में कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर लॉकडाउन का अनुपालन करवाने के लिए बड़े स्तर पर पुलिसकर्मियों और अधिकारियों को तैनात किया गया है।पुलिसप्रशासन और जिलाप्रशासन लोगों से घर के अंदर रहने और अनावश्यक रुप से बाहर नहीं निकलने की अपील की रही है।लेकिन लोग मानने को तैयार ही नहीं हैं।अब मजूबरन पुलिस को सख्ती बरतनी पड़ रही है। पुलिस अब बेवजह घूमने वाले लोगों की पिटाई कर रही है।इसी कड़ी में जिला मुख्यालय के ट्रैफिक चौक पर दर्जनों लोगों की पिटाई हुई।उन्हें कान पकड़कर उठक-बैठक करवाया गया इसके बाद गलती मानने पर ही उन्हें जाने दिया गया।इस सख्ती के कारण कई बेकसूर लोग भी पुलिस के हाथों पिटाई का शिकार बन रहे है।जरूरी काम से भी आने जानेवाला कुछ लोगों की पिटाई बे-वजह ही हो रही है।जबतक वे अपनी सफाई दे रहे हैं तबतक तो पुलिस के दो-चार डंडे उनपर पड़ बरसा चुके होते हैं।इस लॉक डाउन का उलंघन करनेवालों के साथ आज पुलिसप्रशासन जो भी कर रही है एकदम सही कर रही है,भले ही दो/चार निर्दोष भी इसके शिकार हो रहे हैं तो ही रहे हैं।यहाँ पुलिस एकदम सही कर रही है लॉक डाउन का जो भी उलंघन करता है उसका यही हश्र होनी चाहिए। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...