दरभंगा : आज सेवा निवृत होंगे समाजविज्ञानी शिक्षाविद बिनोद - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 30 अप्रैल 2020

दरभंगा : आज सेवा निवृत होंगे समाजविज्ञानी शिक्षाविद बिनोद

binod-chaudhry-retire-today-lnmu
दरभंगा (आर्यावर्त संवाददाता) प्रो० विनोद कुमार चौधरी विभागाध्यक्ष समाजशास्त्र विभाग आज 30 अप्रैल को 40 वर्षों की सेवा से निवृत हो रहे हैं। संप्रति वे समाजविज्ञान संकाय के संकायाध्यक्ष भी हैं। प्रो० चौधरी लगातार ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय की सेवा विभिन्न पदों पर रहकर की। वे बिहार विधान परिषद के सदस्य के रूप में 6 वर्षों के लिए वर्ष 2008 में चुने गए। प्रो० चौधरी के विभागाध्यक्ष बनने के बाद समाजशास्त्र विभाग को राष्ट्रीय स्तर पर एक पहचान मिली।स्वच्छता का समाजशास्त्र की पढ़ाई एवं महाराजाधिराज कामेश्वर सिंह मेमोरियल चेयर की स्थापना भी पदम भूषण डॉ बिंदेश्वर पाठक के सहयोग से इस विभाग में हुआ। चेयर एवं डॉ प्रभात दास फाउंडेशन के सहयोग से विभाग में अब तक 25-30 संगोष्ठी एवं राष्ट्रीय सेमिनार आयोजित हो चुका है। प्रो० चौधरी के विभागाध्यक्ष के कार्यकाल में  संगोष्ठियों के अतिरिक्त आई०सी०एस०एसआर प्रायोजित 10 दिवसीय कार्यशाला भी सफलतापूर्वक संपन्न हुआ। इस कार्यशाला में देश के हर कोने से विषय विशेषज्ञ एवं प्रतिभागियों ने भाग लिया। लॉकडाउन की अवधि में भी नवनियुक्त व्याख्याताओं के सहयोग से लगातार वेविनार संगोष्ठी भी होता रहा। इस संवाददाता से बातचीत करते हुए प्रो० चौधरी ने विश्वविद्यालयों के तमाम शिक्षकों,कर्मचारियों, छात्रों, प्रशासनिक पदाधिकारियों एवं अपने मित्रों के प्रति आभार व्यक्त करते हुए कहा कि इन सबों के सहयोग से ही विभाग को नई दिशा मिल पाई। इस अवसर पर उन्होंने अपने गुरुजनों सर्व श्री डॉ० उग्रनाथ झा, डॉ० जी०एन चौधरी, स्वर्गीय डॉ० अजय नाथ झा, डॉ० एस०एन तिवारी सहित पूर्व विभागाध्यक्षों को नमन किया। उन्होंने सभी मीडिया कर्मियों के प्रति भी आभार व्यक्त किया। अंत में उन्होंने विभाग के सभी शिक्षकों, कर्मचारियों, रिसर्च स्कॉलर एवं वर्तमान तथा पूर्व के छात्रों का अभिनंदन करते हुए आभार व्यक्त किया तथा सबों से लॉकडाउन का पालन करने का निवेदन भी किया। उल्लेखनीय हो कि गोल्ड मेडल सहित कई राष्ट्रीय अवार्ड से सम्मानित प्रो० चौधरी के दर्जनों आलेख एवं आधा दर्जन पुस्तकें भी प्रकाशित है।

कोई टिप्पणी नहीं: