बिहार : भारत में कोरोना महामारी फैलाने की साजिश नेपाल से - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 11 अप्रैल 2020

बिहार : भारत में कोरोना महामारी फैलाने की साजिश नेपाल से

corona-conspiracy-from-nepal
अरुण शाण्डिल्य (बेगूसराय) आज यह बात साफ हो गई है कि नेपाल में  बैठ कर भारत में कोरोना संक्रमण को तेजी फैलाने की साजिश किया गया था।जिसका पर्दाफाश हो गया है।एसएसबी के पत्र से यह खुलासा हो गया है कि नेपाल में बैठा दहशतगर्द बिहार में कोरोना संक्रमण को फैलाने की घिनौनी साजिश कर रहा है।एसएसबी ने बेतिया के डीएम और एसपी को पत्र लिखकर जानकारी दी है।एसएसबी के पत्र मिलने के बाद बिहार सरकार ने भी अपने स्तर से गृह मंत्रालय को इसकी जानकारी दे दी है। बिहार सरकार ने गृह मंत्रालय को जानकारी दी है कि नेपाल के रास्ते से कोरोना संक्रमित जमात वालों को भारत में भेजने की साजिश चल रही है।एसएसबी के पत्र के बाद बिहार सरकार ने सीमा पर अलर्ट जारी कर दिया है।इसके बाद नेपाल में भी हरकत शुरू हो गई है और वहाँ की पुलिस भी छापेमारी शुरू कर दी है। जानकारी के अनुसार नेपाल पुलिस ने भी अपनी कारवाई शुरू कर दी है।नेपाल पुलिस ने कई संदिग्ध मस्जिद और मदरसों में छापेमारी की है।जानकारी के अनुसार नेपाल पुलिस ने रोहतक के एक मस्जिद में ठिकाना बनाए 8 पाकिस्तानियों को डिटेक्ट किया है।वहीं विराटनगर में भी कई पाकिस्तानी संदिग्धों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है।इसके अलावे नेपाल की पुलिस कई अन्य मस्जिदों और मदरसों की तलाशी में जुटी हुई है।बताया जाता है कि  कई पाकिस्तानी नेपाल में शरण लिए हैं । एसएसबी के लेटर के बाद बिहार के गृह सचिव आमिर सुबहानी ने कहा कि किसी को घुसने नही दिया जाएगा।मामला नेपाल में है लेकिन हमने अपने अधिकारियों को हाई अलर्ट कर दिया है।गृह विभाग के अपर मुख्यसचिव ने कहा कि संदिग्ध घुसे नहीं बल्कि घुसने की फिराक में  हैं।लेकिन हमलोग पूरी तरह से सतर्क हैं।इसकी जानकारी केंद्रीय गृह मंत्रालय को भी दे दी गई है।   एसएसबी की पत्र में जालिम मुखिया  के नाम का उल्लेख किया गया है।जिस शख्स के नाम का उल्लेख किया गया है उस पर भारत विरोधी काम करने का आरोप भी है।सीमा सुरक्षा बल ने 3 अप्रैल 2020 को पत्र लिखकर बेतिया जिलाधिकारी को पूरी साजिश की जानकारी दी थी।एसएसबी के पत्र के बाद 7 अप्रैल को बेतिया जिलाधिकारी ने एसपी समेत अन्य अधिकारियों को कोरोना संदिग्धों का नेपाल से भारत आने की गतिविधि के बारे में जानकारी दी थी। उस पत्र में जिस जालिम मुखिया के नाम का उल्लेख किया गया है।बताया जाता है कि वह नेपाल के परसा जिला के सेरवा थाना क्षेत्र के जगन्नाथपुर गाँव का रहने वाला है।वह भारत में कोरोणा महामारी फैलाने की योजना बना रहा है।जालिम मुखिया नेपाल-भारत से हथियार के अवैध सप्लाई और एफआइसीएन तस्करी में भी शामिल है। नेपाल का जालिम मुखिया के नाम का उल्लेख एसएसबी ने अपने पत्र में किया है।यही जालिम मुखिया भारत विरोधी गतिविधि में शामिल रहा है।भारत में हथियार सप्लाई से लेकर जाली नोट के कारोबार में भी इसकी भूमिका बताई जा रही है।जानकारी के अनुसार जालिम मुखिया नेपाल कॉम्युनिस्ट पार्टी का सक्रिय सदस्य बताया गया है।यह पहले माओवादी का भी मेंबर था।नेपाल में पिछली बार हुए चुनाव में उसकी महत्वपूर्ण भूमिका रही थी। जालिम मुखिया का घर परसा जिले के जगन्नाथपुर में है जो कि बेतिया के सिकटा सीमा से लगी हुई है।

कोई टिप्पणी नहीं: