जमशेदपुर : अलग से वार्ड तैयार, कर्मचारियों के लिए वार्ड तैयार - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 12 अप्रैल 2020

जमशेदपुर : अलग से वार्ड तैयार, कर्मचारियों के लिए वार्ड तैयार

  • जमशेदपुर के टीएमएच में गर्भवती महिलाओं के लिए अलग से वार्ड तैयार, कर्मचारियों के लिए वार्ड तैयार

जमशेदपुर के टीएमएच में आने वाली गर्भवती महिलाओं के लिए अलग से वार्ड तैयार किया जा रहा है. इस वार्ड का नाम कोविड-19 लेबर रूम होगा. यह वार्ड सोमवार या मंगलवार तक तैयार कर लिया जायेगा. कंपनी ने कर्मचारियों के लिए मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया है. इसी के तहत प्रेस कॉन्फ्रेंस में उपस्थित सीएसआर चीफ सौरभ रॉय ने बताया कि अब तक 32 हजार मास्क तैयार कर लिया गया है.
corona-ward-ready-in-tms-jamshedpur
जमशेदपुर (आर्यावर्त संवाददाता)  टीएमएच प्रबंधन ने कोरोना संकट से बचने और इसके संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए बड़ा फैसला लिया है. टीएमएच में आने वाली गर्भवती महिलाओं के लिए अलग से वार्ड तैयार किया जा रहा है. इस वार्ड का नाम कोविड-19 लेबर रूम होगा. यह वार्ड सोमवार या मंगलवार तक तैयार कर लिया जायेगा.टाटा स्टील ने भी कोरोना वायरस के संकट से दो चार करने की तैयारी की है. कंपनी ने कर्मचारियों के लिए मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया है. इसी के तहत प्रेस कॉन्फ्रेंस में उपस्थित सीएसआर चीफ सौरभ रॉय ने बताया कि अब तक 32 हजार मास्क तैयार कर लिया गया है. एक लाख मास्क बनाने का वर्तमान लक्ष्य रखा गया है. ईस काम मे 155 लोगों को लगाया गया है. डॉक्टर राजन चौधरी ने बताया कि टाटा स्टील की ओर से ओडिशा के गंजाम जिले में पहले से तैयार 200 बेड के अस्पताल को समर्पित कर दिया है, जो कोरोना वायरस के मरीजों के लिए ही दे दिया गया है. ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने इसका उद्घाटन किया है. इसके अलावा 150 बेड का ओडिशा में ही मेडिका अस्पताल के साथ एक अस्पताल कोविड 19 के लिए चलाया जा रहा है जबकि ओडिशा के ही जोड़ा माइंस के क्षेत्र में 50 बेड का आइसोलेशन वार्ड और अन्य सुविधा का युक्त अस्पताल बनाया जा रहा है. कोरोना वायरस को लेकर टीएमएच में सैंपल का टेस्टिंग की अनुमति तो नहीं मिल पायी है, लेकिन सैंपल लेकर टीएमएच से चेकिंग के लिए एमजीएम अस्पताल भेजा जा रहा है, जहां अब तक सौ से अधिक सैंपल जांच के लिए टीएमएच में भेजे जा चुके है और अब तक कोई पोजिटिव केस नहीं आया है. टीएमएच में सामान्य बीमारियों के इलाज की जहां तक बात है तो जिनके एमआर नंबर है, उनको टेलीफोन पर ही दवा बता दिया जा रहा है. इस सुविधा का लाभ लोग उठा रहे है. हर दिन करीब 350 से 400 लोग इसका लाभ उठा रहे है. लेबर रुम भी संचालित हो रहा है. इमरजेंसी की सारी सेवाएं जारी है. टीएमएच में हर विभाग से जुड़ा एक ओपीडी संचालित हो रहा है, जहां जरूरी केस को ही देखा जा रहा है. सामान्य लोगों को यह अपील की गयी है कि वे लोग अस्पताल नहीं आये, लोगों में संक्रमण बढ़ने का खतरा है. जिनके मरीज अस्पताल में भरती है, उनके परिजन भी अस्पताल में नहीं आये नहीं तो संक्रमण कभी भी बढ़ सकता है. उन्होंने बताया कि एंटी बॉडी टेस्टिंग की व्यवस्था अभी नहीं शुरू की जा सकी है. वहीं टीएमएच के डॉक्टर ने बताया कि जल्द ही उनके अस्पताल में एंटीबॉडी टेस्ट शुरू हो जाएगा, जिससे कोरोना के पॉजिटिव मरीजों की पहचान में आसानी होगी. उपायुक्त ने आईसीएमआर के निर्देश का अनुपालन सुनिश्चित करने का निर्देश दिए. एमजीएम कॉलेज के प्राचार्य ने बताया कि अब तक कुल 917 सैंपल प्राप्त किए गए हैं, जिसमें 700 की रिपोर्ट दी जा चुकी हैं, शेष रिपोर्ट जल्द ही आ जाएंगे. वहीं, उन्होंने उपायुक्त को बताया कि आईसीएमआर के अनुमति के पश्चात जल्द दो और जांच मशीन शुरू हो जाएगी, जिससे जांच में और तेजी आएगी.

कोई टिप्पणी नहीं: