बिहार : क्रूस यात्रा का मार्मिक वर्णन कर प्रभु येसु ख्रीस्त को किया याद किए - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 10 अप्रैल 2020

बिहार : क्रूस यात्रा का मार्मिक वर्णन कर प्रभु येसु ख्रीस्त को किया याद किए

cruse-journy-played
पटना,10 अप्रैल (आर्यावर्त संवाददाता) । आज गुड फ्राइडे है। आज के ही दिन षयतंत्र करके प्रभु येसु ख्रीस्त को क्रूस पर चढ़ाकर मार डाला गया था। पवित्र बाइबिल में उल्लेख है कि क्रूस पर चढ़ने के बावजूद भी प्रभु येसु ख्रीस्त ने षयतंत्र रचने वालों को क्षमा कर दिये। हे! प्रभु उनलोगों का माफ कर देना कि वे नहीं जानते है कि क्या कर रहे हैं.. आज विभिन्न धर्मप्रांतों के द्वारा पवित्र गुड फ्राइडे के अवसर पर चर्च में होने वाले समारोह का सीधा प्रसारण किया गया।ऐसा करने से घर में ही धार्मिक माहौल बन गया। वहीं ईसाई समुदाय दिनभर प्रार्थना करते रहे। यह दौर उपवास और परहेज तोड़ने तक कायम रखा। इसके पूर्व क्रूस यात्रा में शामिल हुए। इस दौरान अपने जीवन की कठिनाइयों में दीनता और प्रेम के साथ रहना सीखे। इस दौरान 14 स्थलों पर प्रार्थना की गयी। सूली पर चढ़ाए जाने पर प्रभु वाणी में प्रभु येसु ख्रीस्त ने कहा कि पिता इन्हें क्षमा करना क्योंकि यह नहीं जानते कि यह क्या कर रहे है।

एक परिवार ने मिलकर छत पर ही कर ली क्रूस यात्रा
चुहड़ी पल्ली में रहते हैं लॉरेंस परिवार।इस परिवार ने खुद ही दुःखभोग की अंतिम क्रूस यात्रा की प्रार्थना आयोजित कर डाला। गुड फ्राइडे के अवसर पर चुहड़ी पल्ली में लॉरेंस परिवार के सदस्यों ने अपने घर पर क्रूस यात्रा का आयोजन किया। मेरी आडलीन ने कहा कि लॉकडाउन के कारण सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रखते हुए इस समय गिरजाघर में मिस्सा पूजा का आयोजन नहीं हो रहा है। इसलिए चालीसे की अंतिम क्रूस यात्रा की प्रार्थना का आयोजन हम सभी घर के सदस्य अपने घर पर आयोजित किये। इस दौरान चुहड़ी के ईसाई श्रद्धालु भी अपने-अपने घर में रहते हुए आज की प्रार्थना में शामिल हुए। सुश्री आडलीन ने कहा कि इसके लिए हम सब अपने घर से ही माईक और लाउडस्पीकर पर प्रार्थना कर प्रसारण किये। विदित हो कि जिस दिन से लॉकडाउन है, उस दिन से प्रत्येक बुधवार और शुक्रवार की क्रूस यात्रा की प्रार्थना ऐसे ही घर से प्रसारित किया गया। इस तरह आज गुड फ्राइडे की प्रार्थना में सभी लोग शामिल हुए। वही पल्ली पुरोहित फादर तोबियास ने कहा कि ईस्टर ईसाई धर्मावलंबियों का महत्वपूर्ण पर्व है। इस पर्व की तैयारी ईसाई श्रद्धालु चालीस दिनों तक लगातार मिस्सा- बलिदान, क्रूस यात्रा, रोजा, उपवास रखते हुए करते है। लॉकडाउन के कारण गिरजाघर में प्रार्थना सभा का आयोजन नहीं हो रहा है। लेकिन खुशी है कि लॉरेंस परिवार ने इस चालीसे की तमाम धर्म विधियों, प्रार्थनाओं को अपने घर पर आयोजित कर लाइव और माईक से प्रसारित किया। इनके सराहनीय प्रयास से चुहड़ी पल्ली के सभी ईसाई श्रद्धालु पवित्र सप्ताह की प्रार्थनाओं में शामिल सके। इन कार्यक्रमों को सफल बनाने में रंजन कुमार, अमर, कुँअर, प्रताप, उत्तम, आकाश, शीला राकेश, पूनम कुमारी, प्रिंसी, परी सहित घर के सभी सदस्य ने योगदान दिया। पल्ली पुरोहित फादर तोबियास- इस बार की चालीसे और गुड फ्राइडे की समस्त प्रार्थनाओं, उपासनाओं को हमलोग मानव जाति को पाप से मुक्ति और देश, दुनिया को कोरोना वायरस से मुक्ति के लिए चढ़ा रहे है। क्रूसित ईसा मसीह अपनी पीड़ा और दुःख की मुक्ति के साथ पूरी जगत को कोरोना से मुक्ति देंगे।

कोई टिप्पणी नहीं: