बिहार : एटक ने वेतन पेंशन रोकने का विरोध किया - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 28 अप्रैल 2020

बिहार : एटक ने वेतन पेंशन रोकने का विरोध किया

etac-demand-salary-pention
पटना, 28 अप्रैल। अखिल भारतीय ट्रेड यूनियन काँग्रेस (एटक) की बिहार राज्य कमिटी के उप-महासचिव गजनफर नवाब ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर केन्द्र सरकार द्वारा कोरोना महामारी के बीच केन्द्रीय क्षेत्र के कर्मचारियों एवं पेंषनरों के वेतन से जनवरी, 2020 से जून-2021 के डेढ़ वर्ष की अवधी की महंगाई भत्ते को रोका जाना अनुचित अन्यायपूर्ण एवं मजदूर विरोधी बताया है। कोरोना जैसे महामारी का लाभ उठाते हुए केन्द्र की सरकार ने बैंकों के मर्जर का आदेष दिया, राजस्थान, हिमाचल प्रदेष एवं गुजरात की राज्य सरकारों ने मजदूर विरोधी कदम उठाते हुए कार्य के घंटे को 8 घंटे से बढ़ाकर 12 घंटे संबंधि आदेष को वापस लेने की मांग की एटक बिहार द्वारा दोहराया गया है और लाॅकडाउन की समाप्ति के बाद देष एवं राज्यों के मजदूरों के बीच उत्पन्न बैचेनी की ओर सरकार को ध्यान आकृष्ट कराते हुए मजदूर विरोधी कार्यों पर रोक लगाने की मांग की गई है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...