पीएम मोदी की अपील पर जगमगाया जमशेदपुर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 6 अप्रैल 2020

पीएम मोदी की अपील पर जगमगाया जमशेदपुर

  • दीपक की रोशनी से कोरोना के अंधकार को मिटाने की कोशिश

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की अपील पर लोगों ने अपने घरों के दरवाजे पर खड़े होकर दीपक, मोमबत्ती जलाकर कोरोना के अंधकार को मिटाने की मुहिम में एकता का परिचय दिया. इस दौरान ड्यूटी में तैनात पुलिसकर्मियों ने भी मोमबत्ती जलाकर कोरोना से लड़ाई में एकजुटता का परिचय दिया.
jamshedpur-in-light-pm-appeal
जमशेदपुर ( आर्यावर्त संवाददाता) देश के प्रधानमंत्री की अपील पर पूरे देश ने दीपक जलाकर कोरोना महामारी की लड़ाई में एकता का परिचय दिया. वहीं, सभी लोगों को रात 9 बजे का इंतजार था और जैसे ही 9 बजे जमशेदपुर में लोग अपने घरों के दरवाजे, खिड़की में अपने हाथ में दीपक जलाकर खड़े रहे. इस दौरान कोई मोमबत्ती जला कर, कोई मोबाइल की लाइट तो कोई टार्च की रौशनी बिखेर रहा था. गौरतलब है कोरोना वायरस को लेकर देश मे लॉकडाउन किया गया है. वर्तमान में संक्रमित मरीजों की संख्या को देखते हुए सभी से सोशल डिस्टेंसिंग बनाकर रहने और लॉकडाउन का पालन करने के लिए सरकार से लेकर जिला प्रशासन लगातार जनता से अपील कर रही है. ऐसे में देश की जनता को इस महामारी में एकता का परिचय देने के लिए प्रधानमंत्री ने देश की जनता को 5 अप्रैल की रात 9 बजे से 9 मिनट तक घर की लाइट बंद कर दीपक जलाने की अपील की थी. 9 बजते ही लोग घर के चौखट, फ्लैट के बॉलकोनी और छत पर दीपक टार्च जलाकर खड़े रहे इस दौरान ड्यूटी में तैनात पुलिसकर्मियों ने भी मोमबत्ती जलाकर कोरोना से लड़ाई में एकजुटता का परिचय दिया. , वहीं प्रधानमंत्री जी के अपील पर मोमबत्ती जलाकर खड़े नन्हें छात्र ने बताया कि मोदी जी ने कोरोना के अंधकार को मिटाने के लिए दीपक, मोमबत्ती और टॉर्च जलाने को कहा है और मोमबत्ती जलाकर सभी कोरोना के अंधकार को मिटाकर महामारी से बच सकेंगे.

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...