झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 15 अप्रैल - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 15 अप्रैल 2020

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 15 अप्रैल

बाबा साहब ने देष में अनेकता में एकता का दिया संदेष, कोरोना वारयस से लड़ने हेतु सभी देषवासियों को होना होगा एकजुट -ः 
भाजपा ने जिला चिकित्सालय में मनाई देष के संविधान निर्माता डाॅ. भीमराव अंबेडकर जयंती, सेनेटाईज मषीन का निरीक्षण कर युवा इंजिनियर श्री सिसौदिया का किया स्वागत
jhabua news
झाबुआ। नोवेल कोरोना वायरस (कोविड-19) से रोकथाम हेतु संपूर्ण देष में लगे लाॅकडाउन के बीच 14 अप्रेल, बुधवार को देष के संविधान निर्माता डाॅ. भीमराव अंबेडकर की जयंती जिला भाजपा संगठन द्वारा जिला चिकित्सालय झाबुआ में मनाई गई। इस अवसर पर क्षेत्रीय सांसद गुमानसिंह डामोर, भाजपा जिलाध्यक्ष ओमप्रकाष शर्मा, पूर्व विधायक शांतिलाल बिलवाल, वरिष्ठ भाजपा नेता शैलेष दुबे, ओमजी शर्मा आदि सहित अन्य भाजपाईयों ने बाबा साहेब के चित्र पर पुष्प अर्पण करते हुए उन्हें नमन किया। साथ ही इस दौरान जिला चिकित्सालय के मुख्य प्रवेष द्वार पर लगी सेनेटाईजेषन मषीन का भी अवलोकन करते हुए स्वयं सेनेटाईज होकर राजगढ़ नाका मित्र मंडल के विषेष सहयोग से मषीन बनाने वाले युवा रोबोटिक इंजिनियर पवनेन्द्रसिंह सिसौदिया का स्वागत किया। सांसद श्री डामोर, भाजपा जिलाध्यक्ष श्री शर्मा, पूर्व विधायक श्री बिलवाल के साथ भाजपा के प्रदेष कार्यकारिणी सदस्य शैलेष दुबे, ओमजी शर्मा, भाजपा नगर मंडल अध्यक्ष दीपेष बबलू सकलेचा, नगर मंडल पदाधिकारी भूपेष सिंगोड़, हेमेन्द्र नाना राठौर, मनोज अरोरा, भाजपा आईटी सेल के जिला संयोजक सौरभ जायसवाल आदि मंगलवार दोपहर 11.30 बजे जिला चिकित्सालय पहुंचे। यहां सर्वप्रथम बाबा साहेब डाॅ. अंबेडकर की चित्र पर पुष्पांजलि दी गई। बाद अपने संक्षिप्त उद्बोधन में रतलाम-झाबुआ-आलीराजपुर सांसद गुमानसिंह डामोर ने कहा कि आज बाबा साहब का जयंती है और इस बीच संपूर्ण देष में कोरोना वायरस जैसी महामारी के कारण देष के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदीजी द्वारा लाॅकडाउन किया हुआ है। ऐसे में देष में कहीं भी वृहद स्तर पर डाॅ. अंबेडकरजी की जयंती मनाना संभव नहीं है, जिसको देखते हुए भाजपा द्वारा जिला चिकित्सालय परिसर में छोटे स्तर पर ही संविधान निर्माता की जयंती मनाते हुए उनके चित्र पर पुष्पांजलि देकर उन्हें नमन किया गया है। सांसद श्री डामोर ने डाॅ. अंबेडकर की जयंती पर देषवासियों को संदेष देते हुए कहा कि जिस तरह से डाॅ. भीमराव अंबेडकर ने देष में अनेकता में भी एकता का जो पाठ पढ़ाया है, उसका आज सभी देषवासियों को पालन करने की आवष्यकता है। संकट की घड़ी में देष के सभी लोगों को एकजुट होकर अपने घरों पर ही रहकर कोरोना वायरस को देष से भगाने के लिए लड़ाई लड़ना होगी।

देष के प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री की बातों का करे पालन
भाजपा जिलाध्यक्ष ओमप्रकाष शर्मा एवं पूर्व विधायक शांतिलाल बिलवाल ने कहा कि देष एवं मप्र के सभी लोग आज कोरोना जैसी वैष्विक महामारी से लड़ने हेतु प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एवं मप्र के मुख्ययमंत्री षिवराजसिंह चैहान के निर्देषों का पालन करे। संपूर्ण लाॅकडाउन का शत-प्रतिषत पालन करे। अपने एवं अपने परिवार की सुरक्षा के लिए घरों पर ही रहे। सोषल डिस्टेनसिंग का पूर्णतः पालन करे। जिला प्रषासन एवं पुलिस प्रषासन को सुरक्षा व्यवस्था में पूरा सहयोग प्रदान करे। इस अवसर पर वरिष्ठ भाजपा नेता शैलेष दुबे एवं ओमजी शर्मा ने भी संबोधित करते हुए डाॅ. भीमराव अंबेडकर को उनकी जंयती पर नमन किया।

सभी भाजपाई हुए सेनेटाईज
बाद कोरोना वायरस से बचाव हेतु जिला चिकित्सालय के मुख्य प्रवेष द्वारा पर लगाई गई सेनेटाईजेषन मषीन का भी सभी ने अवलोकन कर एक-एक कर मषीन के अंदर प्रवेष कर सेनेटाईज भी हुए। इस अवसर पर संासद श्री डामोर एवं भाजपा जिलाध्यक्ष श्री शर्मा ने कहा कि जिला चिकित्सालय के मेन गेट पर यह मषीन लगने से प्रतिदिन सैकड़ों की संख्या में आने वाले मरीज एवं उनके परिजनों के साथ, इमरजेंसी में 108 एंबुलेंस एवं अन्य वाहनों से आने वाले कोरोना संदिग्ध तथा अन्य गंभीर मरीजों का भी सेनेटाईजेषन हो सकेगा। मुख्य रूप से इन दिनों जिला चिकित्सालय में 24-24 सेवाएं दे रहे स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी-कर्मचारी, चिकित्सक, वार्ड बाॅय, नर्सस, सुरक्षा गार्ड एवं अन्य कर्मचारी, जो इन दिनों देष सेवक के रूप में कार्य कर रहे है,सेनेटाईज होकर कोरोना महामारी के संक्रमण से उनका बचाव हो सकेगा। इस अवसर पर विषेष रूप से मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. बीएस बारिया, जिला चिकित्सालय के सिविल सर्जन डाॅ. बीएस बघेल, आरएमओ डाॅ. सावनसिंह चैहान आदि भी उपस्थित थे।

सोषल डिस्टेनसिंग के साथ हुआ संक्षिप्त आयोजन
सांसद श्री डामोर ने राजगढ़ नाका मित्र मंडल के विषेष सहयोग से यह मषीन बनाने वाले युवा इंजिनियर पवनेन्द्रसिंह सिसौदिया निवासी गोपाल काॅलोनी झाबुआ के इस कार्य की भूरी-भूरी प्रसंषा करते हुए युवा श्री सिसौदिया का पुष्प गुच्छ देकर एवं सभी ने कर्तन ध्वनि से स्वागत किया। संचालन भाजपा नगर मंडल अध्यक्ष दीपेष बबलू सकलेचा ने किया। कार्यक्रम के दोरान सोषल डिस्टेनसिंग का पूर्णतः पालन किया गया। सभी जनप्रतिनिधि एवं भाजपा पदाधिकारी मुंह पर मास्क पहनकर सोषल डिस्टेनसिंग बनाकर खड़े हुए। वहीं सामने स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी भी गोले घरों में दूरी पर खड़े रहकर पालन किया।

सकल व्यापारी संघ ने  21 दिनों के लाॅकडाउन में 51 हजार 200 भोजन के पैकेट किए वितरित, अब अगले 19 दिनों में जिले में भोजन और राषन सामग्री की व्यवस्था जिला प्रषासन करेगा

jhabua news
झाबुआ। कोरोना वायरस (कोविड-19) से रोकथाम हेतु देष के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के निर्देष पर 25 मार्च से 21 दिनों का संपूर्ण देष में लाॅकडाउन किया गया था, जिसके बावजूद देष में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ने से प्रधानमंत्री श्री मोदी द्वारा 14 अप्रेल से 19 दिनों का लाॅकडाउन ओर बढ़ाते हुए 3 मई तक किया गया है। झाबुआ शहर में संपूर्ण लाॅकडाउन के दौरान सकल व्यापारी संघ झाबुआ द्वारा 25 मार्च से लेकर 14 अप्रेल तक 21 दिनों तक शहर में रहने वाले सभी गरीबों और जरूरतमंदों को प्रतिदिन 2500 से 3000 भोजन के पैकेट वितरण कर आपातकाल और संकट की घड़ी में उनकी भूख को शांत करने का प्रयास किया गया। साथ ही इस दौरान पशु-पक्षियों के लिए भी प्रतिदिन आहार एवं पानी की व्यवस्था की गई। अब चूंकि सकल व्यापारी संघ की जिला प्रषासन से चर्चा अनुसार 21 दिनों की समयावधि पूरी होने के बाद व्यापारी संघ ने अब इस व्यवस्था पर फिलहाल रोक लगा दी है। उधर इस संबंध में जिला कलेक्टर प्रबल सिपाहा से चर्चा करने पर उन्होंने बताया कि अब आगामी 19 दिनों में लाॅकडाउन में जिले में गरीबों और जरूरतमंदों को भोजन एवं राषन सामग्रीयां उपलब्ध करवाने का कार्य जिला प्रषासन के माध्यम से होगा।

21 दिनों में सकल व्यापारी संघ ने किया ऐतिहासिक कार्य
सकल व्यापारी संघ अध्यक्ष नीरजसिंह राठौर एवं सचिव पंकज जैन ‘मोगरा’ ने बताया कि व्यापारी संघ द्वारा 25 मार्च से लेकर 14 अप्रेल तक संपूर्ण शहर में गरीबों और जरूरतमंदों को कुल 51 हजार 200 भोजन के पैकेट वितरण करने के साथ पिछले दिनों गुजरात और राजस्थान से पलायन से लौटे 38 हजार ग्रामीणों के लिए पिटोल बार्डर और फुलमाल तिराहे पर खिचड़ी की व्यवस्था, ग्रामीणों के लिए पैदल चलकर आने से आरो पानी की व्यवस्था, पशुओं के लिए प्रतिदिन 200 किलोग्राम अन्न वितरण, शहर के मध्य राजवाड़ा पर 3200 कपड़े से बने मास्क का वितरण, हैंड ग्लोब्स का वितरण किया गया। शहर की समस्त किराना एवं आवष्यक वस्तुओं की दुकानों पर आने वाले ग्राहकों के लिए सोष्यल डिस्टेनसिंग का पालन हेतु दुकानों के बाहर गोले घेरे बनाए गए। इसके साथ पक्षियां के लिएं लिए गर्मी में दाना-पानी की व्यवस्था के साथ करीब एक सप्ताह तक संपूर्ण लाॅकडाउन के दौरान शहर एवं आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों में लोडिंग रिक्षा चलाकर लोगों को घर पहुंच किराना सामग्रीयां उपलब्ध करवाई गई। इसके अतिरिक्त शहर के समस्त किराना, सब्जी, दूध एवं फल व्यवसाईयों से भी समन्वय स्थापित करने आवष्यक वस्तुओं की घर पहुंच सुविधा का निर्बाध रूप से संचालन के प्रयास किए गए।   

शासन-जिला प्रषासन की अगली नीतियों के अनुसार करेंगे कार्य
- हमारी जिला प्रषासन से हुई चर्चा अनुसार 21 दिनों तक संपूर्ण शहर में मानव सेवा के साथ जीव सेवा के भी समस्त कार्य किए। इस कार्य में व्यापारी संघ के समस्त पदाधिकारी-सदस्यों, सेवाभावी सदस्यों ने दिन-रात अपनी निःस्वार्थ सेवाएं दी। इसके अलावा शहर की कई सामाजिक-धार्मिक संस्थाओं, समाजसेवियों, विषेषकर वरिष्ठ व्यापारियों ने भी यह व्यवस्था निर्बाध रूप से जारी रखने के लिए समय-समय पर आर्थिक सहयोग प्रदान किया। सभी सहयोगियों का सकल व्यापारी संघ साधुवाद करता है एवं उनके प्रति कृतज्ञता व्यक्त करता है, चूंकि अब 19 दिनों का लाॅकडाउन ओर बढ़ा है, तो शासन-जिला प्रषासन की अगली नीतियों के अनुसार व्यापारी संघ से चर्चा करने पर उचित कार्य योजना बनाई जाएगी। नीरजसिंह राठौर, अध्यक्ष, सकल व्यापारी संघ झाबुआ।
- आगामी 19 दिनों के बढ़े लाॅकडाउन में जिलेभर में गरीबों और जरूरतमंदों को भोजन और राषन सामग्रीयां उपलब्ध करवाने की व्यवस्था जिला प्रषासन द्वारा जिला खाद्य एवं आपूर्ति विभाग तथा अन्य विभागों के माध्यम से करवाई जाएगी। : प्रबल सिपाहा, जिला कलेक्टर, झाबुआ।

देश के महाजननानयक केे सात सुत्रो का भाजपा ने समर्थन किया।

झाबुआ । भारतीय जनता पार्टी जिला ईकाई के वरिष्ठ नेता भाजपा प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य दौलत भावसार सीसीबी बैक के पूर्व अध्यक्ष आदिवासी नेता गोरसिंह वसुनिया पूर्व जिलाध्यक्ष सुरेन्द्रसिह मोटापाला भाजपा जिलाध्यक्ष ओमप्रकाश शर्मा महामत्री प्रफुल्ल गादिया श्यामा ताहेड प्रवीण सुराणा ने 14 अपे्रल 2020 को कोरोना महामारी को लेकर लाकडाउन की अवधि बढाने की घोषणा देश के महा नायक यशस्वी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदीजी ने की है उसका समर्थन किया है उक्त निर्णय देश हित मे है। वही भाजपा नेताओ ने अपने उदबोदन के दौरान बताये गये सात सुत्रो का जो घोषणा की है ओर जनता को साथ देने की अपील की है उन सात सुत्रो का समर्थन करते हुए जिले के भाजपा नेताओ ने जिले की जनता से अपील की है कि प्रधानमंत्री के उन सात सुत्रो को अपने जीवन की कार्यपद्वति मे अपनाये ओर उसे सफल बनाने हेतु अपना साथ देवे।

थांदला राष्ट्रीय मानवाधिकार एवं महिला बाल विकास आयोग ने कराया कोरोना टेस्ट - रिपोर्ट नेगेटिव

jhabua news
थांदला। सिविल अस्पताल थांदला सहित पूरे जिले के 108 लोगो के सेम्पल कोरोना टेस्ट के लिये भेजे गए थे जिनमें से 74 की रिपोर्ट राहत लेकर आई है कि इनमें से कोई भी कोरोना पोजेटिव नही है। आपको बता दे कि स्वास्थ्य विभाग ने सेवा कार्य मे जुड़े व स्वास्थ्य सेवाएं देने वाले कोरोना वेरियर्स व कोरोना संदिग्ध 108 लोगों के सेम्पल भेजे थे। विगत दिनों हुई कोरोना जाँच में स्वयं जाँच करवाने पहुँचे राष्ट्रीय मानवाधिकार एवं महिला बाल विकास आयोग के प्रदेशाध्यक्ष पवन नाहर ने बताया कि वे विगत 19 मार्च को पारिवारिक कार्य से कुशलगढ़ (राजस्थान) गए थे जहाँ वर्तमान में कोरोना मरीजों की संख्या 57 तक पहुँच गई है व विगत कई बार जिलें के कई लोगो की सेवा कार्य मे लगकर गुजरात दाहोद से दवाइयों को जिलें के दर्दी के लिये निःशुल्क उपलब्ध कराने का काम भी कर रहे है जिसके चलते उन्होंने स्वयं अपना चेकप कराना उचित समझा व सीधे सिविल अस्पताल पहुँच कर अपनी जाँच भी कराई। इसी तरह स्वास्थ्य सेवाएं देने वाली नर्स व अन्य स्टॉफ की भी जाँच की गई।

कोरोना से तो जीत जाए पर भय और भूख से ना दम तोड़ दे जिंदगी 

थांदला। खुद्दार मेरे शहर में फाके से मर गया, राशन तो मिल रहा था पर वह फोटो से डर गया,खाना थमा रहे थे सेल्फी के साथ साथ मरना था जिसको भूख से,वो गैरत से मर गया........ कुछ इस तरह का माहौल पूरे देश मे चल रहा है। कई समाजसेवी संगठन सेवा कार्य कर रहे है तो उसे अपने संगठन को प्रेरित करने व स्वयं के क्रियाशील होने का प्रमाण देने के लिये फोटो वीडियो व सोशल मीडिया सहित प्रेस मीडिया का सहारा लेना पड़ता है।  अनेक समाजसेवी सेवा का चोला ओढ़कर अपने काले कारनामे छिपाने के प्रयास में रहते है तो कई समाजसेवी ऐसे भी है जो दान सेवा की भनक याचक को भी नही लगने देते। शासन प्रशासन ने भी भारत के नागरिकों के लिये मदद के हाथ आगे बढ़ाए है जनधन खातों में आर्थिक सहायता व राशन उपलब्धता सरहानीय कदम है। सभी का मकसद इस महामारी की जंग को सामुहिक एकता से जितने के लिये अपने आसपास के जरूरतमन्दों की सेवा तो है ही लेकिन कुछ को अपने नाम का भी रहता ही है तो इसमें गलत कुछ नही क्योंकि हजार नजर हजार अफसानें ....। वैश्विक महामारी कोविड - 19 आज व्यापक खतरा बन कर दहलीज के बाहर इंतजार कर रही है कि जैसे ही मानव असावधानी से बाहर निकले व वह उसे धर दबोचे। यही कारण है कि देश के प्रधानमंत्री ने पूरा देश लॉक डाउन कर दिया है। यही नही राज्य सरकारें उसके पालन में लगी हुई भी है। फिर भी कई लोग कोरोना की चपेट में आ ही जाते है। वे समझते है कि शासन प्रशासन द्वारा रोजमर्रा की आवश्यकता पूर्ति के लिये जो छूट दे रहे है उसमें कोरोना उन पर अटेक नही करेगा लेकिन ऐसा बिल्कुल भी नही है वह इसी समय मे अपना रंग दिखा रहा है तभी गाँव की तुलना में यह शहरों में ही देखा गया है। बात की जाय जी लॉक डाउन कब तक तो इसका जवाब किसी के पास नही है क्योंकि जब तक इस धरती पर कोरोना का एक भी वायरस जिंदा है तब तक इसका खतरा भी बना हुआ ही है और यह तब तक रहेगा जब तक कि इसकी वैक्सीन (दवाई) नही बन जाती। मतलब साफ है 3 मई के बाद भी अब हमें अनिश्चितकाल के लिये सोशल डिस्टेंश का पालन करते हुए दूर से ही दुआ सलाम खैरियत पूछना होगी क्योंकि इस महामारी की संक्रमण क्षमता अन्य महामारी से कही अधिक है। ऐसे में देश की आधी से ज्यादा आबादी सामान्य व निम्न वर्ग की है जिससे उनपर आर्थिक संकट भी गहराता जा रहा है। आज इस वर्ग की मजबूरी का फायदा सैकड़ो व्यापारी भी उठा रहे है। ग्रामीण अंचल में जरा से पैसों के लिये किसान अपनी फसल कौड़ियों के दाम धनाढ्य को बेच रहा है, व्यसनों के आदि व्यसन पूर्ति के लिये व्यसन की चार गुना तक कीमत चुका रहे है, खाद्य सामग्री हो या अन्य वस्तु कालाबाजारी चरम पर है लेकिन प्रशासन केवल लॉक डाउन के पालन में लगा हुआ है जबकि सारा खेल इसी की आड़ में हो रहा है। कोरोना महाबीमारी है इससे इनकार नही किया जा सकता लेकिन जल्द इसके विकल्प नही तलाशे गए तो व्यक्ति कोरोना से नही अपितु इसके भय व भूख से अवश्य मर जायेगा।समस्या है तो समाधान भी है बस उसे तलाशने के साथ सही प्रकार से क्रियान्वित करने की आवश्यकता है। आज कोरोना इफेक्ट से क्राइम का ग्राफ कम जरूर हुआ है, आने वाले समय में जब व्यक्ति आर्थिक तंगहाली से परेशान हो तब भी वह क्राइम शरणम गच्छामि ना हो इसके लिये भी आज से ही प्रयास जरूरी है।

थांदला कोरोना से मुक्त है पर कालाबाजारी से मुक्त नही है, प्रशासन मोंन क्यो...?

थांदला । आखिर क्या कारण है कि थांदला की पुलिस व प्रशासन दोनो निर्धारित समय के बाद नगर की गलियों में सब्जी बेचने वाले छोटे गरीब व्यवसायियों को तो कानून नियम का हवाला देकर धंधा बन्द करवा रहा है परन्तु बड़े मुनाफाखोर व्यापारी जो अनुमति की आड़ में दिन भर पर्दे के पीछे प्रतिदिन हजारों का व्यवसाय ही नही कर रहे है अपितु मुनाफाखोरी, कालाबाजारी कर उचे दामो पर सामग्री का विक्रय छोटे दुकानदारों से लेकर आम नागरिकों के साथ कर अपनी तिजोरियां भर रहे है, यही नही ऐसे बड़े व्यापारी बेसमय अल सुबह से देर रात तक ऐसी सामग्री भी मोटा मुनाफा लेकर दे रहे है जो लॉक डाउन में प्रतिबंधित है पर ऐसे व्यापारियों पर पुलिस, प्रशासन, खाद्य विभाग के जिम्मेदार अमले की निगाह आखिर क्यों नही जा रही है ? उन्हें कानून के नियमो का पाठ क्यो नही पढ़ाया जा रहा है ? आखिर उनके उनके विरुद्ध कार्यवाही करने में प्रशासन मोन क्यो है ? अनेक व्यापरियो के घर दुकान एक होने से वे भी बड़े पैमाने पर अनुमति के समय का दुरुपयोग कर 24 घण्टे मुनाफाखोरी कर बड़े पैमाने पर व्यवसाय में लिप्त है तो अनेक व्यापारी जिनके घर दुकान अलग है वे अपनी दुकानों की शटर बन्द कर अंदर बैठकर भी मोबाइल के माध्यम से आर्डर लेकर माल पैक कर क्रेताओं को बुलवाकर समय बेसमय डिलेवरी प्रदान कर मुनाफाखोरी कर रहे है ।
      
’भाव आसमान पर क्यो ?’
शासन प्रशासन ने केवल आवश्यक खाद्य सामग्री की बिक्री करने हेतु एक निर्धारित समय नियत कर व्यापारियों को अनुमति प्रदान की है उसमें भी यह स्प्ष्ट किया है कि वे निर्धारित मूल्यों पर ही आमजन को सामग्री उपलब्ध कराएंगे । परन्तु थोक व्यापारी आवश्यक खाद्य सामग्री के अलावा प्रतिबंधित सामग्री जैसे बीड़ी, सिगरेट, तम्बाखू पाउच आदि भी छोटे व्यापारियों को मोटा मुनाफा लेकर इस तर्क के साथ बेच रहे है कि यह प्रतिबंधित वस्तु उचे भाव पर खरीदना पड़ रही है, ट्रांसपोर्ट व पुलिस चैकियों की निगरानी से बचाकर या पैसे देकर लाना पड़ रही है । इस तरह यह मुनाफाखोर व्यापारी शासन-प्रशासन व ईमानदारी से भूखे प्यासे रहकर ड्यूटी निभा रहे पुलिस जवानों को भी अपने मुनाफे के लिए बदनाम कर रहे है ।
    
’ऐसा मोटा मुनाफा ले रहे है’
34-35 की शक्कर 50 से 60 रुपये किलो, सोया तेल 90 के बजाय 100-110 से लगाकर 120 तक, 85 से 90 तक कि तुअर दाल को 100 व 110 तक, 360 का बीड़ी का पुडा 430 में, विमल पाउच पैकेट 125 के स्थान पर 210 से 220 तक बेच रहे है जिससे छोटे व्यापारी अपना मुनाफा चढ़ाकर ओर उचे दामो पर जनता को दे रहे है । 
      
’तोल व मोल दोनो में लूट’
थांदला के दशहरा मैदान से लेकर पिपली चैराहा, कुम्हारवाड़ा, गांधी चैक सहित नगर के हर गली कोने के बड़े व्यापारी छोटे व्यापारियों से मुनाफाखोरी कर रहे है तो छोटे व्यापारी आमजन को महंगे भावों में सामग्री प्रदान कर रहे है । ओर जनता विशेषकर गरीब, मजदूर, मध्यम वर्ग लुटता जा रहा है । गरीबो की मजबूरी है कि दुकानदार जिस भाव दे खरीदकर अपने परिवार का पेट पालने को मजबूर हो रहा है । नगर के पिपली चैराहे के आसपास किराने के व्यापारी,  शांतिनगर सुलभ शौचालय के पास गांधी चैक में ऐसे दुकानदार है जो तम्बाखू उत्पादनों का स्टॉक रखे हुए है व बड़ी मात्रा में अवसर का लाभ उठाकर बेधड़क बेच रहे है । दशहरा मैदान के सामने भी घर दुकान शामिल दुकानदार के यहां आसपास के ग्रामीण क्षेत्र के लोगो की भीड़ रहती है जो तोल व मोल दोनो तरह से गरीबो का शोषण कर रहे है ।

’3 मई तक ओर चलेगी यह लूट’
लॉक डाउन की अवधि 3 मई तक बढ़ चुकी है और बड़े थोक व्यापारी खुश नजर आ रहे है क्योंकि थांदला प्रशासन न केवल अनदेखी कर रहा है अपितु एक तरह से व्यवस्था बनाये रखने के लिए उन्हें परमिशन देकर चैन से बैठा है । बड़े व्यापारियों को थोक सामग्री बाहर से मंगवाने के लिए शासन द्वारा ट्रांसपॉर्ट की छूट मिलने से उनकी सामग्री हर एक दिन छोड़कर आ रही है और वह मुनाफाखोरी में अपनी तिजोरियां भर रहे है । शासन प्रशासन जनता को आवश्यक खाद्य सामग्री की पूर्ति हो रही है इससे ही संतुष्ट है । जिले के अन्य स्थानों पर प्रशासन व खाद्य विभाग सक्रिय होकर भावों पर नियंत्रण रख रहा है, मुनाफाखोरो पर कार्यवाही कर रहा है यहां तक कि दुकान शील करने तक की कार्यवाही हो रही है परन्तु थांदला में ऐसा कुछ भी नही होने से व्यापारियों को लूट की खुली छूट प्रतीत हो रही है ।

जिला कांग्रेस ने डॉक्टर भीमराव अंबेडकर की जन्म  दिवस के अवसर पर उन्हें किया स्मरण

झाबुआ । विश्व स्तर के भारतीय विधि वेक्ता अर्थशास्त्री राजनीतिज्ञ समाजशास्त्री सविधानविद लेखक दार्शनिक प्रोफेसर पत्रकार एवं स्वतंत्रता सेनानी दलित शोषित नागरिकों के अधिकारों के प्रमुख नेता भारत रत्न बाबासाहेब आंबेडकर की जयंती जिला कांग्रेस ने करुणा संक्रमण के कारण लॉक डाउन होने से सोशल डिस्टेंसिंग के चलते अपने अपने घर में ही स्मरण कर उन्हें याद किया  पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं क्षेत्रीय विधायक कांतिलाल भूरिया ने अपने संदेश में कहा कि बाबा साहब अंबेडकर ने अपना सारा जीवन हिंदू धर्म की चतुर्वर्ण प्रणाली और भारतीय समाज में सर्वव्यापी जाति व्यवस्था के विरुद्ध संघर्ष में बिता दिया उन्होंने गरीब एवं दलितों के उत्थान के लिए अनेक कार्य किये श्री भूरिया ने कहा कि बाबा अंबेडकर आधुनिक भारत के निर्माता थे वे प्रकांड विद्वान एवं विश्व स्तरीय प्रतिभाशाली इंसान थे जिला कांग्रेस अध्यक्ष निर्मल मेहता ने अपने संदेश में कहा कि बाबासाहेब आंबेडकर महान अर्थशास्त्री के रूप में जाने जाते हैं बाबा साहेब का जन्म गरीब परिवार में होने के कारण उन्हें अपना सारा जीवन नारकीय कष्टों में बिताना पड़ा सन 1990 में उन्हें भारत रत्न से सम्मानित किया गया इस अवसर पर पेटलावद विधायक वालसिंह मेडा थांदला विधायक वीर सिंह भूरिया पूर्व विधायक जेवियर मेडा युवा नेता डॉक्टर विक्रांत भूरिया   जिला कांग्रेस कार्यवाहक अध्यक्ष हेमचंद डामोर्र एवं रूप सिंह डामोर कोषाध्यक्ष प्रकाश रांका वरिष्ठ कांग्रेस नेता रमेश दोषी सुरेश चंद्र जैन हनुमंत सिह  राठौर  चंदु पडियारजिला कांग्रेस प्रवक्ता  हर्ष भट्ट आचार्य नामदेव संभागीय प्रवक्ता साबिर फिटवेल  शहर कांग्रेस अध्यक्ष गौरव सक्सेना ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष कान्हा गुंडिया नगर पालिका अध्यक्ष मनूबेन डोडियार उपाध्यक्ष रोशनी डोडियार एनएसयूआई जिलाध्यक्ष विनय भाबोर सेवादल जिलाध्यक्ष राय सिंह गहलोत कांग्रेस नेता  चंद्रवीर सिंह राठौर राजेन्द्र अग्निहोत्री राजेश भट्ट बंटू अग्निहोत्री विजय पांडे मनीष व्यास आशीष भूरिया  यशवंत पवार मथियास भूरिया मानसींग मेडा अलीमुद्दीन सैयद  अविनाश डोडियार सायरा बानो  शंकर भूरिया हर्ष जैन रिंकू रुनवाल गोपाल शर्मा रशीद कुरैशी विजय भाबर विजय शाह सहित कांग्रेस पदाधिकारियों ने उन्हें स्मरण कर उन्हें अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की।

जिले से बाहर या अन्य राज्यों में आवागमन के ई-पास के लिए पोर्टल लॉन्च 

झाबुआ । मध्यप्रदेश शासन द्वारा लॉक डाउन अवधि में खाद्यान्न उपार्जन एवं अनुषांगिक गतिविधियों तथा अत्यावश्यक सेवाओं एवं आपातकालीन कार्यों के लिए जिले के भीतर अंतर जिला एवं जिले से अन्य राज्यों में आवागमन हेतु ई-पास की अनुमति के लिए एक नया पोर्टल   ीजजचरूध्ध्उंचपजण्हवअण्पदध्बवअपक.19  लॉन्च किया है। इस पोर्टल पर प्राप्त आवेदनों पर जिला कलेक्टर अथवा उनके द्वारा प्राधिकृत सक्षम अधिकारी परीक्षण करेंगे एवं समाधान होने पर ऐसे आवेदनों को स्वीकार कर पोर्टल के माध्यम से इलेक्ट्रॉनिक अनुमति ई-पास जारी करेंगे। इस ई-पास की एक कॉपी आवेदकों को उनके आवेदन के दौरान पंजीकृत मोबाइल नंबर एवं ईमेल आईडी पर इलेक्ट्रॉनिक रूप में भेजी जाएगी। इस पोर्टल के अंतर्गत चार श्रेणियों जिसने ऐसे नागरिक या संस्था के प्रतिनिधि जो खाद्यान्न उपार्जन एवं उसकी अनुषांगिक गतिविधियों तथा अत्यावश्यक सेवाओं के लिए, अतिआवश्यक सेवाओं से संबंधित सामग्री के डोर टू डोर वितरण व्यवस्था में कार्यरत, मध्यप्रदेश में सामग्री लाने अथवा मध्य प्रदेश से सामग्री अन्य राज्य में ले जाने के लिए परिवहन करने वाले और व्यक्तिगत आपातकालीन कार्य की दृष्टि से आवागमन करने वाले नागरिक या संस्था ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगे। इस आदेश में यह स्पष्ट किया गया है कि जिले के भीतर  अत्यावश्यक वस्तुओं एवं सेवाओं के प्रदाय में सहभागी व्यक्तियों या संस्थाओं को  आवागमन हेतु प्रथक से पास प्राप्त किए जाने की आवश्यकता नहीं होगी।  जिला कलेक्टर स्थानीय आवश्यकताओं और कोविड-19 के संबंध में जारी निर्देशों के तारतम्य में जमीनी स्तर  पर कार्यरत  अपने मातहतों को निर्देश दे कि जब ऐसे व्यक्ति या संस्था के प्रतिनिधि जिले के भीतर एक स्थान से दूसरे स्थान पर जाए तो सामान्य पूछताछ या परिचय पत्र जैसे कार्यालय का आईडी कार्ड, आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट देखने के बाद उचित  समाधान होने पर उन्हें उनके गंतव्य स्थान हेतु प्रस्थान करने दिया जाएगा।   जिले के ावअपक- 19 की दृष्टि से घोषित कंटेनमेंट क्षेत्र में परिवहन एवं आवागमन पूर्णता प्रतिबंधित रहेगा। इस ऑनलाइन प्रक्रिया के संबंध में किसी प्रकार की कठिनाई होने पर नागरिक मार्गदर्शन प्राप्त करने हेतु  कलेक्टर श्री संजय दुबे, प्रमुख सचिव ,मध्यप्रदेश शासन , नगरीय विकास एवं आवास विभाग अथवा श्रीमती करलिन  खोंगवार देशमुख, विशेष कर्त्तव्यस्थ अधिकारी ,सह आयुक्त, मध्यप्रदेश गृह निर्माण एवं अधोसंरचना विकास मंडल से संपर्क कर सकते हैं।

कोविड़-19(कोरोना) का कन्ट्रोल रूम संचालित होगा - 05 लेण्डलाईन नम्बर निर्धारित सहकारिता उपायुक्त एवं उप संचालक (आत्मा) प्रभारी

झाबुआ । कलेक्टर प्रबल सिपाहा ने जिले से संबंधित समस्त मूलभुत आवश्यकताओं के उचित व्यस्थापना एवं प्राप्त शिकायतों के निराकरण हेतु प्रारंभ किये इस कन्ट्रोल रूम के दूरभाष क्रमांक क्रमशः (07392- 245824, 244688, 243653,244262 एवं 243661) में किसी भी सूचना एवं समस्या से अवगत कराया जा सकता है। कोरोना महामारी के विस्तार की रोकथाम हेतु आगामी 03 मई 2020 तक घोषित देश व्यापी लाॅक डाउन की आपाकालीन परिस्थतियों में झाबुआ जिले में प्रारंभ समर्थन मूल्य पर गेहॅू व चने की खरीदी, सार्वजनिक वितरण प्रणाली अन्तर्गत राशन प्रदाय सहित समस्त मूलभुत आवश्यकताओं के बेहतर समन्वय हेतु यह कन्ट्रोल रूम प्रातः 09 से बजे से रात्रि 09 बजे तक निरंतर संचालित रहने की व्यवस्था की है। उपरोक्ल लेंडलाईन नबंरों के अतिरिक्त कन्ट्रोल रूम के प्रभारी अधिकारियों के मोबाईल नम्बर 9826213800 एवं 9425174564 से सम्पर्क किया जा सकता है। 

कोरोना वायरस से सवंमित 05 सेम्पलों को पुनः जांच के लिए भेजने के निर्देश

झाबुआ ।  जिला चिकित्सायल द्वारा जिले के कोरोना वायरस के लक्षणों के व्यक्तिायें के 11 अप्रैल को 108 सेम्पल एम्स भोपाल जाॅच के लिए भेजे गए थे।  इन सेम्पलों मे 74 सेम्पल कीजाॅच रिपोर्ट आ गई है जिसमे से 69 सेम्पल की रिपोर्ट नेगेटिव आई है और एम्स भोपाल द्वारा 05 सेम्पल रिजेक्ट किये थे। कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री प्रबल सिपाहा ने इन 05 व्यक्तियों के पुनः सेम्पल लेकर एम्स भोपाल जाॅचके लिए भेजने के निर्देश मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को दिए है।

जिले मे 5 अप्रेल से गेंहु का उपार्जन, मांेबाईल पर मेसेज भेज कर किसान को फसल लेकर बुलएगी समितिया

झाबुआ ।  जिलें मे  5 अप्रैल 2020 से कृषकों से गेहॅू उपार्जन का कार्य प्रारंभ किया जा रहा है। इस कार्य हेतु जिलें मे 20 सहकारी समितियों के माध्यम से उपार्जन केन्द्र बनाये गये है। झाबुआ अनुभाग में झाबुआ, रानापुर, कल्याणपुरा, रजला, पारा, कालीदेवी, मेघनगर, अनुभाग में मेघनगर एवं नौगावा, थांदला अनुभाग में थांदला, खवासा, पेटलावद अनुभाग में रायपुरिया, पेटलावद, बामनिया, सारंगी, झकनावदा, करवड स्थित केन्द्रों पर खरीदी की जायेगी। केवल ैडै प्राप्त् किसानों से खरीदी की जायेगी।, किसान बंधु मुॅह पर मास्क/गमछा बाॅधें।, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें, उपार्जन केन्द्रों पर पीनें एवं अन्य आवश्यक सुविधाए उपलब्ध करायी गई है। कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा ने यह अपील की है कि सभी पंजीकृत किसानों से गेहॅू खरीदा जायेगा, खरीदी केन्द्र पर ैडै प्राप्त होन के पश्चात ही आयें

कोई टिप्पणी नहीं: