बेगूसराय : जिला परेशान के आदेशों की उड़ाई जा रही धज्जियाँ - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 19 अप्रैल 2020

बेगूसराय : जिला परेशान के आदेशों की उड़ाई जा रही धज्जियाँ

lock-down-order-not-folowing
अरुण शाण्डिल्य (बेगूसराय) जिला प्रशासन के द्वारा थोड़ी छूट क्या मिल गई लोगों ने लॉक डाउन की उड़ाने लगे धज्जियाँ।सरकार के इतने गुहार करने के बाद भी बेगूसराय (चिल्हाय/पकठौल) की आम जनता स्थानीय।प्रशासन कादेशों को भी मानने को तैयार नहीं।सरेआम चिल्हाय बाजार में सब्जियों का ठेला के साथ अन्य दुकानें भी पूर्वत चालू।खैनी,गुटखा,सिगरेट तंबाकु आदि पर भी रोक लगाई गई है इसकी तो बात ही क्या!ऐसे बाजार में सोशल डिस्टेंसिंग का कितना पालन ही रहा है यह तो देखने के बाद ही मालूम पड़ जाता है।  उड़ाने पर तूल गए। तेघड़ा थाना क्षेत्र के वार्ड संख्या 02 में पकठौल के गाँव और बाजार में लॉक डाउन पूरी तरह विफल देखा जा रहा है जबकि लॉकडाउन पूरे देश में लगा हुआ जिसका पालन करना सिर्फ जरुरी ही नाहीं हमारी जिम्मेदारी भी है,और यहाँ की जनता सरेआम बेवजह घूम रहे हैं। किराना दुकानदार,सब्जी वाले एवं अन्य दुकानदारों से लेकर आम लोग भी अपनी अपनी मनमानी करने से बाज नहीं आ रहे हैं।ये मनमानी आपको पकठौल, चिलहाय घाट पर खुलेआम देखने को मिल जाएंगे।सोशल डिस्टेंसिग की किस कदर धज्जियाँ उड़ाई जा रही है काबिले तारीफ है।जबकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी कहा है कि कैसी भी दुकान हो राशन का सामान भी अगर दुकानदारों से खरीदना है तो सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए गोल घेरे में खड़ा कर दें,और क्रेता भाई भी गोल घेरे में ही अपनी बारी आने तक प्रतीक्षा करें और बारी आने पर ही अपने जरुरतों का सामान लेकर अपने घर जायें।आप देख रहे है तेघरा थाना क्षेत्र पकठौल का नजारा है प्रशासन के द्वारा काई बार गाड़ी से प्रचार किया गया कि ज्यादा लोगों की भीड़ ना लगाएं और हरएक व्यक्ति एकदूसरे से दूरी बनाकर रहें। हरएक पंचायत मे भी प्रचार प्रसार किया जा चुका है,फिर भी यहाँ की जनता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी हो या बेगूसराय का जिला प्रशासन इनके आदेशों का पालन करने के लिए तैयार ही नहीं है।अब ऐसा लगता है कि जिला प्रशासन को कोई सख्त निर्णय ऐसे इलाकों के लिए लेना पड़ सकता है।

कोई टिप्पणी नहीं: