जमशेदपुरः लॉकडाउन में ओडिसा के 50 नागरिक फंसे, एक माह पहले शादी में शामिल होने आए थे - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 24 अप्रैल 2020

जमशेदपुरः लॉकडाउन में ओडिसा के 50 नागरिक फंसे, एक माह पहले शादी में शामिल होने आए थे

कोरोना महामारी के चलते पूरे देश में लॉकडाउन लागू है. ऐसे में देश के अनेक भागों में लोग फंसे हुए हैं. लॉकडाउन में जमशेदपुर में ओडिसा के तकरीबन 50 बाराती भी फंसे हैं.
people-lock-in-lock-down-jamhsedpur
जमशेदपुर (आर्यावर्त संवाददाता) कोरोना संक्रमण के फैलने से रोकने के लिए पूरे देश में लॉक डाउन-2 की शुरुआत की गई है. सभी वर्ग इससे प्रभावित हो रहे हैं. देश के अनेक भागों में लोग फंसे हुए हैं. वे अपने घर नहीं पहुंच पा रहे हैं. लॉकडाउन में जमशेदपुर में ओडिसा के तकरीबन 50 बाराती भी फंसे हैं, जो दाने-दाने के लिए मोहताज हैं. कोरोना के कारण लगे लॉक डाउन की वजह से समाज के हर तबके को परेशानी उठानी पड़ रही है. लॉकडाउन में जो जहां थे, वो वहीं रुक गया है. इस बीच जमशेदपुर में पिछले एक महीने से 50 से अधिक बाराती लॉकडाउन में कैद हैं. यह बाराती ओडिसा के बोलांगीर से 16 मार्च से जमशेदपुर में एक शादी समारोह में शरीक होने आए थे. इसी बीच कोरोना महामारी को लेकर हुए लॉकडाउन में सभी फंस गए हैं और इन लोगों को जैसे-तैसे खाने के लिए जुगत करनी पड़ रही है. कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए पूरे देश में 24 मार्च की रात से 21 दिन का लॉकडाउन की शुरुआत की गई थी. लॉक डाउन- 2 की शुरुआत 15 अप्रैल से की गई थी तब से यह परिवार सोनारी स्थित एक घर की छत पर टेंट लगा कर रहा है. एक महीने पहले ये लोग शादी समारोह में शरीक होने के लिए आए थे, जिसके बाद पूरे देश में लॉकडाउन लागू हो गया. इन लोगों का कहना है जैसे तैसे बस रात गुजारते हैं. अगले ही दिन सोचते हैं. खाना कौन देगा.

कोई टिप्पणी नहीं: