पूर्णिया : एक साल बीत गए शहर को नसीब नहीं हुई तीन एनजीओ की सेवा - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 23 अप्रैल 2020

पूर्णिया : एक साल बीत गए शहर को नसीब नहीं हुई तीन एनजीओ की सेवा

  • सिंगल टेंडर के अधर में अटकी है फाइल

 19 अप्रैल 2019 को नगर आयुक्त विजय कुमार सिंह ने नगर निगम क्षेत्र में सफाई की दुरूस्त व्यवस्था को बनाए रखने के लिए तीन एनजीओ बहाली की घोषणा की थी
purnia-municipal-corporation-work-failकुमार गौरव । पूर्णिया : 19 अप्रैल 2019 को नगर आयुक्त विजय कुमार सिंह ने नगर निगम क्षेत्र में सफाई की दुरूस्त व्यवस्था को बनाए रखने के लिए तीन एनजीओ बहाली की घोषणा की थी। पूरे एक साल बीत गए लेकिन अब तक इस दिशा में कार्रवाई तो दूर फाइल को तैयार करने में ही निगम पदाधिकारी लगे हैं। जिस वक्त यह घोषणा की गई थी उस वक्त चुनावी मौसम था और लोग कयास लगा रहे थे कि जल्द ही शहर की सफाई व्यवस्था पटरी पर होगी। यहां तक बताया गया था कि निविदा की प्रक्रिया लगभग पूरी हो गई है लेकिन दो बार लगातार सिंगल टेंडर होने के कारण अब तक प्रक्रिया पूरी नहीं हो पाई है। अब कोरोना के कहर ने खेल बिगाड़ दिया है और अब 16 जून 2020 को नए सिरे से एनजीओ बहाली को ले निविदा निकाले जाने की संभावना है। बता दें कि शहर की सफाई व्यवस्था को बनाए रखने के लिए तीन एजेंसियों को कार्यभार सौंपा जाना है। जिसके तहत कुल 46 वार्डों में सफाई कार्य के लिए 12-12-12 वार्डों को तीन हिस्सों में बांटा जाएगा और इन हिस्सों में सफाई का जिम्मा अधिकृत एजेंसी को दिया जाएगा। जबकि शेष 10 वार्डों में नगर निगम द्वारा स्वयं सफाई का कार्य कराया जाएगा। हालांकि कोरोना संकट व बारिश के मद्देनजर नगर निगम ने मुख्य नालों की उड़ाही का कार्य शुरू कर दिया है। 

...एक एनजीओ के भरोसे सफाई व्यवस्था : 
purnia-municipal-corporation-work-fail
तीन एनजीओ की बहाली नहीं होने के बीच एक सुखद समाचार यह है कि तीन वर्षों के बाद शहर के मुख्य नालों की उड़ाही का कार्य तेज कर दिया गया है। कोरोना वायरस के संक्रमण व बारिश में नालों के उफन जाने के डर से निगम पदाधिकारी जाग चुके हैं और मुख्य नालों की सफाई को गति दे दी है। इस कार्य के लिए शिवम जन स्वास्थ्य के कर्मियों को ही तैनात किया गया है। बता दें कि इस एनजीओ के जिम्मे शहर के 03, 05, 06, 11, 12, 13, 15, 19, 20, 22, 23, 24, 25, 26, 27, 28, 29, 30, 31, 36, 37, 38, 39, 40, 41 व 42 वार्ड में सफाई कार्य का भी जिम्मा है। इस संबंध में एनजीओ के प्रबंधक डीएन ठाकुर ने बताया कि उफरैल चौक से डीएम कोठी रोड तक करीब सात किलोमीटर तक लालगंज मुख्य नाले की उड़ाही कराई जा रही है। इसके लिए 30 सफाई कर्मियों को लगाया गया है और वार्डों में सफाई के लिए 5-5 सफाई कर्मियों को अलग से लगाया गया है। इसके एवज में एनजीओ को प्रति वार्ड प्रतिमाह नगर निगम से 94 हजार रूपए भुगतान किया जाता है। 

...अतिक्रमण ने बढ़ाई परेशानी : 
सफाई कर रहे एनजीओ के प्रबंधक ने बताया कि लालगंज नाले का अधिकांश हिस्सा अतिक्रमित कर लिया गया है। विभागीय दस्तावेज में इस नाले की चौड़ाई 32 फीट और कहीं कहीं 18 फीट है लेकिन अतिक्रमण के कारण यह नाला सिकुड़कर 5-7 फीट और राजेंद्र बाल उद्यान समेत कुछेक जगहों पर तो महज 4-5 फीट चौड़ा रह गया है। जिस कारण बरसाती दिनों पानी का फ्लो बाधित हो जाता है। वहीं दूसरी ओर सफाई कर्मियों को सुरक्षा उपकरण के बाबत पूछे जाने पर प्रबंधक ने बताया कि सभी सफाई कर्मियों को मास्क, ग्लब्स व साबून दिया गया है। 

...नहीं हो रहा ठोस कचरे का उठाव : 
मुख्य नाले की उड़ाही तो हाे रही है लेकिन अतिक्रमण के कारण रास्ता नहीं होने के कारण सफाई कर्मी ठोस कचरे को नाले के किनारे ही जमा रहे हैं। तेज बारिश में यही कचरा दोबारा नाले में जमा हो जाएगा और समस्या यथावत बनी रहेगी। वहीं शहर के कई हिस्सों में भी ठोस कचरे का उठाव नहीं किया जा रहा है। जिस कारण लोगों की शिकायतें लगातार सामने आ रही हैं। 

...कोरोना से प्रभावित हो रहा कार्य : 
शहर में तीन एनजीओ की बहाली को ले निगम प्रशासन गंभीर है। दो बार सिंगल टेंडर व कोरोना के कारण कार्य प्रभावित हुआ है। अब 16 जून को नई तिथि निर्धारित की गई है। जिसके बाद ही कुछ किया जा सकता है। : विजय कुमार सिंह, नगर आयुक्त, नगर निगम पूर्णिया।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...