रेलवे टिकिट बुकिंग चालू 14 को समाप्त हो रहा है लॉक डाउन। - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 5 अप्रैल 2020

रेलवे टिकिट बुकिंग चालू 14 को समाप्त हो रहा है लॉक डाउन।

railway-booking-starts
अरुण शाण्डिल्य (बेगूसराय) कोरोना जैसी वैश्विक महामारी की वजह से सम्पूर्ण भारत में लॉक डाउन की वजह से पूरे देश में रेलवे के पहिए थम भी थम गए हैं।देश में 21 दिनों का लॉकडाउन जो कि अब 14 अप्रैल को खत्म होने जा रहा है।किन्तु रेल परिचालन पर फिलहाल कोई फैसला नहीं लिया गया है।अंतिम फैसला कोरोना वायरस पर गठित केंद्र सरकार के मंत्रियों के समूह को लेना है,जो कि अभी नहीं लिया गया है किन्तु अग्रिम टिकिट बुकिंग का काम जोरो से चल रहा है।रेलवे के सभी सीटों की बुकिंग हो जाने के कारण अब सिर्फ  वेटिंग टिकिट ही मिल पा रहे हैं।लॉकडाउन खत्म होने का इंतजार के बाद रेल यात्री अभी से ही एडवांस टिकट बुकिंग कराने लगे हैं।अब आलम यह है कि कई प्रमुख ट्रेनों में 16 से 20 अप्रैल की स्लीपर और सभी वातानुकूलित सीटें फुल होने के कारण वेटिंग लिस्ट की स्थिति पहुंच गई है।ये स्थिति आज उस स्थितियों में है जबकि रेलवे की ओर से "सीनियर सिटीजन" यानी वरिष्ठ नागरिकों को किराये में दी जाने वाली छूट नहीं दी जा रही है।सरकार ने कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते हुए लॉकडाउन खत्म होने के बाद भी किसी तरह की अधिकाधिक संख्याओं की भीड़ नहीं चाह रही है। सीनियर सिटीजन को टिकट बुकिंग में रियायत नहीं देने के पीछे सरकार की यही सोच है कि अभी लोग अनावश्यक यात्रा करने से बचें। आपको बताते चलें कि अब तक महिलाओं को 50 तथा पुरुषों को 40 फीसदी छूट सीनियर सिटीजन के नाते दी जा रही थी। इस लॉकडाउन केे कारण देशभर के सभी रेलवे टिकट काउंटर बंद हैं,इसलिए एडवांस टिकट की बुकिंग सिर्फ आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर ही हो रही है। इसमें वरिष्ठ नागरिकों को रेल किराये में छूट देने वाला कॉलम ही गायब है।यानी वरिष्ठ नागरिकों को रेल किराये में छूट नहीं दी जा रही है।आपको बता दें कि रेलवे ने कोरोना वायरस के फैलाव को कम करने के इरादे से ही यह छूूूट नहीं देने का फैसला लिया है,इसके साथ ही 20 मार्च आधी रात से विद्यार्थी,दिव्यांगजनों,मरीजों को छोड़कर विभिन्न कुल 53 श्रेणियों के तहत दी जाने वाली रियायात समाप्त कर दी थी। इसका मकसद कम से कम संख्या में यात्री रेलवे में सफर करें।विशेषकर वरिष्ठ नगारिकों को कोरोना से संक्रमित होने का अधिक खतरा रहता है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...