सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 05 अप्रैल - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 5 अप्रैल 2020

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 05 अप्रैल

दमकल की कमी से किसानों को नुकसान : मेवाड़ा

सीहोर । संपूर्णं जिले में दमकलों की संख्या काफी कम है । जिले के क्षेत्रफल और आबादी के अनुपात के मुताबिक अधिक दमकलों की जरूरत है। कई बार देखने में आया है कि एक ही समय में दो जगह आग की घटनाएं घटने पर बड़ी ही गंभीर स्थिति निर्मित होती है ।  किसान संगठन के राजेश मेवाड़ा ने बताया कि कई बार संगठन द्वारा मांग भी की गई है लेकिन अब तक उक्त समस्या का समाधान किसान हित में नहीं हो सका है । श्री मेवाड़ा ने कहा कि किसान अपनी गेहूं की फसल की कटाई कर रहे हैं और कई बार गर्मी मौसम में अज्ञात कारण एवं विद्युत के कारण आगजना का घटनाएं घटित होती है । यदि पर्याप्त संख्या में फायर ब्रिगेड जिले में होंगी तो आगजनों को इसका लाभ मिलेगा।

कलेक्टर पहुँचे नसरूल्लागंज, किया विभिन्न ग्रामों का निरीक्षण

sehore news
कलेक्टर श्री अजय गुप्ता ने रविवार को नसरुल्लागंज क्षेत्र के लगभग एक दर्जन ग्रामों का दौरा कर वहां रह रहे ग्रामवासियों से कोरोना वायरस से बचाव के संबंध में चर्चा की। साथ ही उन्होंने सभी को जानकारी दी कि किस प्रकार सोशल डिस्टेनसिंग के ज़रिए इस वायरस से बचा जा सकता है। उन्होंने क्षेत्र में भोजन व अन्य आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता की जानकारी संबंधित अधिकारियों से ली। इस दौरान उन्होंने कहा कि शासन के निर्देशों का पालन करते हुए जिला प्रशासन कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए लगातार कड़ी मेहनत के साथ मुकाबला कर रहा है,  इसका ताजा उदाहरण यह है अभी तक सीहोर जिले में एक भी व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव नहीं पाया गया है। उन्होंने सभी से अपील की है कि कोरोना महामारी के खिलाफ सभी एकजुट होकर प्रशासन का साथ दें।  इस मौके पर मुख्य कार्यपालन अधिकारी, जिला पंचायत श्री अरूण कुमार विश्वकर्मा सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

भारत सरकार ने कोविड-19 वैश्विक महामारी के मद्देनजर मनरेगा मजदूरी में की औसतन 20 रुपये की वृद्धि

भारत सरकार के ग्रामीण विकास विभाग ने महात्मा गांधी राष्ट्रीय रोजगार गारंटी योजना यानी मनरेगा के तहत काम करने वाले श्रमिकों की मजदूरी को 1 अप्रैल 2020 से संशोधित करने का निर्णय लिया है। मनरेगा मजदूरी में 20 रुपये की औसत राष्ट्रीय वृद्धि की गई है।  मनरेगा के तहत मुख्य तौर पर व्यक्तिगत लाभार्थी-उन्मुख कार्यों पर ध्यान केंद्रित किया गया है जिससे सीधे तौर पर एससीए एसटी और घरेलू महिलाओं के अलावा लघु एवं सीमांत किसान तथा अन्य गरीब परिवार लाभान्वित होते हैं।

सेनेटाइजर की बोतलों पर जीएसटी सहित मूल्य लिखने के निर्देश

राष्ट्रीय आपदा नोवेल कोरोना वायरस को दृष्टिगत रखते हुए प्रदेश की आसवनियों द्वारा निर्मित सेनेटाईजर के शासकीय एवं गैर शासकीय संस्थाओं को आपूर्ति विक्रय दरों को सुनिश्चित करने के लिए आबकारी आयुक्त मध्यप्रदेश द्वारा संभागीय आयुक्तों, कलेक्टर्स को सेनेटाईजर के मूल्य एवं विक्रय तथा वितरण के संबंध में निर्देश दिए गए है। जारी निर्देश के अनुसार प्रदेश में आसवनियों द्वारा निर्मित सेनेटाईजर की 180 मिली लीटर की बोतलों की पेटी (50 बोतल) शासकीय आपूर्ति के लिए 1800 रूपये (जीएसटी सहित) तथा गैर शासकीय आपूर्ति-विक्रय के लिए अधिकतम 2100 रूपये प्रति पेटी (जीएसटी सहित) से अधिक पर न करे। साथ ही 180 मिलीलीटर की प्रत्येक बोतल में एमआरपी 60 रूपये (जीएसटी सहित) से अधिक तथा 90 मिलीलीटर की बोतल में एमआरपी 30 रूपये (जीएसटी सहित) से अधिक अंकित न किया जाए, ताकि दुकानदार इस राष्ट्रीय आपदा के समय अनुचित लाभ न कमा सके यह सुनिश्चित किया जाए। शासकीय आवश्यकता के अनुसार पर्याप्त मात्रा में संभाग, जिले में सेनेटाइजर उपलब्ध होने पर आमजन को यह सस्ता सेनेटाइजर उपलब्ध कराने के लिए इसे ड्रग निरीक्षक के माध्यम से सभी मेडिकल स्टोर, विक्रय स्थलों पर नियमानुसार रखा जा सकता है। ऐसे विक्रय स्थलों पर आवश्यक रूप से बाहर एक नोटिस बोर्ड में यह प्रदर्शित किया जाना चाकिए कि सेनेटाईजर दुकान में कितनी मात्रा में उपलब्ध है और उपभोक्ता के लिए इसका विक्रय मूल्य क्या है। ताकि आमजन को सेनेटाइजर उचित मूल्य पर उपलब्ध हो।

प्रदेश में समस्त खेल गतिविधियां 30 अप्रैल तक स्थगित

विश्वव्यापी नोबेल कोरोना वायरस संक्रमण के संभावित खतरे को ध्यान में रखते हुए संचालक खेल और युवा कल्याण श्री व्ही. के. सिंह ने प्रदेश के सभी स्टेडियमों, मैदानों पर संचालित खेल गतिविधियां, प्रशिक्षण एवं अन्य प्रतियोगिताओं को 30 अप्रैल तक के लिए स्थगित कर दिया है। इस बारे में समस्त संभागीय/जिला खेल और युवा कल्याण अधिकारी तथा प्रभारी, राज्य खेल अकादमी को निर्देशों का पालन सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है। खेल एवं युवा कल्याण विभाग द्वारा जारी आदेश के मुताबिक कोरोना महामारी के संक्रमण को रोकने के संबंध में भारत सरकार एवं राज्य शासन के निर्देशानुसार सोशल डिस्टेन्सिंग के पालन को कड़ाई से लागू करने के लिए यह निर्णय लिया गया है। उल्लेखनीय है कि  पूर्व में खेल गतिविधियों को स्थगित करने के संबंध में यह अवधि 31 मार्च निर्धारित की गई थी।

मान्यता नवीनीकरण एवं नवीन मान्यता के लिए आवेदन की अंतिम तिथि में वृद्धि

माध्यमिक एवं उमा शालाओं में शैक्षणिक सत्र 2020-21 की मान्यता नवीनीकरण एवं नवीन मान्यता के लिए आवेदन की अंतिम तिथि में वृद्धि करते हुए 30 अप्रैल निर्धारित की गई है। लोक शिक्षण संचालनालय द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति में बताया कि वर्तमान में कोविड-19 वायरस के संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए लॉकडाउन के निर्णय के कारण कतिपय अशासकी संस्थाओं द्वारा आवेदन की तिथि बढ़ाने का अनुरोध किया गया है। इस पर निर्णय लेते हुए संचालनालय ने आवेदन की अंतिम तिथि में वृद्धि की है।

अप्रैल माह तक की फीस 30 अप्रैल तक जमा की जा सकेगी

मध्यप्रदेश शासन देश में कोरोना वायरस के लॉक डाउन के कारण माध्यमिक शिक्षा मंडल सी.बी.एस.सी., आई.सी.एस.ई. बोर्ड से संबद्धता प्राप्त प्रदेश के समस्त विद्यालयों में शैक्षणिक सत्र 2019 की अप्रैल तक छात्र छात्राओं की बकाया शुल्क 30 अप्रैल तक जमा की जा सकेगी। विद्यालयों द्वारा इस पर विलंब शुल्क नहीं लिया जाएगा। माध्यमिक शिक्षा मंडल की कक्षा दसवीं और बारहवीं की विषय की परीक्षा आयोजित नहीं की रही है। उन विषयों की परीक्षाएं बाद  में आयोजित की जाएंगी। परीक्षा तिथि माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा बाद में घोषित की जाएगी।

कोरोना से बचाव हेतु आयुर्वेद के नुस्खे अपनाएं

कोरोना से बचाव हेतु आयुर्वेद के इन नुस्खे को अपनाएं पूरे दिन केवल गर्म पानी पिए। आयुष मंत्रालय की सलाह के अनुसार प्रतिदिन कम से कम 30 मिनट योगासन प्राणायम एवं ध्यान करें। हल्दी, जीरा, धनिया एवं लहसुन आदि मसालो का भोजन बनाने में प्रयोग करें। च्यवनप्राश 10 ग्राम 01 चम्मच सुंबह ले। मधुमेह के रोगी शुगर फ्री च्यवनप्राश लें। तुलसी, दालचीनी, काली मिर्च, शुण्ठी (सूखी अदरक) एवं मुनक्का से बनी हर्बल टी/काढ़ा दिन में एक से दो बार पिएं। स्वाद के अनुसार इसमें गुड़ या ताजा नींबू रस मिला सकते है। गोल्डन मिल्क- 150 उस गर्म दूध में आधा चम्मच हल्दी चूर्ण दिन में एक से दो बार लें। नस्य सुबह एवं शाम तिल/नारियल का तेल या घी नाक के दोनो छिद्रों में लगाएं। केवल-01 चम्मच तिल/नारियल तेल को मुंह में लेकर दो से तीन मिनट कुल्ले की तरह मुंह में ही घुमाएं। उसके बाद उसे कुल्ले की तरह ही थूक दें। फिर गर्म पानी से कुल्ला कर लें। ऐसा दिन में एक से दो बार करें। दिन में कम से कम एक बार पुदीना के पत्ते/अजवाइन डाल कर पानी की भाप लें। खांसी या गले में खराश होने पर लौंग के चुर्ण में गुड़ या शहद मिलाकर दिन में दो से तीन बार लें। ये उपाय सामान्य सूखी खांसी एवं गले के खराश के लिए लाभदायक है। फिर भी अगर लक्षण बने रहते है तो डॉक्टर से परामर्श लें।

कोई टिप्पणी नहीं: