सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 17 अप्रैल - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 17 अप्रैल 2020

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 17 अप्रैल

महिलाओ के जनधन खातों में 500 /- रूपए की सहायता राशि का भुगतान

sehore news
प्रधानमंत्री द्वारा महिलाओं के जनधन खातों में रू.500/- की सहायता राशि जमा की गई।  जिसका भुगतान बैंको के माध्यम से किया जा रहा है। अग्रणी जिला प्रबंधक श्री प्रकाश पेंढारकर ने बताया कि जिले के समस्त बैंक शाखाओं द्वारा साशल डिस्टेन्सी का पालन कर भुगतान किया जा रहा है।  ग्राहकों को शाखा परिसर में प्रवेश करने से पूर्व सेनीटाइजर दिया जा रहा है।  उसके बाद उन्हें शाखा में प्रवेश दिया जा रहा है।  शाखा परिसर की भीड को नियंत्रित करने हेतु जिला प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन का सहयोग सराहनीय है। बैंक आॅफ इंडिया सीहोर शाखा के मुख्य प्रबंधक श्री प्रमोद पाण्डेय ने बताया कि उनकी शाखा के लगभग 4121 महिला जनधन खातों में राशि आई है।  समस्त खाता धारक को शाखा एव ंबी.सी. के माध्यम से राशि दी जा रही है।

गरीब बस्तियों में पहुंचे युवा शिवसेना  के कार्यकर्ता बांटे खाने के पेकेट 

sehore news
सीहोर। लॉक डाउन ने गरीबों मजदूरों की कमर तोड़ कर रख दी है।  गरीब बस्तियों के सैकड़ों परिवारों आर्थिक परेशानियों से जूझ रहे है। एैसे परिवारों को युवा शिवसेना के कार्यकर्ताओं के द्वारा नियमित रूप से खाने के पेकेट उपलब्ध कराए जा रहे है। युवा सेना जिला अध्यक्ष सुनील राय ने बताया की शिवसेना लगातार मानवीयता के आधार पर जरूरतमंद लोगों को भोजन उपलब्ध करा रहीं है यह क्रम बीते माह से जारी है। शिवसेना के द्वारा पाटी मोहल्ला इंदिरा नगर सहित अन्य गरीब बस्तियों में सेवा कार्य किया जा रहा है। इस कार्य में युवा सेना नगर संपर्क प्रमुख प्रदीप नागर युवा नगर संगठन प्रमुख विक्की मीणा, रंजीत ठाकुर सहित अन्य कार्यकर्ता अपना योगदान दे रहे है। 

शिव सैनिकों ने किया कोरोना फाईटर डॉक्टरों  और पुलिसकर्मियों का पुष्प मालाओं से सम्मान 

sehore news
सीहोर। कोतवाली थाना और जिला अस्पताल पहुंचकर कारोना वायरस फाईटर डॉक्टरों नर्स और डयूटी पर तैनात पुलिस कर्मियों का शिवसेना जिलाध्यक्ष गब्बर यादव के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं के द्वारा सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए पुष्प मालाओं से स्वागत कर सम्मान किया गया।  शिवसेना जिलाध्यक्ष श्री यादव ने कहा की देश कोरोना नामक राक्षस से जूझ रहा है दुनिया में एक लाख से अधिक लोगोंं की मौत कोरोना का शिकार होकर हो चुकी एैसे हालातों में हमारा जिला कारोना पॉजिटिव से मुक्त बना हुआ है। इस कोरोना सुरक्षा कवज का श्रेय जिला कलेक्टर अजय गुप्ता,एसपी शशिंद्र सिंह चौहान के साथ सैकड़ों डॉक्टरों नर्स और स्वास्थ्य कर्मियों के साथ सफाई कर्मचारियों पुलिस कर्मियों और जागरूक कर रहे मीडिया कर्मियों को जाता है यह सभी सम्मान के पात्र है। सम्मान के दौरान पर्वत मेवाड़ा,नीरज गुप्ता, विजय यादव, चंद्रशेखर डागर, दीपक त्यागी, मदन प्रजापति, सुनील राय, प्रवीण यादव, आकाश रावत, जितेंद्र, शेलू, मुकुल, विशाल, विनय यादव सहित शिवसेना कार्यकर्ता मौजूद रहे। 

लॉकडाउन का असर सेन जयंती पर होने वाले कार्यक्रम स्थागित  समाजजन घर पर हीं मनाएंगे संत शिरोमणि की जयंती 

सीहोर। कोरोना रूपी विश्वव्यापी महामारी के चलते जिले के सेन समाज ने संत शिरोमणि सेनजी महाराज की जयंती घर पर हीं सादगी से मनाएं जाने का निर्णय लिया है।  जिला मुख्यालय स्थित सेन धर्मशाला हनुमान मंदिर गंज में संत श्री की सोशल डिस्टेंसिंग के साथ रविवार सुबह पारपंरिक रूप से विधिवत पूजा अर्चना जरूरी सेन समाज संगठन के पदाधिकारियों के द्वारा हीं की जाएगी।  सेन समाज जिलाध्यक्ष तुलसी राम सेन ने सजातीय बंधुओं से संत शिरोमणि  श्री सेन जी महाराज का 720 वां जन्मोत्सव घर पर हीं रहकर रंगोली बनाकर दीपमाला सजाकर पुष्प बरसाकर भगवान को प्रसाद का भोग लगाकर संतश्री की विधिवत पूजा अर्चना कर लॉक डाउन का पालन करते हुए हर्षोल्लास से मनाएं।  युवा सेन समाज संगठन अध्यक्ष विश्वास बगवैया ने सामाजजनों से देश पर आई इस विविदा की घड़ी मेंं सामाजिक एकता दिखाते हुए जरूरतमंद परिवार की हर संभव मदद करने और आस पड़ोस में रहने वाले किसी भी समाज जाति धर्म   के व्यक्ति की मदद करने का आहवान किया। उन्होने कहा की सेन समाज बीते दिनों से जरूरतमंदों को राशन बांटने का काम निरंतर कर रहा है। यह सेवा कार्य लॉक डाउन के अंतिम दिन तक जारी रहेगा। संत श्री की जयंती पर घोषित किए गए सभी धार्मिक सामाजिक सांस्कृतिक कार्यक्रम कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप और जिला प्रशासन के निर्देशों के पालन करने के परिपेक्ष में स्थागित कर दिए गए है। 

कलेक्टर ने किया जिले के विभिन्न उपार्जन केन्द्रों एवं वेयरहाउस का निरीक्षण

sehore news
शुक्रवार को कलेक्टर श्री अजय गुप्ता द्वारा उपार्जन के नोडल अधिकारी श्री अरुण कुमार विश्वकर्मा सहित अन्य अधिकारियों के साथ जिले में विभिन्न उपार्जन केन्द्रों एवं वेयर हाउस का निरीक्षण किया गया। इस दौरान वह नसरुल्लागंज के ग्राम निपानिया, सतराना, नंदगांव, नसरुल्लागंज कृषि मंडी एवं रेहटी के ग्राम चकल्दी पहुंचे। जहां उन्होंने कोरोना महामारी को ध्यान में रखते हुए अधिकारियों को नियमों का पालन कराने के निर्देश दिए साथ ही कृषकों को भी सोशल डिस्टेंसिंग बनाने की समझाईश दी।

जिला विकलांग एवं पुनर्वास केन्द्र सीहोर के कोरोना योद्धा कन्ट्रोल रूम के कर्मचारी बने मिसाल (अच्छी खबर)

sehore news
जिले की इछावर तहसील अन्तर्गत ग्राम झालकी निवासी 5 वर्षीय अक्षत ठाकुर के जन्मजात दिव्यांगता सेरेब्रल पाल्सी से ग्रसित होने के कारण चलने में असमर्थ है। जिसका  ऑपरेशन एस.आर.सी.सी.चिल्ड्रन अस्पताल मुम्बई में 17 मार्च 2020 लाकडाउन लगने से कुछ दिन पहले ही हुआ एवं 20 मार्च 2020 को गांव वापस आ गये। 21 दिन पश्चात अक्षत के पालक पैरों का प्लास्टर कटवाने के लिये परेशान हो रहे थे। किसी तरह उन्होंने जिला विकलांग एवं पुनर्वास केन्द्र के कन्ट्रोल नम्बर पर फोन किया। जिससे उन्हें तुरन्त मदद पहुंचाई गई। सीहोर के जायसवाल अस्पताल में अक्षत का प्लास्टर काटा गया एवं जिला विकलांग एवं पुनर्वास केद्रं के फिजियोथेरेपिस्ट डॉ धर्मेन्द्र ताम्रकार के द्वारा फिजियोथेरेपी कराई गई एवं पी/ओ डी.डी.नागले के द्वारा सहायक उपकरण  बनाकर प्रदाय किये गये। कोरोना से बचाव के लिए हितग्राही को मास्क प्रदान करते हुए जानकारी दी गई कि समय पर साबुन या सेनेटाईजर से हाथ धोना, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना,  घर पहुंचकर स्नान करने आदि की हिदायत दी गई। ताकि सीहोर जिले में एक भी कोरोना का आंकड़ा न आने पाए। बच्चे के परिजन के द्वारा शासन को धन्यवाद दिया। साथ ही इस लाकडाउन जैसी कठिन परिस्थिति में बिना किसी परेशानी के बच्चे का उपचार किया गया इसके लिये जिला विकलांग एवं पुनर्वास केन्द्र का आभार व्यक्त किया गया ।

जिले में पिछले 24 घंटों में 597 तथा अभी तक कुल 25028 व्यक्तियों को किया गया होमकोरोटाईन

स्वास्थ्य विभाग के अमले द्वारा मैदानी स्तर पर ग्राम एवं शहरी वार्डो में निरंतर घर-घर सर्वे कर विदेश से सीहोर जिले में लौटे तथा अन्य जिलों व राज्यों से व्यक्तियों की खोजबीन की जा रही है। पिछले 24 घंटे के दौरान जिले में अन्य राज्यों व अन्य जिलों से आए हुए करीब 597 व्यक्तियों की पहचान व पता लगाकर उनकी तत्काल स्क्रीनिंग की गई तथा उन्हें होम क्वारेंटाईन किया गया है। सीहोर जिले में अन्य जिलों अथवा राज्यों से लौटे हुए यात्रियों की संख्या अब तक कुल 25028 है। उन्हें होम कोरेंटाईन से संबंधित गाईड लाईन की जानकारी प्रदान कर सख्त हिदायत दी गई है कि  होम कोरेंटाइन गाइड लाइन का कड़ाई से पालन करेंगे। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ सुधीर डेहरिया ने जानकारी दी कि जिले में अन्य देशों से सीहोर पहुंचे कुल व्यक्तियों की संख्या 232 है जिनमें से 184 लोगों की अब तक स्क्रीनिंग स्वास्थ्य विभाग द्वारा की जा चुकी है। पिछले 24 घंटों के दौरान 597 ऐसे व्यक्तियों की पहचान की गई जो अन्य राज्यों और अन्य जिलों से लौटे थे इन सभी व्यक्तियों की तत्काल स्क्रीनिंग कर इन्हें 17 अप्रैल को ही होम कोरेंटाईन कर दिया गया है जिले में अब तक होम कोरेंटाईन किए गए व्यक्तियों की संख्या 25028 है। डॉ.डेहरिया ने बताया कि पिछले 24 घंटों के दौरान ऐसे व्यक्ति जो विदेश से सीहोर जिले में नहीं लौटे थे परंतु अन्य जिलों एवं राज्यों से लौटे थे और विभागीय अधिकारियों कर्मचारियों द्वारा घर-घर सर्वे के दौरान चिन्हित किए गए उन्हें तत्काल होम कोरेंटाईन किया गया उनकी संख्या पिछले 24 घंटे के दौरान 3820 है तथा ऐसे अब तक 20653 व्यक्तियों को होम कोरेंटाइन पूर्ण किया जा चुका है। जिले से अब तक 101 सेम्पल जांच के लिए भेजे गए थे जिनमें से 85 की रिपोर्ट अब तक निगेटिव प्राप्त हुई है। शुक्रवार को ही 2 सेम्पल जांच के लिए भोपाल भेजे गए है। 2 सेंपलों सहित कुल 12 सेंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। आज की स्थिति में हास्पिटल आईसोलेशन, कोरोना संक्रमण पाजीटिव मरीजों की संख्या शून्य है। विभाग की ओर से मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय में जिला स्तरीय नियंत्रण कक्ष स्थापित किया गया है जिसका संपर्क नंबर 7247704181 है इस नंबर पर बाहर से बाहर से आए हुए व्यक्तियों की जानकारी 24 घंटे दी जा सकती है। वहीं कलेक्ट्रेट कार्यालय में भी 24 घंटे के लिए काल सेंटर बनाया गया है जिसका संपर्क नंबर 9893635076 है इस नंबर पर संपर्क कर कोविड-19 के संबंध में किसी प्रकार की सलाह ली जा सकती है 24 घंटे संचालित उक्त काल सेंटर में चिकित्सा अधिकारियों की ड्यूटी लगाई गई है जिनके द्वारा विदेश, अन्य राज्यों व जिलों से आकर होम कोरेंटाइन किए गए व्यक्तियों को फोनकर  प्रतिदिन फीडबैक लिया जाता है तथा इसकी जानकारी जिला स्तरीय नोडल अधिकारी, संबंधित ब्लाक मेडिकल आफिसर को तत्काल दी जाती है। वहीं जिला चिकित्सालय सीहोर में टेलीमेडिसिन सेंटर स्थापित किया गया है जिसका संपर्क नंबर 07562-401259 है यहां पर टेलीमेडिसिन के संबध में उचित सलाह ली जा सकती है।  

कोरोना की पहचान ही बचाव की पहली सीढ़ी - मुख्यमंत्री श्री चौहान

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कोरोना वायरस के संक्रमण की पहचान के लिए प्रदेश में 9 प्रयोगशालाएँ काम कर रही हैं और आवश्यकता पड़ने पर विशेष विमान द्वारा सेम्पल टेस्टिंग के लिए दिल्ली भेजे जानी की भी व्यवस्था है। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण की पहचान ही कोरोना से बचाव की पहली सीढ़ी है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि वास्तव में 23 मार्च तक प्रदेश में कोरोना टेस्टिंग की कोई व्यवस्था ही नहीं थी। हमने कोरोना से लड़ने के लिए व्यापक रणनीति तैयार की, जिसमें प्रभावित क्षेत्रों का व्यापक सर्वे, कोरोना प्रभावित क्षेत्र को पहचान कर उस पर प्रभावी अमल किया गया है। आयसोलेशन तथा क्षेत्र को प्रतिबंधित कर क्षेत्र में टेस्टिंग की जा रही है। टेस्टिंग में पॉजीटिव मिलने पर वो व्यक्ति किस-किस के सम्पर्क में आया, उन्हें आइसोलेट किया जाकर फिर प्रभावित व्यक्ति के ट्रीटमेंट (आई.आई.टी.टी.) की व्यवस्था की गई है।

कोरोना वायरस के तहत लॉक डाउन के दौरान आवश्यक सावधानियां रखने के निर्देश

राज्य शासन के वन विभाग द्वारा कोरोना संक्रमण के प्रकोप के समय किये जा रहे लॉकडाउन के समय लघु वनोपज के संग्रहण, प्रसंस्करण, उपचारण, परिवहन, भण्डारण तथा विपणन के कार्यों में संलग्न श्रमिकों, ग्रामीणों को संक्रमण से बचाव के लिए आवश्यक सावधानिया रखने के निर्देश जारी किए है। तेंदुपत्ता क्रेताओं एवं उनके प्रतिनिधियों के लिए वन मण्डल अधिकारी, प्रबंध संचालक जिला यूनीयन द्वारा क्षेत्र विशेष में कार्य सम्पादन करने के लिए पूर्व से निर्धारित फोटो परिचय पत्र जारी किये जावेगे। जारी किये गए ऐसे समस्त फोटो परिचय पत्र को लघुवनोपज के संग्रहण, परिवहन, भण्डारण के लिए मान्य किया जावेगा। राजस्व एवं पुलिस प्रशासन को इन परिचय पत्रों के सम्बन्ध में कलेक्टर द्वारा अवगत कराया जाएगा। न्यूनतम समर्थन मूल्य पर लघुवनोपज के क्रम के लिए लघु वनोपज संघ द्वारा वन विभाग के माध्यम से आवश्यक व्यवस्थाएं की जावेगी।

उपार्जन केन्द्रों, भण्डारण केन्द्रों पर गुणवत्ता परीक्षण के संबंध में निर्देश

वर्तमान में कृषि विभाग के मैदानी अमले द्वारा मुख्यतः फसल कटाई, फसल कटाई प्रयोग, जायद फसलों का क्रियान्वयन, खरीफ फसल की तैयारियां सहित अन्य कार्य किए जा रहे हैं। किसान कल्याण एवं कृषि विकास विभाग के प्रमुख सचिव ने सभी कलेक्टर्स से कहा है कि उपार्जन तथा कृषि के अन्य महत्वपूर्ण कार्यो को दृष्टिगत रखते हुए तथा जिले की अन्य प्राथमिकताओं को देखते हुए अल्प समय के लिए कृषि विभाग के मैदानी कर्मचारियों को गुणवत्ता परीक्षण के लिए अतिरिक्त कार्य हेतु लगाया जा सकता है। उल्लेखनीय है कि मार्कफेड एवं नागरिक आपूर्ति निगम द्वारा उपार्जन के लिए स्थापित केन्द्रों पर आवश्यकतानुसार सर्वेयर की व्यवस्था की जा रही है। कोविड-19 संक्रमण की वजह से सर्वेयर्स के आवागमन में कठिनाई महसूस हो रही है। साथ ही कोविड-19 की वजह से उपार्जन केन्द्रों की संख्या में भी वृद्धि की है। 

अति आवश्यक वस्तुओं के परिवहन में लगे वाहन कदापि न रोके जाएँ

आवश्यक वस्तुओं के परिवहन में लगे वाहनों को मार्ग में कदापि न रोका जाए, जिससे आम जनता को रोजमर्रा के लिए जरूरी सामग्री की आपूर्ति बाधित न हो। इस आशय के निर्देश कोरोना संक्रमण की वजह से लागू लॉक-डाउन को ध्यान में रखकर अतिरिक्त पुलिस  महानिदेशक दूरसंचार ने भोपाल व इंदौर के डीआईजी सहित प्रदेश के सभी जिलों के पुलिस अधीक्षकों को जारी किए हैं । उन्होंने कहा है पुलिस के मैदानी अधिकारियों को ताकीद कर इन निर्देशों का गंभीरता से पालन कराएँ। अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक दूर संचार द्वारा जारी निर्देशों में स्पष्ट किया गया है  कि अतिआवश्यक वस्तुओं के परिवहन में लगे  किसी वाहन को यदि मार्ग में रोका जाता है, तो वाहन चालक उसकी शिकायत डायल-100 पर कर सकते हैं। ऐसी शिकायतों का निर्धारित प्रक्रिया का पालन करते हुए तत्काल निराकरण कराया जाएगा। उन्होंने पुलिस अधीक्षकों को हिदायत दी है कि डायल-100 सेवा द्वारा इस प्रकार की शिकायतों के निराकरण के संबंध में व्यापक प्रचार-प्रसार भी कराया जाय, जिससे समस्या आने पर वाहन चालक शिकायत दर्ज करा सकें। अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक दूर संचार ने अति आवश्यक वस्तुओं के परिवहन से जुड़े वाहनों संबंधी समस्याओं के त्वरित निराकरण के लिए जिले स्तर पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक स्तर के अधिकारी को नोडल अधिकारी के रूप में तैनात करने को कहा है।

 कोविड-19 की जिला, ब्लाक एवं ग्राम स्तरीय सर्वेलेंस के  लिए व्यापक तैयारियां

sehore news
कोविड-19 (कोरोना वायरस) से बचाव,सावधानियों तथा सर्वेलेंस के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा व्यापक तैयारियां की गई है। इसके लिए जिला स्तर से लेकर विकासखण्ड स्तर पर अधिकारियों तथा कर्मचारियों को जिम्मेदार बनाया गया है। सभी टीमें सेक्टर तथा ग्राम स्तर पर पूरी जिम्मेदारी तथा तत्परता से अपना दायित्व पूरा कर रही है।     मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.सुधीर डेहरिया ने जानकारी दी कि  जिला स्तर पर एक रेपिड रिस्पांस टीम का गठन किया गया है तथा 12 एम.एम.यू.(मोबाइल मेडिकल यूनिट) सक्रिय है जिसमें सीहोर शहरी क्षेत्र एक तथा सभी विकाखण्ड में 2-2 टीम सक्रिय है। सेक्टर स्तर पर 37 काम्बेट दल सक्रिय है जो सेक्टर स्तर पर सर्वेलेंस का कार्य देख रहे है। 14 एम्बूलेंस वाहन कोविड-19 के परिवहन के लिए लगाए गए है जिसमें 01 ए.एल.एस.(एडवांष लाईफ सपोर्ट) तथा 14 बी.एल.एस. (बेसिक लाईफ सपोर्ट) वाहनों को लगाया गया है। ग्रामीण स्तर पर 239 वार्ड एंड विलेज सर्वेलेंस टीम संचालित है। जिसमें आष्टा 82, बुदनी में 40, इछावर 35, नसरूल्लागंज 28, श्यामपुर 41 तथा सीहोर शहरी क्षेत्र में 13 दल सक्रिय है। कम्यूनिटी हैल्थ आॅफिसर की निगरानी में 37 समुदाय स्तरीय दलों को लगाया गया है। जिसमें आष्टा तथा बुधनी में 06-06, इछावर तथा नसरूल्लागंज में 7-7 श्यामपुर में 11 टीमें सक्रिय है। जिला स्तर पर जिला कार्यक्रम प्रबंधक ईकाई तथा 05 विकासखण्ड स्तरीय प्रबंधन ईकाई के माध्यम से जिला एवं राज्य स्तर पर रिर्पोर्टिंग एवं प्रबंधन किया जा रहा है। विकासखण्ड स्तर पर 30 सब रेपिड रिस्पांष टीम सक्रिय है। जिसमें आष्टा में 06 एस.आर.आर.टी, बुदनी में 07,इछावर 06,नसरूल्लागंज 5, श्यामपुर 05 तथा सीहोर शहरी क्षेत्र में 01 एस.आर.आर.टी.सक्रिय है।

कोविड-19 से निपटने शासकीय सेवक देंगे एक दिन का मूल वेतन

प्रदेश में कोविड-19 महामारी से निपटने में सहयोग के लिये राज्य शासन के अधिकारियों-कर्मचारियों के माह अप्रैल के वेतन से (मई माह में देय) एक दिन के मूल वेतन की राशि की कटौती की जायेगी। संचालक बजट ने यह जानकारी देते हुए बताया है कि प्रदेश को शासकीय सेवकों के संगठनों के आग्रह पर इस कटौती से मुख्यमंत्री सहायता कोष में लगभग 100 करोड़ रूपये की राशि प्राप्त होना संभावित है। बताया गया है कि जिन शासकीय सेवकों ने स्वेच्छा से मार्च माह के मासिक वेतन से आईएफएमआईएस के माध्यम से मुख्यमंत्री सहायता कोष में अंशदान दे दिया गया है, उनके अप्रैल माह के वेतन से कटौती नहीं की जायेगी। यदि कोई शासकीय सेवक एक दिन के मूल वेतन से अधिक या कम राशि की कटौती अथवा किन्हीं कारणों से असहमति व्यक्त करना चाहता है, तो संबंधित आहरण तथा संवितरण अधिकारी को 20 अप्रैल, 2020 तक लिखित में आवश्यक रूप से अवगत कराए। राज्य सरकार के सभी विभागाध्यक्षों, संभागायुक्तों और जिला कलेक्टरों से कहा गया है कि कटौत्रा राशि मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री सहायता कोष के भारतीय स्टेट बैंक, वल्लभ भवन शाखा, खाता क्रमांक 10078152483-आई.एफ.एस.सी.- SBIN0001056 में संचालित खाते में जमा किये जाने हेतु आवश्यक कार्यवाही की जाए।

कोई टिप्पणी नहीं: