हर दिन जरूरतमंदों के लिए बांटे जा रहें 300 पैकेट भोजन, स्वयंसेवी संस्था कर रही सहयोग - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 2 अप्रैल 2020

हर दिन जरूरतमंदों के लिए बांटे जा रहें 300 पैकेट भोजन, स्वयंसेवी संस्था कर रही सहयोग

कोरोना लॉकडाउन के दौरान कोई व्यक्ति भूखा न रहें, इसे लेकर सरकार के साथ-साथ कई स्वयंसेवी संस्था कार्य कर रही है. हर दिन स्लम बस्तियों में 300 पैकेट तैयार कर लोगों में वितरण किया जा रहा है. वहीं, संस्था के सदस्य ने कहा कि यह कार्यक्रम लॉकडाउन तक चलेगा.
social-worker-helping-people
जमशेदपुर (आर्यावर्त संवाददाता) : कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के उद्देश्य से सरकार ने 21 दिनों की लॉकडाउन की घोषणा की गई है. इस दौरान कोई भूखा न रहे इसके लिए सरकार के अलावे कई स्वयंसेवी संस्था कार्य कर रही है. इसी कम्र में वायस आॉफ ह्यूमिनीटी नाम के संस्था ने हर दिन खाधान्न सामग्री जरूरतमंदों के बीच वितरण किया जा रहा है. संस्था हर दिन तीन सौ से ज्यादा पकैट बनाया जा रहा है. जिसे संस्था के सदस्यों ने स्लम बस्तियों मे बांटा जा रहा हैं. इस खाद्यान्न सामग्री में चावल आटा, दाल, सरसों तेल है जो करीब 1 सप्ताह तक चार व्यक्तियों का परिवार इस्तेमाल कर सकता है. इस संबंध  में संस्था के सदस्य हरि सिंह राजपूत ने बताया कि उनके संस्था के सदस्य हर दिन सुबह एक स्थान पर जमा होते हैं. वहां पर सभी लोग खाद्य सामग्री की करीब 300 पैकेट तैयार करते हैं. जिसमें खाने वाले सभी वस्तुएं उपलब्ध रहती है. उसके बाद टीम स्लम बस्तियों में जाकर पैकेट का वितरण करते हैं. यह कार्य रोटेशन के आधार पर चलता है. बता दें कि यह काम पिछले 8 दिनों से लगातार उनके संस्था चला रही है. उन्होंने कहा कि यह खाद्यान्न सामग्री टीम के सारे सदस्य अपने पैसों से खरीदते हैं. हरि ने बताया कि यह कार्य लॉकडाउन के दौरान चलेगा ताकि कोई भी व्यक्ति भुखा न रहें.

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...