आईपीएल के लिए विंडो मिलेगी या इसे रद्द करना पड़ेगा - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 13 अप्रैल 2020

आईपीएल के लिए विंडो मिलेगी या इसे रद्द करना पड़ेगा

still-ipl-in-pendulam
नयी दिल्ली, 12 अप्रैल, भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने इंडियन प्रीमियर लीग आईपीएल के 13वें सत्र को लेकर अभी तक कोई फैसला नहीं किया है जबकि 15 अप्रैल की तारीख नजदीक आ रही है जब तक के लिए इसे स्थगित किया गया था। वैश्विक महामारी बन चुके कोरोना वायरस और देश भर में 14 अप्रैल तक लगे लॉकडाउन के कारण आईपीएल को 15 अप्रैल तक स्थगित कर दिया गया था लेकिन लॉकडाउन को आगे बढ़ाने की सम्भावना और कई राज्यों में इसे बढ़ाये जाने के कारण बीसीसीआई के पास इसे और आगे खिसकाए जाने या रद्द करने के अलावा कोई चारा नहीं है। महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल, तेलंगाना, ओड़िशा और पंजाब सरकार ने लॉकडाउन को 30 अप्रैल तक बढ़ाने का फैसला लिया है। इन राज्यों में से महाराष्ट्र गत चैंपियन मुंबई इंडियंस, पश्चिम बंगाल कोलकाता नाईट राइडर्स और पंजाब किंग्स इलेवन पंजाब के घरेलू स्थल हैं। चेन्नई सुपर किंग्स के घरेलू स्थल तमिलनाडु, दिल्ली कैपिटल्स के घरेलू स्थल दिल्ली और राजस्थान रॉयल्स के घरेलू स्थल राजस्थान में कोरोना को लेकर स्थिति काफी खराब है। बीसीसीआई के लिए इसे आगे कराने की संभावना के बीच नयी विंडो तलाशना काफी मुश्किल काम होगा। हालांकि बीसीसीआई के अध्यक्ष सौरभ गांगुली ने कहा है कि वह अन्य अधिकारियों के साथ के साथ बातचीत करने के बाद ही आईपीएल को लेकर कोई फैसला करेंगे। ज्यादा संभावना यही दिखाई दे रही है कि बीसीसीआई इसे टोक्यो ओलम्पिक की तरह अगले साल के लिए रद्द ही न कर दे। दुनिया भर में कोरोना के कारण जैसे हालात हैं उसके मद्देनजर सात सप्ताह के इस टी-20 टूर्नामेंट को पूरे स्वरुप में आगे करा पाना बहुत मुश्किल होगा क्योंकि अंतर्राष्ट्रीय कैलेंडर काफी व्यस्त है। इस समय दुनिया भर में क्रिकेट गतिविधियां ठप्प पड़ी हुई हैं और जब अंतर्राष्ट्रीय कैलेंडर फिर से शुरू होगा तो अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) और देशों की पहली प्रतिबद्धता अंतर्राष्ट्रीय मैचों को पूरा करने की होगी। बीसीसीआई को इस व्यस्त कैलेंडर में जगह निकालने के लिए या तो आईसीसी से आग्रह करना होगा या फिर टूर्नामेंट के आकार को छोटा करना होगा। आईपीएल फ्रैंचाइज़ी राजस्थान रॉयल्स के मालिक मनोज बदाले का भी मानना है कि इस बार टूर्नामेंट छोटे आकार में हो सकता है।

आईपीएल को 29 मार्च से शुरू होना था लेकिन कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए इसे 15 अप्रैल तक स्थगित कर दिया था। भारत में इस समय 21 दिन का लॉक डाउन लगा हुआ है जो 14 अप्रैल तक समाप्त होगा। इस बीच कोई विदेशी खिलाड़ी भारत नहीं आ सकता है और भारतीय खिलाड़ी भी देश में कहीं की यात्रा नहीं कर सकते हैं।कोरोना के चलते आईसीसी की टेस्ट चैंपियनशिप की सभी सीरीज स्थगित पड़ी हुई हैं। टेस्ट चैंपियनशिप जुलाई 2019 में शुरू हुई थी और इसका फाइनल जून 2021 में इंग्लैंड के लॉर्ड्स मैदान पर होना है। चैंपियनशिप की सीरीज को मार्च 2021 तक पूरा होना है और तालिका में दो शीर्ष टीमें फाइनल में भिड़ेंगी। हर सीरीज में अधिकतम 120 अंक दांव पर हैं और नौ टीमों को छह सीरीज (तीन घर पर और तीन विदेश में) खेलनी हैं। कुछ टीमें कई सीरीज खेल चुकी हैं जबकि कुछ टीमों ने शुरुआत करनी है। कई सीरीज इस वर्ष आगे होनी हैं। मार्च में श्रीलंका और इंग्लैंड को दो टेस्ट खेलने थे। जून में इंग्लैंड और वेस्ट इंडीज को तीन टेस्ट, जुलाई-अगस्त में इंग्लैंड और पाकिस्तान को तीन टेस्ट, जुलाई में वेस्ट इंडीज और दक्षिण अफ्रीका को दो टेस्ट, जुलाई में बंगलादेश और श्रीलंका को तीन टेस्ट, अगस्त में बंगलादेश और न्यूजीलैंड को दो टेस्ट, नवम्बर-दिसम्बर में न्यूजीलैंड और वेस्ट इंडीज को तीन टेस्ट, दिसम्बर-जनवरी में भारत और ऑस्ट्रेलिया को चार टेस्ट तथा दिसम्बर-जनवरी में न्यूजीलैंड और पाकिस्तान को दो टेस्ट खेलने हैं। आईपीएल में ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड, वेस्ट इंडीज, दक्षिण अफ्रीका, न्यूजीलैंड और श्रीलंका के खिलाड़ियों की संख्या ज्यादा है। पाकिस्तान के खिलाड़ी आईपीएल में नहीं खेलते हैं जबकि बंगलादेश के चुनींदा खिलाड़ी आईपीएल में खेलते हैं। इंग्लैंड में द हंड्रेड टूर्नामेंट 17 जुलाई से 15 अगस्त तक खेला जाना है जिसमें हर पारी में 100 गेंद फेंकी जाएंगी। इसका मैच लगभग तीन घंटे में पूरा हो जाएगा। इस साल का छह टीमों का एशिया कप सितम्बर में निर्धारित है और अक्टूबर में होने वाले टी-20 विश्व कप को देखते हुए यह टी-20 फॉर्मेट में खेला जाना है। टी-20 विश्व कप 18 अक्टूबर से 15 नवम्बर तक ऑस्ट्रेलिया में खेला जायेगा जिसमें 16 टीमें हिस्सा लेंगी। ऐसे व्यस्त कैलेंडर में आईपीएल के लिए जगह निकाल पाना काफी मुश्किल काम होगा। सबसे बड़ा सवाल तो विदेशी खिलाड़ियों की उपलब्धता को लेकर होगा। फ्रैंचाइज़ी टीमें आईपीएल में हर हाल में विदेशी खिलाड़ियों को चाहती हैं क्योंकि उनके बिना टूर्नामेंट का सारा आकर्षण समाप्त हो जाएगा। आईपीएल के लिए हालात नाजुक हैं और बीसीसीआई को जल्द कोई फैसला करना होगा ताकि इसे लेकर अनिश्चितिता समाप्त हो सके।

कोई टिप्पणी नहीं: