मधुबनी : सूड़ी समाज जयनगर के तरफ से 300 जरूरतमंद परिवारों को बांटा गया राशन - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 19 अप्रैल 2020

मधुबनी : सूड़ी समाज जयनगर के तरफ से 300 जरूरतमंद परिवारों को बांटा गया राशन

दो लाख रुपये भी प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री फण्ड में करवाये गए जमा।
suri-samaj-distribute-relief-jaynagar
जयनगर/मधुबनी (अनुराग कुमार) मधुबनी जिले के जयनगर में वैश्विक महामारी बन चुके कोविड-19 नोबल कोरोना वायरस के कारण हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के द्वारा पूरे देश मे सम्पूर्ण लॉक डाउन घोषित किया गया है। इस बाबत आवश्यक सेवाओं एवं इमरजेंसी सेवाओं को जारी रखने की केवल अनुमति मिली है। इस कारण गरीब, निर्धन एवं मजदूर वर्ग एवं रोजमर्रा के मजदूर एवं समाज के निचके तबके के लोगों के बीच काफी दिक्कतों का सामना कर रहे हैं। जानकारी देते हुए श्री विशम्भर पूर्वे ने बताया कि इसी के मद्देनजर पिछले दो दिनों से सूड़ी समाज जागृत होक इसका मुकाबले हेतु उन परिवारों के मदद के लिए प्रधानमंत्री राहत कोष एवं मुख्यमंत्री राहत कोष में क्रमशः एक-एक लाख रुपये जमा करवाये हैं। इसके अलावा 11.5किलोग्राम के अनाज के पैकेट का वितरण करने जा रहे हैं। इस पैकेट में आटा-4किलोग्राम, चावल-3किलोग्राम, दाल-1किलोग्राम, नमक-1किलोग्राम, तेल-500एमएल, आलू-2किलोग्राम सामाग्री है। इस सभी का पैकेट बना कर चिन्हित किये गए 300 परिवारों को प्रतिदिन 100 परिवारों के हिसाब से वितरण किया जाएगा। इस सामाग्री के पैकिंग में सूड़ी समाज के युवा वर्ग के दिनेश पूर्वे, विजय गांधी, पप्पू महासेठ, पप्पू कुमार, विजय कुमार एवं अन्य लोग सहयोग कर रहे हैं। इस कार्यक्रम में रामनारायण महासेठ, जगदीश महतो, सत्यनारायण महतो, डॉ० मुकेश महासेठ, डॉ० सुनील कुमार राउत, डॉ०शत्रुघ्न कारक, राजू पंजियार, उमेश नायक, कृष्णदेव पंजियार, ब्रहमदेव महतो, प्रवीर महासेठ, दीपक खर्गा एवं अन्य लोगों ने सहयोग किया है।  ये पूरी प्रक्रिया सूड़ी समाज के अभिवावक श्री बिशम्भर पूर्वे की देख-रेख में हो रहा है।

कोई टिप्पणी नहीं: