सरायकेलाः खरकाई नदी में डूबने से 2 नाबालिग छात्रों की मौत, बस्ती में छाया कोहराम - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 30 अप्रैल 2020

सरायकेलाः खरकाई नदी में डूबने से 2 नाबालिग छात्रों की मौत, बस्ती में छाया कोहराम

आज सुबह खरकाई नदी में डूबने से दो नाबालिग छात्रों की डूबने से मौत हो गई. लॉकडाउन के दौरान स्कूल बंद रहने के चलते तीन नाबालिग छात्र नदी में नहाने गए थे, जहां यह हादसा हुआ. 
two-studend-died-in-sarkai-river
सरायकेला (आर्यावर्त संवाददाता)  शहर में 2 नाबालिग छात्रों के नदी में डूबने की घटना सामने आई है. घटना के बाद वहां हड़कंप मच गया. मृतकों के परिजनों में कोहराम छा गया है. जानकारी के अनुसार जिले के आरआईटी क्षेत्र अंतर्गत बनता नगर के रहने वाले दो नाबालिग छात्रों की खरकाई नदी में डूबने से मौत हो गई. बताया जाता है कि लॉकडाउन के दौरान स्कूल बंद रहने के चलते तीन नाबालिग छात्र आज सुबह नदी में नहाने गए थे, जहां यह हादसा हुआ. इस  बीच एक छात्र बच गया ,जबकि 2 छात्र नदी में डूब गए. बाद में स्थानीय लोगों द्वारा मशक्कत कर छात्रों को नदी से निकाला गया लेकिन इलाज के क्रम में उनकी मौत हो गई. घटना गुरुवार सुबह 10:00 बजे की बताई जा रही है, जहां आरआईटी थाना क्षेत्र के बनता नगर बी जोन के रहने वाले 3 नाबालिग छात्रों ने नदी में नहाने की योजना बनायी, जिसके बाद तीनों छात्र नदी में नहाने चले गए. इधर नदी में नहाने के दौरान सबसे पहले 15 वर्षीय छात्र सागर महतो डूब गया, जिसके बाद उसे बचाने गए 16 वर्षीय सोनू कुमार का भी पैर फिसल गया और वह नदी के तेज धारा में डूब गया, जबकि तीसरा छात्र संजीव लोहार भी नदी में डूब गया था, लेकिन वह किसी तरह बचकर बाहर निकल गया. इसके बाद मौके पर मौजूद तीसरे छात्र संजीव लोहार ने आसपास के लोगों से मदद की गुहार लगाई, लेकिन नदी किनारे कोई मौजूद नहीं था. बाद में नदी के आसपास नहा रहे स्थानीय लोगों को जब इस बात की सूचना मिली तो वे डूबे छात्रों को बचाने नदी में कूदे. स्थानीय लोगों ने कड़ी मशक्कत कर एक-एक कर डूबे दोनों छात्र सागर महतो और सोनू कुमार को बाहर निकाला, जिसके बाद तत्काल इलाज के लिए स्थानीय नर्सिंग होम ले जाया गया, जहां से गंभीर अवस्था में डूबे दोनों छात्र को बेहतर इलाज के लिए जमशेदपुर के एमजीएम अस्पताल भेजा गया और वहां इलाज से पहले ही डॉक्टरों ने दोनों छात्रों को मृत घोषित कर दिया. घटना की सूचना मिलते ही मृत दोनों छात्रों के परिजन नदी की तरफ दौड़े. हालांकि जमशेदपुर के एमजीएम अस्पताल में इलाज से पूर्व ही छात्रों की मौत की सूचना मिलते ही परिजनों में शोक की लहर दौड़ पड़ी और स्थानीय बस्ती में कोहराम मच गया. बताया जाता है कि मृत 15 वर्षीय छात्र सोनू कुमार एसएन हाई स्कूल का छात्र है , जबकि सागर महतो नौवीं कक्षा में जमशेदपुर के रामकृष्ण मिशन स्कूल में पढ़ता है. बताया जाता है कि मृत छात्र सोनू कुमार को तैरना आता था, बावजूद इसके वह अपनी और अपने दोस्त की जान नहीं बचा सका. इधर मृत छात्र सोनू की मां जमुना बारिक ने बताया कि उसके बेटे ने बिना बताए ही दोस्तों के साथ नदी में नहाने की योजना बनायी, जिसके बाद या घटना घटित हुई है. मृतक की मां ने बताया कि उसके पिता गांव में है और फिलहाल उनकी देखभाल करने वाला भी कोई नहीं है. इधर मामले के बाद स्थानीय आरआईटी पुलिस ने मामला दर्ज कर मृत दोनों नाबालिग छात्रों के शव को पोस्टमार्टम में भेजे जाने की तैयारी की है.

कोई टिप्पणी नहीं: