विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 04 अप्रैल - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 4 अप्रैल 2020

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 04 अप्रैल

मेडीकल कॉलेज में भी कोरोना प्रभावितों का इलाज होगा कलेक्टर द्वारा शनिवार को पुनः जायजा लिया गया

vidisha news
कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने शनिवार को अटल बिहारी वाजपेयी स्वशासी मेडीकल कॉलेज के विभिन्न कक्षो, हालो का अवलोकन किया। उन्होंने बताया कि चिन्हित कक्षो का उपयोग कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्तियों के क्यूरेन्टाइन करने हेतु उपयोग किया जाएगा। पूर्व में इसके लिए एसएटीआई के हाल व कक्षो का भी चिन्हांकन भी किया गया था। जिसे रिजर्व में रखा गया है। कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने मीडियाकर्मीयों से चर्चा के दौरान बताया कि जिला चिकित्सालय से लगी हुई मेडीकल कॉलेज के भवनों, कक्षो का सदुपयोग अन्यत्र स्थलों से बेहतर होगा।  मेडीकल कॉलेज की द्वितीय व तृतीय मंजिल पर बुनियादी आवश्यकताओं की पूर्ति सुनिश्चित कराई गई है। कलेक्टर डॉ जैन ने कहा कि यदि पलंगों की आपूर्ति की यदि कही कोई अडचने आती है तो छात्रावासों के पलंगो का उपयोग किया जाएगा। उन्होंने बताया कि मेडीकल कॉलेज में करीबन छह सौ कोरोना से प्रभावित मरीजो के इलाज के प्रबंध सुनिश्चित किए गए है। यहां के लिए पृथक से चिकित्सीय व्यवस्थाओं के अंतर्गत डाक्टरों की ड्यूटी लगाने हेतु चिन्हांकन करने के निर्देश मेडीकल कॉलेज के डीन डॉ सुनील नंदेश्वर को दिए। वही मेडीकल कॉलेज के निर्माण कार्य को सम्पादित करने वाली ऐजेन्सी के ठेकेदार को अन्य बुनियादी चिन्हित आवश्यकताओं की पूर्ति दो दिवस के भीतर करने के निर्देश दिए गए है। कलेक्टर डॉ जैन ने कहा कि कोरोना वायरस के लॉकडाउन अवधि में द्वितीय फेस के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए उपरोक्त प्रबंध सुनिश्चित किए गए है। सबसे पहले मेडीकल कॉलेज को ध्यानगत रखते हुए प्रबंध यहां सुनिश्चित किए गए है। विदिशा में रोग से प्रभावितों मरीजो की संख्या अधिक होती है तो वैकल्पिक व्यवस्था के रूप में मेडीकल कॉलेज में चिकित्सीय सुविधाओ को लाने में ज्यादा सहूलियत होगी। कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने बताया कि मेडीकल कॉलेज के भूतल पर कार्यालयीन व्यवस्थाओं का संचालन किया जाएगा। जिसमें मरीजो के रिकार्ड संधारित करना इत्यादि शामिल है। भ्रमण के दौरान अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह, मेडीकल कॉलेज के डीन श्री सुनील नंदेश्वर, डिप्टी कलेक्टर श्री तन्मय वर्मा के अलावा अन्य चिकित्सकगण तथा निर्माण कार्य को सम्पादित करने वाली ऐजेन्सी के प्रतिनिधि मौजूद थे।  

जिले में 17568 होम क्यूरेन्टाइन 

कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए जिले में किए गए प्रबंधो की जानकारी देते हुए मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ केएस अहिरवार ने बताया कि शुक्रवार तीन अपै्रल तक जिले में 17568 को होम क्यूरेन्टाइन में रखा गया है। स्वास्थ्य विभाग के अमले द्वारा शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में सर्वे कार्य को मूर्तरूप दिया जा रहा है। ग्रामीण क्षेत्रों में सम्पन्न हुई उक्त कार्य के अंतर्गत 1175 ग्रामो में सर्वे कार्य पूर्ण हो चुका है। घर जाकर सम्पर्क किए गए मरीजों की कुल संख्या 20911 है। कुल मरीजो में विदेशो से लौटने वालो की संख्या 57 है। अन्य प्रदेशों से 2611 तथा अन्य जिलो से 14900 लौटकर विदिशा आएं है। इस प्रकार कुल 17568 मरीजो को होम क्यूरेन्टाइन के माध्यम से नजर रखी जा रही है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ अहिरवार ने बताया कि कुल होम क्यूरेन्टाइन में बुखार से पीड़ित 84, सर्दी, खांसी एवं बुखार से ग्रस्त 201 तथा सांस लेने में तकलीफ के तीन मरीज और सामान्य मरीजो की कुल संख्या 17280 है। 

टीम गठित

कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा नोबल कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए हर स्तर पर प्लान तैयार किया गया है वही उनके द्वारा वैकल्पिक व्यवस्थाओं को भी ध्यानगत रखते हुए जिले के लिए कंटेन्मेंट प्लान तैयार किया गया है। यदि जिले में कोई व्यक्ति कोरोना वायरस का पॉजिटिव मरीज पाया जाता है तो उपरोक्त प्लान के अनुसार कार्यो को मूर्तरूप दिया जाएगा। पॉजिटिव मरीज के निवास क्षेत्र की एक किलोमीटर रेडियस को पूर्णतः लॉकडाउन किया जाएगा और उस क्षेत्र में आवश्यक वस्तु सामग्री की आपूर्ति, प्रशासनिक तौर पर अधिकृत किए गए अधिकारियों, कर्मचारियों के द्वारा डोर-टू-डोर की जाएगी। एक किलोमीटर की परिधि का मेप तैयार करने हेतु टीम गठित की गई है तदानुसार विदिशा नगरीय क्षेत्र के लिए तहसीलदार श्रीमती सरोज अग्निवंशी, जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ डीके शर्मा व जिला मलेरिया अधिकारी वीएम बरूण को शामिल किया गया है। इसी प्रकार कंटेन्मेंट जोन के डिस्फेक्ट एवं सेनेटाइज के लिए भी टीम गठित की गई है जिसमें नगरपालिका के राजस्व निरीक्षक श्री हरीश सोनी टीम के नोडल होंगे। उक्त टीम में निकाय के अन्य अधिकारियों, कर्मचारियों को भी शामिल किया गया है। कंटेन्मेंट प्लान के तहत छह जोन बनाए गए है और प्लान का नोडल अधिकारी विदिशा एसडीएम श्री संजय जैन को नियुक्त किया गया है। कंटेन्मेंट प्लान के तहत बनाए गए जोन तदानुसार मेप तैयार करना, मरीजो के निकासी एवं प्रवेश द्वार के नियंत्रण व्यवस्था, डिस्न्फेक्ट एवं सेनेटाइजर, कोरोना पाजिटिव मरीज के कांन्टेक्ट ट्रेसिंग, घर घर सर्वे दल, तथा स्क्रीनिंग एवं सेम्पल कलेक्शन के लिए मेडीकल चिकित्सा टीम का गठन कर नाम दर्ज जवाबदेंही सौंपी गई है। नोडल अधिकारी अपने क्षेत्र की समस्त टीमों से समन्वय स्थापित कर प्रतिदिन कार्यवाही सम्पादित करेंगे तथा प्रतिवेदन जिला कार्यालय को उपलब्ध कराएंगे। 

मेडीकल स्टोर, छह अपै्रल की रात्रि नौ बजे तक खोलने की अनुमति

कोरोना वायरस से बचाव एवं रोकथाम के लिए  सम्पूर्ण भारत में लॉकडाउन घोषित किया गया है लॉकडाउन अवधि में विभिन्न रोगो से ग्रस्त मरीजो को दवाईयां सुगमता से उपलब्ध हो सकें इसके लिए जिला मुख्यालय की 15 मेडीकल स्टोरो को रात्रि नौ बजे तक चार से छह अपै्रल की अवधि में खोले जाने की अनुमति जारी की गई है। विदिशा अनुविभागीय दण्डाधिकारी के द्वारा जारी उक्त आदेश अनुसार तुलसी मेडीकल स्टोर लोहाबाजार, कटारे मेडीकल कागदीपुरा, रघुवंश मेडीकोज नीमताल, श्री बालाजी मेडीकल अस्पताल रोड़, गरिमा मेडीकल अस्पताल रोड़, रघुनाथ मेडीकल पीतलमील चौराहा, गुरू मेडीकल किरी मोहल्ला, दिव्य मेडीकल सांची रोड़, संजय मेडीकल बरईपुरा चौराहा, चित्रांश मेडीकल दुर्गानगर, महेश्वरी मेडीकल तिलक चौक, अनन्या मेडीकल बडजात्या स्कूल के पास, मात्रिका मेडीकल ओव्हर ब्रिज के नीचे, प्रधानमंत्री जन औषधी दुर्गानगर रोड तथा सांई सिद्वि डंडापुरा रोड शामिल है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...